अपनों की जासूसी में लगी अखिलेश सरकार

Aligarh Updated Tue, 30 Oct 2012 12:00 PM IST
अलीगढ़। प्रदेश स्तरीय पदाधिकारी, जिला स्तरीय नेता हों या फिर चुनाव जीत कर आये विधायक। आलाकमान के पास लगातार पहुंच रहीं शिकायतों से सपा की सरकार बेचैन हो गई है। उलझन यहां तक बढ़ गई है कि अब सरकार अपने ही नेताओं की जासूसी में लग गई है। प्रदेश सरकार ने अपने खुफिया तंत्र के सहारे अपने ही नेताओं का फीडबैक जुटाना शुरू कर दिया है। यह खुफिया जांच काली कमाई को भी उजागर करेगी। इसके अलावा पार्टी की छवि को साफ सुथरा बनाये रखने के लिए अपराधियों से साठगांठ पर फोकस किया गया है। इधर, सात नवंबर के बाद किसी भी छापामारी कर विकास कार्यों का जायजा लेने का सीएम का ऐलान भी राजनीतिक और प्रशासनिक बेचैनी बढ़ा रहा है। सीएम कब कहां आएंगे यह अब तक घोषित नहीं हुआ है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

चमत्कार : शिवलिंग हटाने की कोशिश की तो निकले सैकड़ों सांप

भारत को आस्था और चमत्कारों का देश क्यों कहते हैं उसका एक वीडियो हम आज आपको दिखाने जा रहे हैं। वीडियो यूपी के हाथरस का है जहां एक पुराने शिव मंदिर के जीर्णोद्धार का काम चल रहा था। अचानक कुछ ऐसा हुआ जिसने सबको अपनी ओर खींच लिया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls