विज्ञापन
विज्ञापन

महंगाई का उफान, थामी तूफान

Agra Updated Sat, 15 Sep 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
महंगाई कमर तोड़ने के बाद अब निवाले का संकट बनने चली तो रसोई से लेकर सड़क तक उबाल शुरू हो गया। मद दर मद महंगाई के उफान से आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ताओं ने तूफान एक्सप्रेस को रोक कर प्रदर्शन किया तो सपा ने पुतले फूंक संदेश दिया कि कीमत कम करनी ही होगी। रसोई से लेकर सड़क तक महंगाई के इस उफान के विरोध में महिलाएं भी उतरीं और विरोध किया। व्यापारियों ने अर्थी निकाली, रस्सी से ट्रैक्टर खींच कर किसानों का दर्द दिखाया तो ट्रांसपोर्टर्स ने 17 सितंबर तक कीमत रोल बैक नहीं होने पर चक्का जाम करने की चेतावनी दे डाली। गुस्सा डीजल और रसोई गैस को लेकर तो था ही साथ ही विद्युत कर, रोडवेज बसों का किराया बढ़ाए जाने की तैयारी से भी आक्रोश था। डीजल पांच रुपए महंगा होने से हर सामान महंगा होगा तो सब्सिडाइज एलपीजी का कोटा कम किए जाने से रसोई में महंगाई का छौंक तीखा हो गया।
विज्ञापन
विज्ञापन
सड़क पर उतरी भाजपा, रेल रोकी
डीजल मूल्य वृद्धि पर सांसद के नेतृत्व में प्रदर्शन

आगरा। डीजल मूल्य वृद्धि के विरोध में शुक्रवार को भाजपा ने जमकर विरोध प्रदर्शन किए। राजामंडी रेलवे स्टेशन पर सांसद डॉ. रामशंकर कठेरिया के नेतृत्व में तूफान एक्सप्रेस रोककर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई। प्रदर्शन में शहर के दोनो भाजपा विधायक भी शामिल रहे। इसी तरह पार्टी की ओर से अन्य कई स्थानों पर पुतला दहन हुआ।
सुबह भाजपा सांसद डॉ. रामशंकर कठेरिया की अगुवाई में विधायक योगेन्द्र उपाध्याय, जगन प्रसाद गर्ग के साथ बड़ी संख्या में भाजपाइयों ने राजा की मंडी रेलवे स्टेशन की ओर कूच कर दिया। भीड़ के तेवर देखकर आरपीएफ भी मुस्तैद हो गई। एक बार लगा कि टकराव लंबा होगा, लेकिन आरपीएफ प्रदर्शनकारियों को रोक न सकी। भाजपाइयों ने यहां पटरियां कब्जा लीं। दोपहर 12.15 बजे तूफान एक्सप्रेस को स्टेशन पर आधा घंटे तक रोक कर भाजपाइयों ने नारेबाजी की। सांसद डॉ. कठेरिया ने कहा कि कांग्रेस ने गरीबाें के पेट पर लात मारी है। केंद्र सरकार को उखाड़ फेंकने तक आंदोलन जारी रहेगा। विधायक योगेंद्र उपाध्याय ने कहा कि केंद्र सरकार गूंगी और बहरी हो गई है। विधायक जगन ने बढ़ी कीमत वापस लेने की मांग की। प्रदर्शन में रामप्रताप सिंह चौहान, डा. जीएस धर्मेश, सुनील शर्मा, हेमेंद्र शर्मा, हेमंत भोजवानी, जगदीश कुशवाहा, केपी सिंह फौजदार, भगवान दास दक्ष, मनोज राघव, मंजू गुप्ता आदि मौजूद रहे। वहीं, भगवान टाकीज पर महानगर संयोजक नागेंद्र प्रसाद गामा दुबे के नेतृत्व में भगवान टाकीज पर पुतला फूंका। इस दौरान दीपक खरे, दीपक शर्मा, प्रमोद गुप्ता गांधी आदि मौजूद थे। दोपहर को मधु नगर चौराहे पर भाजपा नेता डा. जीएस धर्मेश के नेतृत्व में केंद्र सरकार का पुतला फूंका गया। किसान मोर्चा के नवल सिंह फौजदार, रामखिलाड़ी जादौन ने कहा कि कांग्रेस सरकार कोयला खा गई। अब डीजल व रसोई गैस महंगी कर आम जनता की कमर तोड़ रही है। जयपुर हाइवे स्थित शंकरगढ़ की पुलिया पर अरुण पाराशर, केके भारद्वाज, विनोद उप्रैती आदि ने प्रधानमंत्री व सोनिया गांधी के पुतले फूंके।
महिलाओं ने निकाली अर्थी
सब्सिडाइज सिलेंडर का कोटा कम करने पर कुंदनिका शर्मा के नेतृत्व में बल्केश्वर चौराहे से श्रीराम चौक तक पीएम की प्रतीकात्मक अर्थी निकाली। महंगाई के लिए कांग्रेस के भ्रष्टाचार को जिम्मेदार बताया। प्रदर्शन में अर्चना गर्ग, रजनी गुप्ता, शिवकुमार गुप्ता, विश्वनाथ भारद्वाज, रिंकू आर्य आदि मौजूद रहे।
जिला भाजपा ने खींचा ट्रैक्टर
डीजल महंगा होने से किसानों के नुकसान का आभास दिलाने को भाजपा जिला संयोजक अशोक राना के नेतृत्व में भाजपाइयों ने दीवानी चौराहे पर ट्रैक्टर को रस्सी से खींचा। भाजपाई ट्रैक्टर खींचते हुए शाह मार्केट पहुंचे। इस दौरान कांग्रेस और महंगाई के खिलाफ नारे लगे। इस दौरान भानु प्रताप सिंह, अनिल चौधरी, अमर सिंह परमार, राजेंद्र सिंह गिहार आदि मौजूद रहे।
-----------------

ट्रांसपोर्टर ने दी 17 सितंबर तक रोलबैक की चेतावनी
डीजल मूल्य वृद्धि के खिलाफ ट्रांसपोर्टर्स ने केंद्र सरकार को 17 सितंबर तक रोल बैक की चेतावनी दी है। ट्रांसपोर्ट चैंबर के चेयरमैन वीरेंद्र गुप्ता ने बताया कि इस बढ़ोतरी से माल भाड़ा महंगा होगा। रेट नहीं बढ़े तो हर चक्कर 8-10 हजार रुपये अधिक खर्च होंगे। आलू, हैंडीक्राफ्ट, जूता, जनरेटर कुछ भी हो, सब महंगा होगा। आल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्टर कांग्रेस कमेटी ने केन्द्र सरकार को 17 सितम्बर तक रोल बैक की चेतावनी दी है। नहीं माने तो 18 सितंबर की बैठक में चक्का जाम का फैसला होगा।
कारोबार को 5 करोड़, किसानी को दो करोड़ का फटका
डीजल मूल्य वृद्धि से कारोबार को हर महीने 5 करोड़ तो किसानी को दो करोड़ से अधिक की चपत लगेगी। जिले में करीब 1.10 से 1.20 करोड़ लीटर डीजल रोज की खपत है। जबकि खेती के सीजन में यह खपत 1.30-1.40 करोड़ लीटर हो जाती है। सबसे बड़ा हिस्सा इंडस्ट्री, ट्रेडर्स और ट्रांसपोर्टर्स का है। आगरा कोल्ड स्टोरेज आनर्स एसोसिएशन के सचिव राजेश गोयल का कहना है कि बिजली राम भरोसे और महंगा डीजल, जेनरेटर चलेगा तो लागत बढ़ेगी, महंगाई तो होगी ही। इससे मंदी आएगी। कोल्ड स्टोरेज हो या फिर फाउंड्री एक यूनिट में हर महीने 25-30 हजार लीटर डीजल खपत आसानी से हो जाता है।
चार लाख घरेलू गैस उपभोक्ता हाेंगे प्रभावित
सब्सिडाइज गैस सिलेंडर की संख्या कम किए जाने का असर जिले के चार लाख से अधिक कनेक्शन धारकों पर पड़ेगा। साल में सातवें घरेलू गैस के इस्तेमाल पर उपभोक्ताओं को करीब 750 रुपये खर्च करने होंगे। यानी हर सिलेंडर पर 350 रुपए अधिक।
निर्णय वापस लें : चैंबर
नेशनल चैंबर ने आपातकालीन बैठक में डीजल में पांच रुपए की बढ़ोत्तरी और साल में केवल छह सब्सिडाइज घरेलू सिलेंडर की आपूर्ति का विरोध कर केन्द्र सरकार से मांग की कि आम जनता के हित में निर्णय वापस लें। बैठक में अध्यक्ष महेन्द्र कुमार सिंघल, उपाध्यक्ष डा. बब्बू साहनी, राजीव तिवारी, अशोक अरोरा, मनीष अग्रवाल, नरेन्द्र सिंह आदि मौजूद रहे।
सफर से कटेगी जेब
महंगाई से त्रस्त जनता पर इस बार रोडवेज भी नरमी बरतने के मूड में नहीं है। हालांकि वर्ष 2005 से डीजल महंगा होने के बाद भी बस किराया नहीं बढ़ाया गया लेकिन डीजल के दामों की बढ़ोतरी पर रोडवेज ने भी किराए में 10 फीसदी बढ़ोतरी प्रस्ताव मुख्यालय को भेज दिया है। रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद क्षेत्रीय मंत्री चंद्रहंस चाहर का कहना है कि घाटे की भरपाई के लिए दामों में बढ़ोतरी होनी चाहिए।

अधिवक्ताओं ने मूल्य वृद्धि को लेकर कांग्रेस सरकार को जमकर कोसा। समाजवादी पार्टी अधिवक्ता संघ के उमेशचंद्र एडवोकेट ने कहा कि कांग्रेस सरकार तेल कंपनियों के घाटे को देख रही है मगर आम आदमी की जेब की उसे परवाह नहीं है। कांग्रेस ने महंगाई, भ्रष्टाचार व वंशवाद को ही बढ़ावा देने का काम किया है। विनोद कुमार एड, सत्यप्रकाश सिंह, हेमंत भारद्वाज, नरेश त्यागी, कमल सक्सेना, बीएस फौजदार, रामप्रकाश शर्मा, लोकेंद्र त्यागी, नीरज यादव, आकाश शांत, अंजलि वर्मा, रत्नेश यादव आदि ने मूल्यवृद्धि को लेकर प्रदर्शन किया।
सपा कार्यकर्ताओं ने सोरों कटरा चौराहे पर केंद्र सरकार का पुतला फूंका। दुग्ध उत्पादन प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष नरेश यादव ने कहा कि भ्रष्टाचार में डूबी सरकार को जनता अब और बर्दाश्त नहीं करेगी। इस मौके पर तेज सिंह वर्मा, सुरेश यादव, महेश यादव, मो. राशिद, नवीन, गुड्डू भाई आदि मौजूद थे।

ऐसे कटेगी जेब
प्रमुख रूट पुराना किराया संभावित किराया
आगरा-दिल्ली 150 165
आगरा-कानपुर 187 206
आगरा-लखनऊ 237 261
आगरा-फरुर्खाबाद 121 133
आगरा-हरिद्वार 245 269
आगरा-इलाहाबाद 314 345
आगरा-बनारस 389 429
आगरा-पलिया 236 260
आगरा-बरेली 143 157
आगरा-सोनोली 480 528
आगरा-गोरखपुर 419 461

अब भी झेल रहे महंगाई
सब्जी जून सितंबर
भिंडी 20 30
अरबी 24 30
कद्दू 12 16
खीरा 20 26
शिमला 60 100
टमाटर 20 25
बैंगन 20 24
आलू 14 20-25
धनिया 50 80
हरी मिर्च 50 60-70
परवल 40 40
करेला 30 30
प्याज 10 20
फली 16 24
तोरई 16 20
मूली 20 20
पालक 16 16
नींबू 80 80
राशन
आटा चक्की 15 18-20
आटा पैके ट 20 20-25
मैदा 18 22
सूजी 18 22
अरहर दाल 71 87

महंगाई तो बढ़ाई जा रही है, लेकिन सरकारी और निजी नौकरी में तनख्वाह नहीं बढ़ी हैं। ऐसे में एक बार फिर से रेट बढ़ाने का फैसला गलत है।
आयुषी अग्रवाल, स्टूडेंट

हमारे देश में जीवन स्तर बेहतर हुआ है। भौतिक संसाधनों का प्रयोग बढ़ रहा है। इसके चलते लोगों का पहले ही घर चलना मुश्किल है, डीजल के रेट बढ़ाकर मुसीबत खड़ी कर दी है।
इशांक गुप्ता, स्टूडेंट

इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट करने के बाद भी नौकरी नहीं मिल रही है। पहले ही परिजन बच्चों की पढ़ाई पर अपनी जमा पूंजी खर्च कर चुके होते हैं। महंगाई बढ़ने से खाने पर भी संकट आ गया है।
अंकिता चौधरी, स्टूडेंट

समझ में ही नहीं आ रहा है कि ये हो क्या रहा है। महंगाई तो बढ़ ही रही है, साथ ही घटतौली और कमीशनखोरी ने रोजमर्रा की वस्तुओं के दाम बढ़ाने से मुश्किल में डाल दिया है।
मनीष, स्टूडेंट


सरकार का यह कदम गलत है। आज कोई ऐसी चीज नहीं, जो महंगी न हो। 6 सिलेंडर से 12 महीने कैसे काटेंगे। अब किफायत से गैस खर्च करेंगे। हर दो मिनट में गैस नहीं जलेगी। खाना जल्दी पकाने के उपाय तलाशूंगी। अब रोज कढ़ाई भी नहीं चढ़ाऊंगी। दूध को एक बार उबाल कर फ्रिज में रखा करूंगी। अब खाना गर्म करना भूल जाएंगे।
गृहणी बबीता, लोहामंडी बाजार

सरकार को आम जनता की कोई चिंता नहीं है। हम 4 जनों का परिवार है। एक सिलेंडर सवा महीने चलता है। अब फिर से ईंधन की ओर लौटना होगा। गैस बचाने के लिये दूसरे विकल्प अपनाने होंगे। खाने में कटौती नहीं कर सकते। गृहणी गोल्डी अग्रवाल, नया बांस

हमारे संयुक्त परिवार में 11 सदस्य हैं। सिलेंडर 15 दिन चलता है। सरकार ने आम आदमी को रोटी खाने के लिये भी सोचने पर मजबूर कर दिया है। हीटर चलाएंगे तो बिजली का बिल बढ़ेगा। बच्चों की फरमाइशें तो नहीं रोक सकते, पर अपने दूसरे खर्चों में कटौती कर बजट में सामंजस्य बिठाएंगे। अब खरीददारी कम किया करूंगी। गृहणी नूतन, अंताबाग

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

विवाह में आ रहीं अड़चनों और बाधाओं को दूर करने का पाएं समाधान विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
ज्योतिष समाधान

विवाह में आ रहीं अड़चनों और बाधाओं को दूर करने का पाएं समाधान विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lucknow

सीएम ने दिए निर्देश, कहा- कानपुर व आगरा मेट्रो रेल परियोजना के काम तेजी से पूरे कराएं

मुख्यमंत्री ने की प्रदेश की मेट्रो रेल परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा

22 मई 2019

विज्ञापन

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में आतंकियो- सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ समेत 5 बड़ी खबरें

अमर उजाला डॉट कॉम पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी खबरें।

22 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election