पुलिस ने दबोचा पढ़ा-लिखा लुटेरा

Lucknow Updated Mon, 10 Dec 2012 05:30 AM IST
लखनऊ। आशियाना पुलिस ने चेन-पर्स लूट गैंग का भंडाफोड़ कर पकरी पुल के पास बीकॉम पास लुटेरे और उसके साथी दबोचा है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 2100 रुपये नगदी समेत लूटा गया सेलफोन, वारदात में प्रयुक्त बाइक, दो तमंचा, कारतूस, 110 ग्राम चरस व दो किलो 900 ग्राम गांजा बरामद किया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में 110 ग्राम चरस की कीमत करीब 2.50 लाख रुपये व दो किलो 900 ग्राम गांजे की कीमत 30 हजार रुपये आंकी जा रही है।
एसओ आशियाना ओपी तिवारी के मुताबिक, मुखबिर की सूचना पर शनिवार देर रात 12 बजे पुलिस टीम ने क्षेत्र के पकरी पुल के पास वाहन चेकिंग शुरू की। तभी बाइक सवार दो युवक आते दिखाई पड़े। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो दोनों भगाने लगे। पुलिस टीम ने घेराबंदी कर बाइक सवारों को दबोच लिया। पूछताछ में इनकी पहचान क्रमश: हुसैनगंज के एपी सेन रोड चारबाग निवासी दीपक सिंह और मूलरूप से उन्नाव के असोहा ब्लॉक कालूखेड़ा एवं हालपता हुसैनगंज के एपी सेन रोड सुदामापुरी निवासी सोनू उर्फ शनि के रूप में हुई। दीपक बीकॉम पास है और अकाउंटेंट की नौकरी भी करता है, जबकि सोनू हाईस्कूल फेल है। आरोपियों ने आशियाना में चार चेन-पर्स लूट की वारदात कबूली है। इसके अलावा उन्होंने गैंग में शामिल अपने साथी हुसैनगंज के सुदामापुरी निवासी रवि खोटे का नाम भी बताया है। पुलिस ने वारदात की तस्दीक कराने के साथ रवि की तलाश में छापेमारी शुरू कर दी है। शनि वर्ष 2004 में आशियाना से ही जेल जा चुका है। इन पर राजधानी के कई थानों में मुकदमे दर्ज हैं।
मॉडस आपरेंडी
पुलिस की मानें तो दीपक व उसके साथी नशे में आने के बाद भीड़भाड़ वाले बाजारों में शिकार तलाशते थे। फिर उसका पीछा कर रेकी करते थे। सुनसान स्थान पर मौका देखकर वारदात को अंजाम देते थे। ये अकेली महिलाओं को अपना शिकार बनाते थे। दीपक स्वयं बाइक चलाता और उसका साथी वारदात को अंजाम देता था। फरार आरोपी रवि खोटे शिकार की तलाश कर रेकी करता और अपने साथियों को सूचनाएं देता था। पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त बाइक बरामद कर ली है। इसके अलावा गिरोह के सदस्य चरस व गांजे की भी सप्लाई करते थे। यह दलाल के जरिए चरस खरीदकर नवयुवकों को बेचते थे।
शाहखर्च ने बनाया लुटेरा
पुलिस की मानें तो दीपक व उसके दोस्त शाहखर्च थे। शौक पूरा करने केलिए ये लूट और दूसरे अपराध करने लगे। दीपक व उसके साथी शराब व बीयर पीने के आदी थे। सेलफोन पर घंटों बातें करते थे। इनका रोजाना का खर्च 1500 से 2000 हजार रुपये का था। माता-पिता से जेब खर्च के नाम पर महिने में सिर्फ दो से तीन हजार रुपये मिलते थे। ऐसे में खर्च पूरा करने के लिए ये अपराध में लिप्त हो गए। दीपक की कई लड़कियों से दोस्ती की भी है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

पांच डकैती की वारदातों से दहली यूपी की राजधानी लखनऊ

लखनऊ में चोरी डकैती की वारदात लगातार बढ़ती जा रही है।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper