‘नाचत गोपी और गोप सब प्रगटे गोकुलचंद’

Agra Updated Sat, 11 Aug 2012 12:00 PM IST
आगरा। घड़ी की दोनों सुइयों का मिलन होते ही, हर ओर उल्लास की लहर छा गई। मंदिरों में शंखनाद होने लगा, बांसुरी की मधुर ध्वनि कर्णपटल पर तैरने लगी। जयकारों से नभ गुंजायमान हो गया, भक्ति गीतों के रस की बरसात होने लगी। हवा को सुगंधित करती धूप-दीप की खुशबू ने ये एहसास करा दिया यशोदा का नंदलाला धरती पर प्रकट हो गया।
भाद्रपद की अष्टमी की पवित्र अर्द्घरात्रि को अवतार लेने वाले कन्हैया का जन्मोत्सव शुक्रवार को धूमधाम से मनाया गया। सुबह से भक्त रात 12 बजने का इंतजार कर रहे थे। पूरे दिन मंदिरों पर अनुष्ठान चलते रहे। मनोहारी झांकियां सजाई गईं, ठाकुर जी का श्रृंगार कर 56 भोग सजाए गए। साथ ही पंचमिष्ठान तैयार किए गए। रात्रि में जैसे ही बारह बजे हर घर हर मंदिर में ‘हाथी घोड़ा पालकी, जय कन्हैया लाल की’ का जयकारा गूंजने लगा। मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लग गया। भक्तों ने कन्हैया को पंचामृत और गंगाजल से स्नान कराया। इसके बाद नए वस्त्रों से श्रंगार किया और आभूषण धारण कराए। फूलमाला सजाई गईं और चंदन से तिलक किया गया। इसके बाद चंद्रमा को अर्घ्य देकर कन्हैया को खरबूजे की मींग, छुआरे, किसमिस और मखाने से बनी बर्फी और पाग का भोग लगाया गया। साथ ही मंगल गीत गाए गए। तत्पश्चात शंखनाद और घंटियों की ध्वनि के साथ महाआरती हुई और प्रसाद वितरित किया गया।

ठाकुर जी का दरबार सजा
हर घर में परिवार के सभी सदस्यों ने मिलकर ठाकुर जी का दरबार सजाया गया। उन्हें सुंदर पोशाक और आभूषणों पहनाए गए। झिममिल सितारों वाली पोशाकों में कन्हैया का स्वरूप मनोहारी लग रहा था।

मंदिरों पर लगे मेले
जन्माष्टमी पर ठाकुर जी के कई मंदिरों के पास मेला लगे। राधा-कृष्ण मंदिर, नामनेर, सनातन धर्म मंदिर शहजादी मंडी, राधा-कृष्ण मंदिर विजय नगर, राधा कृष्ण मंदिर नेहरू नहर, श्रीश्याम जी का मंदिर, बिजलीघर आदि पर झूलों की दुकान लगी थी। मंदिर के बाहर का दृश्य भक्तों के उल्लास का बखान कर रहा था। झूला झूलने के लिए बच्चों की लाइन लगी थी। आइसक्रीम, गोलगप्पे और खिलौनों की दुकान पर भीड़ उमड़ी थी।

भक्ति गीतों पर थिरके
ठाकुर जी के जन्मोत्सव पर विभिन्न मंदिरों और मोहल्लों में लाउड स्पीकर लगाए गए थे। इन पर बजने वाले कन्हैया के गीत सुनकर भक्त भक्तिरस में डूबने को मजबूर थे। भजमन श्री राधे गोपाल..., राधे-राधे, श्याम मिलादे..., गोविंद बोलो, हरि गोपाल बोलो..., हे नंद-नंद, आनंद नंद, यदु नंद नंद गोपाला...आदि गीतों पर भक्त झूम रहे थे।

लाइटिंग के साथ सजाईं झांकी
जगमग लाइटिंग से सभी मंदिर रोशन हो रहे थे। फूल बंगला और छप्पन भोग प्रभु के दरबार को और भव्यता दे रहे थे। कृष्ण की गोपियों के साथ लीला, सुदामा चित्रण, कन्हैया का जन्म, गोवर्धन पर्वत एक अंगुली पर लिए कन्हैया की झांकी देख भक्त भाव विभोर हो उठे।

उमड़ा भक्तों का सैलाब
सेंट जोंस स्थित श्री सिद्धेश्वर मंदिर, राजामंडी स्थित सांई बाबा के मंदिर, रावतपाड़ा स्थित मनकामेश्वर मंदिर, लंगड़े की चौकी स्थित हनुमान मंदिर, शहजादी मंडी स्थित श्री सनानत धर्म मंदिर , बालाजी धाम मंदिर आदि मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहा।

कान्हा का अभिषेक
राधाकृष्ण मंदिरों में रात्रि पौने ग्यारह बजे से अभिषेक शुरू हुआ। रात्रि बारह बजे जन्म के साथ आरती शुरू हो गई। इसके बाद प्रसाद वितरण किया गया। प्रसाद में मुख्यत: मिश्री और गोपाल का प्रिय मक्खन वितरित किया गया।

बच्चे बने कन्हैया
मंदिरों में कन्हैया के दर्शन को जाने वाले भक्तों ने बच्चों को बाल कृष्ण के रूप में सजा रखा था। कई बच्चों के ललाट पर मुकुट सुशोभित था। पीत वस्त्र से बच्चों की सुंदरता देखते ही बन रही थी।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

'आप' के बाद अब मुसीबत में भाजपा, हरियाणा के चार विधायकों पर गिर सकती है गाज

दिल्ली में आम आदमी पार्टी के बीस विधायकों की छुट्टी के बाद अब हरियाणा के भी चार विधायकों की सदस्यता जा सकती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

दिल्ली से आगरा जा रही ट्रेन का हादसा, तेज आवाज के बाद उड़ी चिनगारियां

रेलवे हादसों का सिलसिला लगातार चलता आ रहा है। शनिवार रात करीब साढ़े दस बजे दिल्ली से आगरा जा रही गोंडवाना एक्सप्रेस डिरेल हो गई।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper