इनकी लेखनी ने धधकाया था आजाद का सीना

Agra Updated Sat, 15 Dec 2012 05:30 AM IST
आगरा। क्रांति की आग उगलती इनकी लेखनी ने चंद्रशेखर आजाद और भगत सिंह के सीने को धधकाया था। इसके बाद दोनों क्रांति के समर में कूद पड़े। क्रांतिकारियों के राजनीतिक गुरु कहे जाने वाले राधा मोहन गोकुल कुछ साल तक बेलनगंज में अपने चाचा के पास रहे। सांडर्स की हत्या होने के बाद पुलिस ने इनका घर घेर लिया था।
इलाहाबाद के भदरी में जन्मे राधा मोहन गोकुल पढ़ाई करने के लिये अपने चाचा के पास बेलनगंज आ गये थे। उनके रिश्तेदार प्रकाश अग्रवाल ने बताया कि राधा मोहन गोकुल हमारे बाबा के बड़े भाई थे। बचपन में बाबा से उनके किस्से सुनते आए हैं। बड़ा जुझारू व्यक्तित्व था उनका। लाला लाजपत राय उनके दोस्त थे। उनकी गिरफ्तारी होने पर उन्होंने कहा था कि जिसने ये किया है, बचेगा नहीं। सांडर्स का मर्डर होने पर पुलिस ने हमारा घर घेर लिया लेकिन उस वक्त वह यहां नहीं थे।
प्रकाश अग्रवाल बताते हैं कि प्रताप नारायण मिश्र के संपर्क में बाबा ने लिखना प्रारंभ किया। उनके लेखन में सामाजिक, राजनीतिक आर्थिक सरोकारों को महत्व दिया गया। शहीद भगत सिंह से आजाद का परिचय राधा मोहन जी ने ही कराया था। कानपुर में हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन पार्टी की स्थापना के वक्त वह भी मौजूद थे। अपनी लेखनी से वह आजादी की लड़ाई को धार देते रहे। आर्य समाज के प्रवचनों की आड़ में सभाएं करते थे। कई बार जेल भी गये। देश के सभी क्रांतिकारी इनसे मार्गदर्शन लेते थे। बाबा जिंदगी भर देश के लिये समर्पित रहे।

जन्म दिवस पर होगा अप्राप्य रचनाओं का विमोचन
आगरा। राधा मोहन गोकुल के जन्म दिवस पर उनकी अप्राप्य रचनाओं का विमोचन आज दोपहर 2 बजे नागरी प्रचारिणी के मानस सभागार में होगा। यह आयोजन सरदार भगत सिंह शहीद स्मारक समिति द्वारा किया जा रहा है।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: ‘पद्मावत’ पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सख्ती का असर दिख रहा है!

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद ‘पद्मावत’ पर हो- हल्ला हो रहा है। ऐसे ही विरोध की तस्वीरें दिखाई दी हैं उत्तर प्रदेश के आगरा,सहारनपुर और हापुड़ में जहां पद्मावत का जबरदस्त विरोध हुआ।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper