विज्ञापन
विज्ञापन
UP Board Result 2019 UP Board Result 2019

न डॉक्टर, न दवाएं, बदहाल हुईं स्वास्थ्य सेवाएं

Agra Bureauआगरा ब्यूरो Updated Wed, 12 Sep 2018 10:58 PM IST
न डॉक्टर, न दवाएं, बदहाल हुईं स्वास्थ्य सेवाएं
न डॉक्टर, न दवाएं, बदहाल हुईं स्वास्थ्य सेवाएं - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
मैनपुरी। जिले की स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है। यहां एक तरफ जहां दवाइयों की कमी बड़ी परेशानी बनी हुई है। वहीं, डॉक्टरों की कमी से भी जनपद के लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। यहां विशेषज्ञ डॉक्टरों के 187 में से 115 पद रिक्त चल रहे हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
जिले में पिछले दो महीने से संक्रामक बीमारियां हावी हैं। आए दिन बुखार, डायरिया और सांस की दिक्कत के चलते मरीजों की मौत हो रही है। पिछले 12 दिन में केवल जिला अस्पताल में ही नौ मरीजों की संक्रामक बीमारियों से मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग इस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है। यदि समय रहते संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के लिए उचित उपाय नहीं किए गए तो आगे बड़ी समस्याएं खड़ी हो सकती हैं।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र किशनी
यहां प्रतिदिन 200 से 250 मरीज पहुंचते हैं। यहां विशेषज्ञ डॉक्टर के चार में से सभी चार पद रिक्त चल रहे हैं। यहां उपचार के नाम पर केवल खाना पूर्ति के लिए कोट्रीमोक्साजोल उपलब्ध है। एंटीबायोटिक इंजेक्शन में सिर्फ जेंटामायसिन उपलब्ध है। इसके अलावा कोई इंजेक्शन नहीं है। सीएचसी पर एक्सरे मशीन व अल्ट्रासाउंड मशीन न होने के कारण मरीजों को 36 किलोमीटर दूरी तय कर जिला अस्पताल में अपना इलाज कराना पड़ रहा है। यहां मरीजों को भर्ती करने के बाद एक या दो घंटे बाद या तो घर भेज दिया जाता है या फिर उच्च अस्पताल के लिए रेफर। प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉक्टर शंभू सिंह अधिकारियों के दबाव में यही कहते हैं कि दवाइयों की कोई कमी नहीं है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र करहल
यहां प्रतिदिन 300 से 350 मरीज पहुंचते हैं। यहां भी उपचार के नाम पर खानापूर्ति होती है। महिला चिकित्सक के रूप में डॉ. तृप्ति दुबे के अतिरिक्त चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अभिषेक यादव की तैनाती है। यहां उपचार की तो बात छोड़ो साफ-सफाई का भी अच्छा प्रबंध नहीं है। यहां चारों तरफ गंदगी के ढेर दिखाई देते हैं। यहां कुल चार एमबीबीएस डॉक्टर तथा दो संविदा डॉक्टरों की भी तैनाती है लेकिन यहां से भी मरीजों को एक-दो घंटे बाद ही रेफर कर दिया जाता है। अधिकारियों का इतना दबाव है कि कोई डॉक्टर दवाओं की कमी होने के बाद भी दवा कम होने की बात नहीं कहता है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेवर
यहां प्रतिदिन 200 से 250 मरीज पहुंचते हैं। सात पदों के सापेक्ष मात्र दो डॉक्टरों की तैनाती है। महिला चिकित्सक के पद पर संविदा चिकित्सक की तैनाती है। जो अधिक समय अपने नर्सिंग होम में देतीं हैं। यहां एंटीबायोटिक तथा पीसीएम कम मात्रा में दी जाती हैं। इससे मरीजों को उनकी बीमारी के अनुरूप दवाएं उपलब्ध नहीं हो पाती हैं। स्थानीय लोगों ने कई बार अस्पताल में चिकित्सक तैनाती की मांग कर व्यवस्थाएं दुरुस्त किए जाने की मांग की, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। यहां मरीज को भर्ती करने के साथ ही रेफर स्लिप थमा दी जाती है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र औंछा
क्षेत्र में संक्रामक बीमारियां हावी हैं। प्रतिदिन 120 से 150 मरीज यहां पहुंचते हैं। मरीजों के लिए बेड तक की उचित व्यवस्था नहीं है। अस्पताल में डाक्टर पवन कुमार चिकित्साधीक्षक के रूप में तैनात हैं। यहां दो अन्य डॉक्टरों की भी तैनाती है डा. राजदीप, डा. राहुल आनंद एक महीने से अस्पताल में नहीं आ रहे हैं। इससे यहां आने वाले मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्राथमिक उपचार के बाद मरीज को रेफर कर दिया जाता है।

जनपद में डॉक्टरों की स्थिति एक नजर में
अस्पताल का प्रकार स्वीकृत पद कार्यरत रिक्त पद
सीएचसी और पीएचसी 133 53 80
जिला अस्पताल 28 13 15
जिला महिला अस्पताल 80 03 05
100 शैय्या अस्पताल 18 03 15
कुल डॉक्टरों के पद 187 72 115

डॉक्टरों की कमी को लेकर कई बार उच्चाधिकारियों से पत्राचार किया गया है। दवाइयों की कमी को दूर करने के हर संभव प्रयास जारी हैं। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। जिन दवाइयों की आवश्यकता है उन्हें मंगाया जा रहा है।
डॉ. एके पांडेय सीएमओ

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Agra

मतदान के दौरान हुए बवाल में सपा विधायक ने लगाए गंभीर आरोप, आंदोलन की चेतावनी

मैनपुरी के गांव अंगौथा नगरिया में मतदान के दौरान दो पक्षों में हुए विवाद में सपा विधायक ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका आरोप है कि भाजपा नेताओं के दबाव में पुलिस ने बेकसूरों पर मुकदमा दर्ज किया है।

25 अप्रैल 2019

विज्ञापन

रविवार तड़के आई दर्दनाक खबर, हादसे ने ली 7 लोगों की जान

आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर 7 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। घटना रविवार तड़के हुई। यहां एक यात्री बस ट्रक से टकरा गई। घटना में सात लोगों की मौत हो गई। 25 लोग बुरी तरह जख्मी बताए जा रहे हैं।

21 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election