विज्ञापन

अमन ओ अमान के लिए उठे लाखों हाथ

Agra Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विज्ञापन
आगरा। साल भर के इंतजार और रमजान भर पूरी शिद्दत के साथ अल्लाह की इबादत करने के बाद ईद-उल-फितर की नमाज की घड़ी आई तो शहर के इबादतगाहों में अकीदतमंदों का हुजूम उमड़ पड़ा। लाखों सिर सजदे में झुके और हाथ दुआ के लिए उठे। घर-परिवार और मुल्क में अमनचैन बरकरार रहने की दुआ की गई। नमाज के बाद सभी ने आपसी गिले-शिकवे दूर कर एक-दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी। पूरे शहर में धार्मिक सौहार्द का वातावरण दिखा।
अल सुबह मुसलिम इलाकों में चहल-पहल शुरू हो गई। नमाज का समय नजदीक आने पर नए लिबास धारण कर अकीदतमंदों ने इबादतगाह का रुख किया। शहर की सड़कों का नजारा देखने लायक था। खासतौर पर बच्चे अपने परिधान और भाव-भंगिमा से हर किसी का ध्यान खींच रहे थे। शहर की ईदगाह, शाही जामा मसजिद, ताजमहल व लोहामंडी मसजिदों में हजारों की तादात में नमाजी उमड़े। लाख लोगों की क्षमता वाला ईदगाह परिसर खचाखच भरा हुआ था। हजारों लोगों ने बाहर से नमाज अदा की।
ईदगाह में ईद की नमाज और दुआ शहर मुफ्ती अब्दुल खुबेब रूमी ने अदा कराई। तकरीर के दौरान शहर मुफ्ती ने आवाम को संदेश दिया, ‘कभी भूलकर किसी से न करो सुलूक ऐसा, जो तुमसे कोई करता नागवार होता’ और ‘जुल्म की टहनी कभी फलती नहीं, नाव कागज की सदा चलती नहीं।’
उन्होंने कहा कि जो लोग खुतबा छोड़कर चले जाते हैं, बुरा करते हैं। जरूरत बस जाने वाले लोगों का गुनाह माफ होता है। अल्लाह पूछते हैं कि जो तुम कर सकते थे, उसको क्यों नहीं किया। यह नहीं पूछते कि जो नहीं कर सकते थे, उसको क्यों नहीं किया। ईदगाह के मसले पर उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने इस मौके पर बोलने को कहा था। उनका उद्देश्य जिंदाबाद व मुर्दाबाद के नारे लगवाना नहीं है। प्रशासन से गुजारिश है कि वह अपना वादा पूरा करे। मोमिन वह जिससे उसका पड़ोसी सुरक्षित रहे।
ईदगाह पर डीएम अजय चौहान, एसएसपी एससी वाजपेई, नगर आयुक्त डीके सिंह, एसपी सिटी आरपीएस यादव, एडीएम सिटी अरुण प्रकाश, डा. डीवी शर्मा आदि मौजूद रहे। इन लोगों ने नमाज के बाद लोगों को ईद की मुबारकबाद दी। ईदगाह परिसर में सुरक्षा व्यवस्था के जबरदस्त इंतजाम किए गए थे। पिछले वर्ष से कम पर परिसर के आसपास खानपान व खिलौने आदि की दुकानें लगी हुई थीं।

नहीं दिखे राजनीतिक दलों के नेता
ईदगाह परिसर में चुनाव के बाद के माहौल का असर दिखा। मुबारकबाद देने के लिए राजनीतिक दलों के नेता और प्रतिनिधि नहीं दिखे। पिछले वर्षों में कई दलों के नेता और प्रतिनिधि मौजूद रहते थे, उनके तंबू भी परिसर में लगते थे। इस बार परिसर में केवल सोसायटी फॉर सोशल डेवलपमेंट का तंबू लगा हुआ था।

एक दिन और रखना होगा रोजा
शहर मुफ्ती ने एलान किया कि जिन रोजेदारों ने 22 जुलाई को पहला रोजा रखा था, उसे ईद के बाद एक दिन का रोजा और रखना होगा। तभी 30 दिन का रोजा पूरा होगा। उन्होंने 21 जुलाई से रोजा रखने का दिन मुकर्रर किया था, लेकिन यहां कुछ लोगों ने 22 से रोजा रखा था।


-शाही जामा मस्जिद में सुबह नौ बजे मौलाना इरफान उल्लाह खान ने नमाज अदा कराई। इस्लामिया लोकल एजेंसी की ओर से नमाज के लिए इंतजाम किए गए।

ताज की शाही मस्जिद में हजारों ने अदा की नमाज
आगरा। ताजमहल स्थित शाही और फतेहपुरी मस्जिद पर हजारों अकीदतमंदों ने ईद की नमाज अदा की। शाही मस्जिद में 9.15 बजे होने वाली ईद की नमाज के लिए सुबह सात बजे से ही व्यवस्थाएं शुरू हो गई थीं। नमाज के बाद मुल्क में अमन-चैन और खुशहाली की दुआ मांगी गई। ताज में करीब 10 हजार लोगों ने नमाज अदा की। ताज के पश्चिमी गेट स्थित फतेहपुरी मस्जिद में 9.30 बजे नमाज अदा की गई। यहां के लिए पश्चिमी गेट के रास्ते को आधा घंटे पहले ही बंद कर दिया गया था। इस दरम्यान ताजगंज, पर्यटन थाने के फोर्स केसाथ ही एएसआई, सीआईएसएफ के जवान और अमन कमेटी के वालंटियर्स व्यवस्था संभाले हुए थे। एसडीएम और एसपी भी मौजूद थे। अमन कमेटी के संचालक सैयद मुनव्वर अली, मिर्जा सरदार बेग, नौशाद अली, राजेंद्र अग्रवाल, मो. फिरोज, इरफान खान, असद बेग, शफीउद्दीन सिद्दीकी, डा. श्रीराम शर्मा, बलवंत कुमार द्विवेदी आदि का सहयोग रहा।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Madhya Pradesh

शिवराज सिंह चौहान के एससी/एसटी एक्ट पर दिये बयान का गहलोत ने किया बचाव

केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के दिग्गज दलित नेता थावरचंद गहलोत ने शनिवार को अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के दो दिन पहले दिये बयान में उनका बचाव किया है।

23 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

भारतीय क्रिकेट टीम में सेलेक्ट हुए दीपक चाहर के पिता ने खोला ये राज

भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने पहुंचा आगरा का लाल दीपक चाहर। दीपक चाहर के पिता से अमर उजाला ने बात किया। उनके पिता ही उनके कोच रहे है।

21 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree