‘ख्वाब’ से मीलों दूर ‘मंजिल’

Agra Updated Tue, 23 Oct 2012 12:00 PM IST
आगरा/बाह। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई का ‘ड्रीम प्रोजेक्ट’ बटेश्वर रेल लाइन मंजिल से अभी कोसों दूर है। केंद्र सरकार की राजनीति में परियोजना का दम इस कदर घुटा है कि अप्रैल, 1999 में शिलान्यास के 14 साल बाद महज 75 फीसदी काम ही पूरा हुआ। वहीं, परियोजना को पूरा करने का लक्ष्य मार्च, 2013 है।
तत्कालीन भाजपाई प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई ने छह अप्रैल, 1999 को आगरा से इटावा वाया बटेश्वर रेल लाइन का शिलान्यास किया था। 2007-2008 में पैसे का गतिरोध झेलने वाली योजना का शुरुआती लक्ष्य 250 करोड़ रुपये से बढ़कर 427 करोड़ रुपये हो गया है। कुल 114 किमी लंबी रेल लाइन का काम 14 साल बाद भी महज 75 फीसदी ही पूरा हो पाया है। भांडई से बाह तक 77 किलोमीटर लाइन बन चुकी है, जबकि अभी 37 किलोमीटर बननी शेष है। यदि यही हाल रहा तो परियोजना अगले तीन-चार साल में भी पूरी होती नहीं दिख रही।
‘राजनीति’ में उलझी रेल लाइन
रेल लाइन का सपना भाजपा सरकार की देन है। जबकि पिछले सात सालों से केंद्र में कांग्रेस की सरकार है। सूत्रों का कहना है कि परियोजना पूरी करने के लिए टालमटोल का रवैया अपनाया जा रहा है। कभी बजट, कभी भू-अधिग्रहण और कभी अधिकारियों की मनमानी लेट-लतीफी की मुख्य वजह है। इसका ताजा उदाहरण बाह तहसील के आधा दर्जन गांवों का भू-अर्जन प्रस्ताव है, जो राजस्व परिषद, लखनऊ में फंस गया। इसके कारण अधिसूचना जारी नहीं हो सकी। वहीं गांव एमनपुरा का भूमि अर्जन प्रस्ताव तो दो माह बाद का समय बीतने के बाद भी राजस्व परिषद तक नहीं पहुंचा है।


डीएम को लिखा गया है पत्र
उत्तर मध्य रेलवे की निर्माण शाखा के उप मुख्य अभियंता वीके सिंह ने जिलाधिकारी अजय चौहान को करीब 10 दिन पहले ही पत्र लिखा है। उन्होंने डीएम से भू अर्जन का प्रस्ताव की कमियां दूर कर फिर से प्रस्ताव भेजने की मांग की है। वहीं एडीएम (प्रशासन), एडीएम (भूअध्यापति) और एसडीएम बाह को इस संबंध में निर्देश जारी किए गए हैं।

राजस्व परिषद द्वारा लौटाए गए प्रस्ताव को नए सिरे से तैयार कराया जा रहा है। जल्द ही इसे राजस्व परिषद के पास अधिसूचना के लिए भेज दिया जाएगा।
रामजीलाल, एसडीएम बाह

Spotlight

Most Read

Hapur

अब जिले में नहीं कटेंगे बूढ़े हो चुके फलदार वृक्ष

अब जिले में नहीं कटेंगे बूढ़े हो चुके फलदार वृक्ष

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ब्रज में यूं हुआ वसंत पंचमी से रंगोत्सव का आगाज

दुनियाभर में होली भले ही एक दिन का त्योहार हो लेकिन भगवान श्रीकृष्णश की ब्रजभूमि में यह उत्सव 40 दिन तक मनाया जाता है। होली के इस खास उत्सव की शुरुआत वसंत पंचमी के दिन से ही होती है।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper