विज्ञापन
विज्ञापन

मरीजों का ‘दर्द’ देख निकली विशेष सचिव की आह

Agra Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
आगरा। दर्द से तड़पते मरीजों के इलाज में बाधा बनी अव्यवस्थाओं पर विशेष सचिव की आह निकल पड़ी। बुधवार को एसएन मेडिकल कालेज में निरीक्षण के दौरान वार्ड ब्वाय और नर्स का काम करते तीमारदार को देखकर वे दंग रह गये। वहीं वार्ड से लेकर टॉयलेट में गंदगी और सेंट्रली एसी ट्रॉमा सेंटर पर ताला जड़ा होने पर माथा पकड़ लिया। कालेज प्रशासन से विचार विमर्श कर स्थिति सुधारने का सुझाव दिया। निरीक्षण की रिपोर्ट शासन को सौंपी जाएगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
बुधवार सुबह 11.30 बजे विशेष सचिव स्वास्थ्य अरिंदम भट्टाचार्य इमरजेंसी पहुंचे। यहां पर मरीज तड़पते हुए मिले, वार्ड ब्याय व नर्स का काम तीमारदार कर रहे थे। मरीजों की संख्या कम होने पर डॉक्टरों से सवाल-जवाब किए। टॉयलेट के साथ ऑपरेशन थिएटर में मिली गंदगी पर नाराजगी जताई। अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित ट्रॉमा सेंटर के बंद होने पर प्रिंसिपल डा. एनसी प्रजापति से जानकारी ली। गार्जियन मेडिकल स्टोर के बारे में पूछताछ की। इस दौरान नर्सों ने अपनी समस्याएं बताई। ओपीडी में पहुंचते ही मेडिकल रिप्रजेंटेटिव में अफरा-तफरी मच गई। दवाओं के वितरण को भी देखा। सात मंजिला बिल्डिंग के बाद सर्जरी विभाग में पहुंचते ही वे आश्चर्यचकित रह गए। यहां हर तरफ बदबू, दीवारों से रिसता पानी और टॉयलेट में गंदगी के साथ वार्ड में कुत्ते घूमते मिले। मेडिसिन विभाग में भी यही हालात मिलने पर उन्होंने कालेज प्रशासन से कारण जाना। कालेज प्रशासन ने जर्जर बिल्डिंग का हवाला दिया। साथ ही नवनिर्मित सर्जरी विभाग की बिल्डिंग तैयार होने पर हालात सुधरने का भरोसा जताया। शाम चार बजे विशेष सचिव रवाना हो गये।

------------------------
इन सवालों के मिले उत्तर

सवाल : मरीजों का नारकीय हालत में इलाज कब तक
विशेष सचिव : अप्रैल 2013 तक नवनिर्मित बिल्डिंग में इलाज मिल सकेगा, तब तक के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी।
सवाल: जूनियर डाक्टर और तीमारदारों में मारपीट क्यों?
विशेष सचिव- ऐसा नहीं होना चाहिए, दरअसल जूनियर डाक्टर महत्वाकांक्षी होने के चलते मरीजों को कम समय देते हैं। इसका ध्यान रखा जाएगा।
सवाल: चिकित्सा शिक्षकों का एसएन के बजाय प्राइवेट प्रैक्टिस पर ध्यान क्यों?
विशेष सचिव: यह गंभीर मामला है, हर जगह ऐसा हो रहा है। इसके लिए कुछ किया जाएगा।
सवाल: मरीजों से बाहर से जांच क्यों कराई जा रही हैं, दवाएं नहीं मिल रहीं।
विशेष सचिव- प्रिंसिपल के मुताबिक, तकनीकी खामियों के चलते टेंडर नहीं हो सके हैं, इसे देखा जाएगा। पैथोलोजी जांच की वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी।
सवाल: टॉयलेट सहित हर जगह गंदगी
विशेष सचिव: मोबाइल टॉयलेट प्रत्येक वार्ड के साथ देने की व्यवस्था
सवाल: पैरा मेडिकल स्टाफ और चतुर्थ श्रेणी की कमी
विशेष सचिव: जल्द दूर की जाएगी
सवाल: मेडिकल रिप्रजेंटेटिव ओपीडी में जमे रहते हैं
विशेष सचिव: इनका मेडिकल कालेज में प्रवेश प्रतिबंधित किया जाता है।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
लोकसभा चुनाव - किस सीट पर बदले समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पड़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Agra

कानपुर से आगरा आए कंपनी के अधिकारी की मौत, होटल के कमरे में मिला शव

आगरा के एक होटल में ठहरे कंपनी अधिकारी की मौत हो गई। शुक्रवार की सुबह वो कमरे में मृत मिले। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे लेकर परिजनों को सूचित किया। मृतक कंपनी अधिकारी के परिजन आ गए हैं।

19 अप्रैल 2019

विज्ञापन

आगरा के इस वृद्धाश्रम के बुजुर्गों ने लगाई सरकार से गुहार,कहा साहब हमें भी वोट देने दो

2019 के लोकसभा चुनावों मे हर कोई अपने मतदान से देश को बेहतर और मजबूत सरकार देने में अपनी भागीदारी देना चाहता है।लेकिन आगरा के वृद्धाश्रम में रहने वाले बुजुर्ग अपने इस हक को पाने के लिए सरकार से गुहार लगा रहे हैं।

13 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election