हे भगवान! तुमने किस जन्म का बदला लिया

Agra Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
आगरा। हर तरफ चीखने-चिल्लाने की आवाज। महिलाओं का करुण क्रंदन। बार-बार बेसुध होती मां और बहन। गम में बेहाल पिता की आंखे हालात बयां कर रही थीं। दुखों का पहाड़ टूटने के बाद परिवार ने शनिवार की रात सेवला के आशीष पब्लिक स्कूल में काटी। बृजमोहन की 32 साल की मेहनत पलक झपकते ही उजड़ चुकी है। अब उनके सामने परिजनों के पालन-पोषण का संकट है।
घर में आग लगने से 10 लोगों के जिंदा जलने के बाद सड़क पर आया परिवार गहरे सदमे में है। दो जवान बेटों, दो बहुओं और छह नाती-नातिनी को खोने वाले बृजमोहन अग्रवाल की आंखों से बात शुरू होने से पहले ही अश्रुधारा फूट पड़ती है। रविवार को रोते हुए वे बोले, हे भगवान! तूने हमसे किस जन्म का बदला लिया है। महज 20 मिनट में ही परिवार को खत्म कर दिया लेकिन मुझे जिंदा क्यूं छोड़ा। इस बुढ़ापे में अब यह गम बर्दाश्त नहीं होता। बोले, घर को बहुओं ने स्वर्ग बना दिया था। खाना सबसे पहले मुझे ही मिलता था। पुत्रवधु शारदा और ममता अपना दुख दर्द छिपाकर उन्हें कभी अहसास नहीं होने देती थीं। अब बुढ़ापा कैसे कटेगा।
मां-बहन बेसुध, कई बार हुईं बेहोश
दुखों का पहाड़ टूटने के बाद मां विद्यादेवी, बहन सुनीता का बहुत बुरा हाल है। मां विद्यादेवी के रोते-रोते दांत भिंच जाते हैं। बहन सुनीता जरा सी देर मेें बेहोश होे जाती है। रविवार को भी दोनों कई बार बेहोश हुईं। आस-पास मौजूद महिलाओं ने उन्हें संभाला।
दूसरी मंजिल से गिर रहे थे शोले
आगरा। परिवार के 10 लोगोें को मुखाग्नि देने वाले पवन अग्रवाल ने बताया कि रात तकरीबन 1.30-2.00 बजे वह उठा तो कमरे के सामने दूसरी मंजिल से शोले गिर रहे थे। इस पर उसने ऊपर देखा तो लपटें दोनों कमरों को बुरी तरह चपेट मेें ले चुकी थीं। सीढ़ी के सहारे जैसे ही वह ऊपर चढ़ता, एकाएक उसके समीप छत से पत्थर गिर पड़े। इसके बाद उसने ऊपर चढ़ने के काफी प्रयास किए लेकिन आग की भयावहता ने उन्हें आगे न बढ़ने दिया।
क्या होगा परिवार का?
रविवार को सेवला में हर गली-नुक्कड़ ओर मोड़ पर लोगों की जुबां पर एक ही बात की चर्चा थी। बृजमोहन के परिवार का अब क्या होगा? कहां रहेंगे परिजन? और उनका भरण-पोषण कैसे होगा।
राजनीतिक पार्टियों के लोगों ने दी सांत्वना
राजनीतिक दलों के लोगों ने भी पहुंचकर पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की। सांसद सीमा उपाध्याय, विधायक गुटियारी लाल दुबेश ने शासन स्तर से विशेष मदद दिलाने का आश्वासन दिया है। भाजपा प्रदेश संगठन के महामंत्री राकेश जैन, विधायक जगन प्रसाद गर्ग, योगेंद्र उपाध्याय, पुरुषोत्तम खंडेलवाल, गामा दुबे, राघवेंद्र, डा. जीएस धर्मेश, पार्षद, राजेंद्र सिंह, पूर्व सांसद प्रभुदयाल कठेरिया, पूर्व मंत्री नारायण सिंह सुमन, वीरू सुमन, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिनेश बाबू शर्मा, मुरारीलाल फतेहपुरिया, रामटंडन, अछनेरा के मुरारीलाल अग्रवाल, पूर्व मेयर अंजुला सिंह माहौर ने पीड़ित परिवार को सांत्वना दी।


परिजनों की मदद को आगे आया अग्रवाल समाज
जिला पूर्ति अधिकारी ने कराई राशनिंग की व्यवस्था
पीड़ित परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी दिलाने की मांग

आगरा। सेवला में ध्वस्त हुए मकान के बाद बाकी बचे परिवारीजन दाने-दाने को मोहताज हो गए हैं। उनके पास न पहनने को कपड़े हैं और न रहने को आशियाना। ऐसी दुख की घड़ी में अग्रवाल समाज एकजुट होकर सामने आया है। पीड़ित परिजवारीजनों को सिर छिपाने को मकान तथा कपड़ों की व्यवस्था की गई है। उधर, जिला पूर्ति अधिकारी ने रविवार को पहुंचकर उनके लिए राशनिंग की व्यवस्था की।
भयंकर अग्निकांड के बाद पीड़ित परिवार के पास पहनने को एक कपड़ा भी नहीं बचा है। सिर से छत भी उठ चुकी है। ऐसे में अग्रवाल समाज ने उनके लिए बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था जुटाई। समीप रहने वाले त्रिलोक चंद्र अग्रवाल ने अपने घर में सेपरेट पोर्शन उन्हें दे दिया है। अग्रवाल समाज ने शीघ्र उन्हें अन्य जरूरती चीजोें की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया। समाज के महामंत्री भगवान दास बंसल ने कहा कि खाद्य सामग्री मंगाई जा रही है। उन्होंने मांग उठाई है कि मृतक के एक परिजन को सरकारी नौकरी दी जाए। वहीं संगठन के पवन बंसल ने बताया कि एमएलसी रामसकल गुर्जर से वार्ता हुई है। उन्होंने मुख्यमंत्री राहत कोष से आर्थिक सहायता का आश्वासन दिया है।
वहीं जिला पूर्ति अधिकारी अरुण कुमार श्रीवास्तव, सप्लाई इंस्पेक्टर देवेंद्र गोयल, बाबूलाल जैन, बिदेश चंद्र अग्रवाल ने परिवारीजनों के लिए राशनिंग की व्यवस्था की है। उनके लिए 50 किग्रा आटा, 25 किग्रा चावल, 10 किग्रा दाल, 20 किग्रा आलू, देशीघी, मसाला, रिफाइंड, रिफिल गैस आदि पहुंचा दिए हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह कल संभालेंगे यूपी के डीजीपी का पदभार, केंद्र ने किया रिलीव

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह को रिलीव करने की आधिकारिक घोषणा रविवार को हो गई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

दिल्ली से आगरा जा रही ट्रेन का हादसा, तेज आवाज के बाद उड़ी चिनगारियां

रेलवे हादसों का सिलसिला लगातार चलता आ रहा है। शनिवार रात करीब साढ़े दस बजे दिल्ली से आगरा जा रही गोंडवाना एक्सप्रेस डिरेल हो गई।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper