कुख्यात समीर जाट ग्वालियर पुलिस ने दबोचा

Aligarh Updated Sun, 26 Aug 2012 12:00 PM IST
अलीगढ़। मध्य प्रदेश में ग्वालियर से लेकर दतिया और झांसी तक पुलिस की आंखों की किरकिरी बना इगलास का शॉर्प शूटर समीर जाट उर्फ अरुण चौधरी अपने साथी संग ग्वालियर पुलिस के हत्थे चढ़ गया। शनिवार को दिनदहाड़े पांच-पांच हजार के दोनों इनामियों की गिरफ्तारी पर ग्वालियर पुलिस और मध्य प्रदेश एसटीएफ की बड़ी सफलता मानी जा रही है। मगर इस दौरान इस गिरोह का सरगना सरदार सिंह गुर्जर पुलिस के हाथ से निकल गया। बता दें कि गिरफ्तार समीर पर क्वारसी में भी अपहरण के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज है।
बदले की भावना ने बनाया अपराधीमूल रूप से इगलास के गांव नगला पतेला निवासी अरुण चौधरी उर्फ समीर के पिता महाराणा प्रताप यूपी पुलिस में दरोगा के पद पर तैनात थे। 2002-03 में पिता की हत्या के बाद समीर जरायम दुनिया में कूद पड़ा और उसके संपर्क ग्वालियर के बदमाशों से हो गए। हालांकि उसने कुछ समय बाद अपने पिता की हत्या का बदला लेते हुए नोएडा के एक व्यक्ति को अगवा कर क्वारसी क्षेत्र में मौत के घाट उतार दिया था। उस समय क्वारसी पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। इस दौरान मृतक आश्रित के रूप में समीर की बहन को उसके पिता के बदले यूपी पुलिस में ही दरोगा पद पर नौकरी मिल गई। मगर यहां से छूटने के बाद समीर ने ग्वालियर को अपना जरायम केंद्र बना लिया। इसी बीच उसका करीबी अकराबाद के गांव मोहनपुर का बृजेंद्र जाट पुत्र चंद्रभान भी समीर के संग रहने लगा।
ऐसे हुई गिरफ्तारी
ग्वालियर में वहां के पुलिस अधीक्षक जीके पाठक और एएसपी वीरेंद्र जैन ने पत्रकारों को बताया कि एसटीएफ व पुलिस के संयुक्त आपरेशन के दौरान खबर लगी कि दतिया जिले के व्यापारी राजेंद्र अग्रवाल के अपहरणकांड का मुख्य आरोपी सरदार सिंह गुर्जर और शूटर समीर अपने साथियों संग जीप में सवार होकर शहर के सिटी सेंटर इलाके में आने वाला है। इस सूचना पर दोनों को विश्वविद्यालय इलाके में गुलमोहर सिटी के पास दबोच लिया। इस दौरान सरदार सिंह व तीन साथी तो भाग गए, जबकि समीर के संग बृजेंद्र हत्थे चढ़ गया। दोनों के कब्जे से एक जीप, दो मोबाइल, दो हैंड ग्रेनेड, दो लोडेड नाइन एमएम पिस्टल और कारतूस बरामद किए हैं।
जरायम इतिहास
एसपी के अनुसार दोनों पांच-पांच हजार के इनामी हैं। समीर पर हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण, लूट के अनेक मुकदमे हैं। समीर पर ग्वालियर में नामचीन रमन तिवारी, सुधीर सिंह यादव तथा भगवान दास कमरिया की हत्या के भी आरोप हैं। पिछले दिनों उसने दतिया में सर्राफा व्यवसायी राजेन्द्र अग्रवाल का अपहरण भी सरदार सिंह गुर्जर के साथ किया था। समीर ने स्वीकारा है कि अग्रवाल के अपहरण के समय सरदार सिंह ने उसे ग्वालियर के ओहदपुर निवासी साहब सिंह गुर्जर से मिलवाया था। इसके बाद से वह साहब सिंह के इशारे पर ग्वालियर में जमीनों के अवैध कारोबार के लिए संबंधित लोगों को डराने धमकाने लगा था।

Spotlight

Most Read

Jammu

पाकिस्तान ने बॉर्डर से सटी सारी चौकियों को बनाया निशाना, 2 नागरिकों की मौत

बॉर्डर पर पाकिस्तान ने एक बार फिर से नापाक हरकत की है। जम्मू-कश्मीर में आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

चमत्कार : शिवलिंग हटाने की कोशिश की तो निकले सैकड़ों सांप

भारत को आस्था और चमत्कारों का देश क्यों कहते हैं उसका एक वीडियो हम आज आपको दिखाने जा रहे हैं। वीडियो यूपी के हाथरस का है जहां एक पुराने शिव मंदिर के जीर्णोद्धार का काम चल रहा था। अचानक कुछ ऐसा हुआ जिसने सबको अपनी ओर खींच लिया।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper