गुदाऊं में ब्रिटिश नौकरशाहों से लगवाए थे ‘महात्मा गांधी की जय’ के नारे

Agra Bureau Updated Sun, 13 Aug 2017 11:56 PM IST
गुदाऊं में ब्रिटिश नौकरशाहों से लगवाए थे ‘महात्मा गांधी की जय’ के नारे
flag - फोटो : demo
फिरोजाबाद। ब्रिटिश हुकूमत के अत्याचार से प्रताड़ित देशवासियों के मन में आजादी की ज्वाला भड़की हुई थी। इसलिए ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के दौरान जगह-जगह रणनीति तैयार की जाती थी। आजादी की जंग लड़ रहे देशवासी 17 अगस्त 1942 में हिरनगांव स्टेशन फूंक चुके थे। अंग्रेजों को देश से भगाने के लिए तमाम रणनीति तैयार होती थी। आंदोलन की जिम्मेदारियां सौंपी जाती थीं।


घटना हिरनगांव स्टेशन फूंकने के दूसरे दिन 18 अगस्त 1942 की है। फिरंगियों के हौसले को कैसे डगमगाया जाए, इसकी अगली रणनीति गांव गुदाऊं में भूपसिंह शर्मा, फतेह सिंह शर्मा और गंदर्भ सिंह और पंडित गया प्रसाद शर्मा के नेतृत्व में तैयार हो रही थी। तभी तानाशाह दरोगा इमदाद खां और तहसीलदार अंग्रेजी सेना की कंपनी के साथ इन्हें पकड़ने के लिए आ गया। फिरंगियों की संख्या इतनी थी कि हिरनगांव से रूपसपुर तक लोगों को घेर लिया था। सेना के पास हथियार थे, लेकिन फौलादियों पर देश को आजाद कराने का जुनून सवार था। आवाजें उठने लगी कि हम अपने साथियों को गिरफ्तार नहीं करने देंगे। देशभक्तों ने फिरंगियों का पुरजोर विरोध किया। फौलादियों का देशभक्ति जुनून देखकर अंग्रेजी सैनिकों ने हथियार डाल दिए थे।

अत्याचारी दरोगा इमदाद खां और सैनिकों से ‘महात्मा गांधी की जय’ के नारे लगवाए। खाली हाथ वापस गई सेना ने आगरा कलक्टर और गवर्नर जनरल को तार से सूचना दी। हैदराबाद रेजिमेंट सेना की कई कंपनियां आजादी के दीवानों को पकड़ने के लिए भेजी गईं। भूपसिंह शर्मा, गंदर्भ सिंह के अलावा सैकड़ों ग्रामीणों को कैद करके आगरा की जेल में ड़ाल दिया था।


भीकनपुर-मेघपुर में सरकारी नौकरशाहों को दौड़ाया
शिक्षक अमरपाल सिंह ने बुजुर्गों की जुबानी बताया कि गांव भीकनपुर-मेघपुर में किसानों ने कलेक्शन के नायब तहसीलदार ठाकुर सोबरन सिंह को वारफंड देने से मना कर दिया था तो पुलिस ने किसानों पर अत्याचार करना शुरू कर दिया। आंदोलन का नेतृत्व कर रहे लालाराम बौहरे ने कहा कि फिरंगियों के चापलूसों को पकड़ो और मारपीट करो। किसान भड़क गए और एक दरोगा को मार दिया। तहसीलदार और पुलिस बल भाग गया। इसके बाद गांव के लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज हुई।

Spotlight

Most Read

Shimla

वीरभद्र मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने ईडी से पूछा ये सवाल

वीरभद्र सिंह से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि ईडी अन्य आरोपियों के खिलाफ पूरक आरोप पत्र कब दाखिल करेगा।

19 जनवरी 2018

Related Videos

जिस प्रिंसिपल ने पढ़ाया उसके साथ छात्रों ने किया गंदा काम!

फिरोजाबाद के एक स्कूल की प्रिंसिपल को शहर के कुछ रईसजादों ने अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper