आग बुझाकर पुलिस ने हवालात में किया बंद, की पिटाई

Agra Updated Wed, 31 Oct 2012 12:00 PM IST
अछनेरा। पुलिस की कार्यप्रणाली से क्षुब्ध खराद मिस्त्री और उसके पुत्र ने मंगलवार रात अछनेरा थाने में आग लगा ली। पुलिस ने आग बुझाकर दोनों को हवालात में डाल दिया। इसके बाद थानेदार के एक प्राइवेट ड्राइवर ने मिस्त्री को बुरी तरह पीटा। घटना की जानकारी पर पहुंचे लोगों ने थाने पर जमकर हंगामा किया। बावजूद इसके पुलिस का कोई बड़ा अधिकारी नहीं पहुंचा। मीडियाकर्मियों से भी अभद्रता की गई।
अछनेरा के गुलाब नगर निवासी हसन अली उर्फ पप्पू की भरतपुर रोड पर खराद की दुकान है। उसकी दुकान पर तकरीबन एक माह पूर्व अरदाया निवासी गोविंदा ने अपने साथियों के साथ कब्जा कर लिया था। पीड़ित ने थाना पुलिस से गुहार लगाई, लेकिन उसे भगा दिया गया। नौ अक्टूबर को एसडीएम ने पुलिस को रिपोर्ट दर्ज कर दुकान से कब्जा मुक्त कराने के निर्देश दिए, लेकिन पुलिस ने इस आदेश को भी नहीं माना। इसके बाद पीड़ित ने एसएसपी से फरियाद की। 25 अक्टूबर को पुलिस ने गोविंदा और उसके दो भाइयों समेत सात आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया, लेकिन गिरफ्तारी नहीं की। इससे क्षुब्ध हसन अली मंगलवार रात तकरीबन नौ बजे थाने पहुंचा और एसओ के कार्यालय के बाहर खुद पर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा ली। इससे मौजूद पुलिसकर्मियों में खलबली मच गई। सिपाहियों ने आग बुझाई और उसे हवालात में बंद कर दिया। इसके बाद वहां पहुंचे मिस्त्री के पुत्र फिरोज ने भी आग लगाने की कोशिश की तो पुलिसकर्मियों ने उसे भी हवालात में डाल दिया। फिर थानेदार के प्राइवेट ड्राइवर ने उसे बुरी तरह पीटा। सूचना मिलते ही लोगों ने थाने पहुंचकर हंगामा किया। इसके बाद पहुंचे मीडियाकर्मियों से भी अभद्रता की गई। इस घटना के बावजूद पुलिस का कोई बड़ा अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा।

इनसेट बाक्स....
अछनेरा पुलिस के लिए मायने नहीं रखते आदेश
अछनेरा। डीजीपी और प्रमुख सचिव गृह के स्पष्ट निर्देश हैं कि पुलिस पीड़ितों का मुकदमा दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करे, लेकिन ये आदेश अछनेरा पुलिस के लिए मायने नहीं रखते। अपनी दुकान से कब्जा हटवाने की कई बार गुहार लगाने के बावजूद पुलिस ने मुकदमा दर्ज करना तक मुनासिब नहीं समझा। एसडीएम के आदेश की भी परवाह नहीं की। एसएसपी के आदेश पर रिपोर्ट लिखी लेकिन आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की। ऐसे में पुलिस से न्याय की उम्मीद बेमानी है।

Spotlight

Most Read

National

मौजूदा हवा सेहत के लिए सही है या नहीं, जान सकेंगे आप

दिल्ली के फिलहाल 50 ट्रैफिक सिग्नल पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) डिस्पले वाले एलईडी पैनल पर यह जानकारी प्रदर्शित किए जाने की कवायद हो रही है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

मथुरा में पुलिस की गोली लगने से हुई थी नाबालिग की मौत, पुलिस ने कुबूला

मथुरा के मोहनपुर अडूकी गांव में हुई बच्चे की मौत में पुलिस ने लापरवाही की बात मानी है। मथुरा पुलिस के आला अधिकारियों ने माना की दबिश के दौरान फायरिंग में बच्चे की मौत पुलिस की गोली लगने से हुई।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper