18 तकनीकी सहायकों के साथ सोशल ऑडीटर बर्खास्त

Aligarh Updated Mon, 16 Jul 2012 12:00 PM IST
अलीगढ़। मनरेगा में होने वाला काम इस बार 45 फीसदी भी पूरा नहीं हो सका है। अब गाज बीडीओ पर गिराने की तैयारी हो रही है। मनरेगा में नियम के अनुसार 5 लाख 60 हजार मानव दिवस कार्य होने चाहिए लेकिन इसके अनुपात में 2 लाख 60 हजार मानव दिवस कार्य ही हुआ है। इसी तरह से 11 करोड़ के सापेक्ष पांच करोड़ 16 लाख रुपये खर्च हुए। दोनों आंकड़ों के अनुसार तकरीबन 45 प्रतिशत का खर्च इस बार कम हुआ है। मनरेगा में काम कम होने के कारण मानदेय पर रखे गये कर्मचारियों में भी कटौती कर दी गई है। 18 तकनीकी सहायकों के साथ सोशल आडीटर गाेंडा को बर्खास्त कर दिया गया है। इसके साथ ही सीडीओ शमीम अहमद ने बताया कि बीडीओ को भी चेतावनी दी गई है कि जिसके कार्यक्षेत्र में कम काम होने पर प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाएगी। यही नहीं संबंधित गांवों के प्रधान की पॉवर भी सीज होगी और सचिवों का निलंबन होगा। गौर हो कि मनरेगा के तहत होने वाले कार्यो को लेकर लगातार चेकिंग प्वाइंट बढ़ते जाने से निचले स्तर पर कर्मचारी और गांव प्रधान इस काम से हाथ खींच रहे हैं। सरकारी विभाग भी मनरेगा के मद से होने वाले कामों से बच रहे हैं। इसलिए प्रशासन ने मनरेगा को रफ्तार देने के लिए बीडीओ और ग्राम प्रधानों पर शिंकजा कसना शुरू कर दिया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

चमत्कार : शिवलिंग हटाने की कोशिश की तो निकले सैकड़ों सांप

भारत को आस्था और चमत्कारों का देश क्यों कहते हैं उसका एक वीडियो हम आज आपको दिखाने जा रहे हैं। वीडियो यूपी के हाथरस का है जहां एक पुराने शिव मंदिर के जीर्णोद्धार का काम चल रहा था। अचानक कुछ ऐसा हुआ जिसने सबको अपनी ओर खींच लिया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls