चचेरे भाई चला रहे थे गिरोह, वारदात के बाद छोड़ देते थे शहर

Lucknow Updated Sat, 08 Dec 2012 05:30 AM IST
बीकेटी। पुलिस ने लुटेरों के एक अंतरजनपदीय गैंग का भंडाफोड़ कर बृहस्पतिवार रात सिंहपुर गांव के पास से सीतापुर के दो हिस्ट्रीशीटरों को धर दबोचा। हालांकि दो बदमाश भागने में सफल रहे। पकड़े गए आरोपियों के पास से चोरी की दो बाइक, दो तमंचे, कारतूस व एक सेलफोन बरामद मिला है। बकौल पुलिस पकड़े गए आरोपी रिश्ते में चचेरे भाई और गैंग के सरगना हैं। दोनों सीतापुर में रेउसा थाने के हिस्ट्रीशीटर भी हैं। बदमाशों ने चोरी, लूट, राहजनी व डकैती जैसी कई गंभीर वारदातें कबूली हैं। गिरोह के सदस्य बहराइच, बाराबंकी, सीतापुर व लखनऊ समेत आसपास के जनपदों में अपराध करते हैं। बीकेटी के थानेदार विनोद कुमार मिश्र के मुताबिक कुछ बदमाश क्षेत्र में आपराधिक वारदात को अंजाम देने के बाद शहर से बाहर चले जाते थे। इसकी सूचना के बाद निगरानी शुरू कराई गई। बदमाशों के मूवमेंट की पुख्ता जानकारी के बाद पुलिस टीम ने सिंहपुर गांव के पास घेराबंदी की। इस दौरान दो बाइक पर सवार चार युवक रुकने का इशारा करने पर भागने लगे। पुलिस टीम ने घेराबंदी कर उनमें से दो को पकड़ लिया, जबकि दो भागने में सफल रहे। पकड़े गए बदमाश सीतापुर के रेउसा थाने के हिस्ट्रीशीटर दिनेश रावत व रमेश रावत हैं। दोनों रिश्ते में चचेरे भाई हैं और बल्दीपुरवा गांव के निवासी है। पुलिस ने इनके पास से उन्नाव से चोरी की गई दो बाइक, माल के मड़वाना गांव से चोरी किया गया एक सेलफोन व दो तमंचे, चार कारतूस बरामद किया है। आरोपियों ने फरार साथियों के नाम सीतापुर के सुपौली-महादेवा के कृपा शंकर लोनिया व सीतापुर के जालिमपुर सकरन निवासी रमेश कुमार लोनिया बताया है। पुलिस फरार बदमाशों की तलाश कर रही है। पकड़े गए आरोपियों ने तीन अक्तूबर को माल के मड़वाना गांव के अभय प्रताप सिंह के घर नकब लगाकर चोरी करने की वारदात समेत बीकेटी, मडियांव, चिनहट, सरोजनीनगर, इटौंजा, गाजीपुर, गोमतीनगर सहित कई थानों में हत्या, नकबजनी, चोरी, लूट समेत कई वारदातें कबूली हैं। उधर, पुलिस ने लिखापढ़ी में चचेरे भाइयों क्रमश: दिनेश कुमार रावत व रमेश कुमार रावत को चाचा-भतीजा बना दिया।

इन वारदातों को दिया अंजाम ः पुलिस के अनुसार हिस्ट्रीशीटरों ने वर्ष 2010 में गाजीपुर इलाके की रितु शर्मा की हत्या कर लूट की वारदात कबूली। वर्ष 2008 में सरोजनीनगर में एक व्यवसायी के घर में घुसकर परिवार के कई सदस्य को घायल कर लाखों की लूट की थी। डेढ़ साल पहले बहराइच के खैराघाट इलाके में भाडे़ पर ईसानगर निवासी भुल्लन वर्मा की दिनदहाडे़ हत्या करने की बात भी स्वीकारी है। इसके साथ ही बहराइच के हल्दी इलाके में मुठभेड़ के दौरान पुलिस टीम पर हमला किया था, जिसमें कई पुलिसकर्मियों को घायल हुए थे।

राजधानी में गिरोह के कई शरणदाता ः पुलिस की मानें तो हिस्ट्रीशीटर भाइयों को राजधानी में कई लोग शरण देते थे। जिनके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। मुखबिर से जानकारी मिली कि कुछ लोग इन बदमाशों को मोहरे की तरह इस्तेमाल करते थे और किराए के मकान में ठहराते थे।

माडस आपरेंडी ः पुलिस का कहना है कि गिरोह के सदस्य वारदात से पूर्व फेरी वाला व मजदूर बनकर बंद व सुनसान स्थान के मकानों की रेकी करते हैं। फिर सही मौके पर वारदात को अंजाम देते हैं। वारदात करने के बाद कुछ दिनों के भूमिगत हो जाते हैं। आरोपियों ने कबूला कि कुछ माह पूर्व गाजीपुर पुलिस ने दिन दहाडे़ लूट कर भागते समय गिरोह के एक सदस्य को दबोच लिया था। मगर, उसने पुलिस के सामने मुंह नहीं खोला था।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

हरियाणाः यमुनानगर में 12वीं के छात्र ने लेडी प्रिंसिपल को मारी तीन गोलियां, मौत

हरियाणा के यमुनानगर में आज स्कूल में घुसकर प्रिंसिपल की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामले में 12वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

बुलंदशहर की ये बेटी पाकिस्तान को कभी माफ नहीं करेगी, देखिए वजह

पाकिस्तान की नापाक हरकतों की वजह से शुक्रवार को बुलंदशहर के रहने वाले जगपाल सिंह शहीद हो गए। जगपाल सिंह एक दिन बाद अपनी बेटी की शादी के लिए घर आने वाले थे।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper