सत्ता की धमक में 40 हजार फुंके

Agra Updated Sun, 11 Nov 2012 12:00 PM IST
आगरा। सत्ता की धमक में प्रशासन के 40 हजार फुंक गए हैं। कोठी मीनाबाजार में आतिशबाजी की दुकान लगाने के लिए अधिक जमीन लेने वाले ठेकेदार ने सरेंडर का नोटिस दे दिया है। अब यहां केवल एक ठेकेदार की दुकानें लगेंगी। इससे प्रशासन को 80 हजार की जगह केवल 40 हजार रुपये ही मिलेंगे। हालांकि यहां 100 दुकान लगाने की अनुमति है।
कोठी मीना बाजार पर लगी आतिशबाजी की दुकानें लगाने के लिए पहले आवेदक को 80 हजार रुपये में जमीन दे दी गई। फिर तीन अन्य ने आवेदन किया। सूत्रों की मानें तो इसके बाद सत्ता से जुड़े लोगों की सिफारिशें शुरू हो गई। यहां सौ दुकानें ही लगाने की जगह थी लेकिन तीन अन्य आवेदकों को पांच-पांच हजार वर्ग मीटर जमीन दे दी गई। इसके बाद लखनऊ तक पहुंच वालों ने दबाव बनाया और दो मैदान से हट गए। दुकानें लगाने का विवाद यहां तक पहुंच गया था कि प्रशासन को पैमाइश कराने के लिए नायब तहसीलदार भेजना पड़ा था। अब 80 हजार रुपये जमा कराने वाले पीयूष वशिष्ठ ने शनिवार को एडीएम वित्त को सरेंडर लेटर दे दिया है। अब प्रशासन को दुकानें लगाने के लिए जमीन देने का 40 हजार रुपये ही मिल पाएंगे जबकि अब भी 100 दुकानें लगाने की अनुमति है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ‘पद्मावत’ पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सख्ती का असर दिख रहा है!

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद ‘पद्मावत’ पर हो- हल्ला हो रहा है। ऐसे ही विरोध की तस्वीरें दिखाई दी हैं उत्तर प्रदेश के आगरा,सहारनपुर और हापुड़ में जहां पद्मावत का जबरदस्त विरोध हुआ।

23 जनवरी 2018