एसटीएफ का सिपाही बता व्यवसायी से मांगे 50 हजार

Lucknow Updated Thu, 08 Nov 2012 12:00 PM IST
लखनऊ। एसटीएफ का सिपाही बताकर शराब के नशे में धुत दो बदमाशों ने एक गत्ता बनाने वाली फैक्ट्री मालिक से 50 हजार रुपए मांगे। विरोध पर जेल भेजने की धमकी दी। शक होने पर फैक्ट्री मालिक ने पुलिस को बताया। पुलिस ने सैसेवीर मंदिर के पास से दोेेनों को बाइक समेत दबोच लिया। आरोपियों के पास से पुलिस की मोनोग्राम लगी बाइक भी बरामद हुई है। दोनों आरोपी सगे भाई हैं। आरोपियों ने कृष्णानगर, आशियाना व आलमबाग में अंजाम दी गई लूट व चोरी की कई वारदातें कबूली हैं। पुलिस उसकी तस्दीक करा रही है।

धमकाया, पैसे मांगे और शक होते ही भाग निकले: कृष्णानगर के शिवमनगर निवासी, हाईकोर्ट में कार्यरत रुदल यादव के बेटे सलिलेश यादव उर्फ बबलू की एक गत्ता फैक्ट्री है। बबलू के मुताबिक, दोपहर करीब एक बजे बाइक सवार दो युवक आए और बाहर खड़े चौकीदार से कहा कि मालिक ने उन्हें मिलने के लिए बुलाया है। इसी बीच वह बाहर आ गए। उन्होंने उन्हें पहचानने से इंकार कर दिया। इसपर एक युवक बाइक पर रहा और दूसरा बरामदे में आया और उनपर बिफर पड़ा। उसने खुद को एसटीएफ का सिपाही बताते हुए धमकाने लगा कि अवैध रूप से फैक्ट्री का संचालन कर रहे हो। तुम्हें और तुम्हारे पिता को अंदर कर दूंगा। यही नहीं बख्शने के लिए 50 हजार रुपये की मांग की। इस पर बबलू को शक हुआ। बबलू के अनुसार पिता को बुलाकर लाने के बहाने वे अंदर गए और 100 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी और दोनों युवकों को उलझा रखा। समय लगने पर युवकों को कुछ शक हो गया। जब तक पुलिस पहुंचती इससे पूर्व वह बात करते-करते थोड़ी देर में आने की बात कहकर भाग निकले।

एक पहले भी जा चुका है जेल: दरोगा राजेश पाल सिंह के मुताबिक, पुलिस ने आसपास इलाके में तलाश शुरू की और फिर मुखबिर की सूचना पर सैसेवीर मंदिर के पास से दोनों को बाइक समेत दबोच लिया। बाइक पर पुलिस का मोनोग्राम लगा था और नंबर प्लेट आधी टूटी थी। पूछताछ में आरोपियों की पहचान कृष्णानगर के गीतापल्ली निवासी कमल त्रिपाठी व श्याम किशोर त्रिपाठी के रूप में हुई। दोनों सगे भाई हैं और आरोपी के पिता हाईकोर्ट में वकालत करते हैं। आरोपियों ने शराब पी रखी थी। पुलिस गिरफ्त में आए आरोपियों ने कृष्णानगर, आशियाना व आलमबाग में अंजाम दी गई चेन, पर्स लूट व चोरी की कई वारदात कबूली है। पुलिस के अनुसार श्याम पहले भी जेल जा चुका है।

एमएलसी कोटे का करते थे काम: पुलिस गिरफ्त में आए आरोपियों में एक ने बताया कि, वह एक बसपा एमएलसी के साथ रहकर उनके कोटे की निधि का काम कराते थे। एमएलसी के चुनाव में दोनों साथ रहे। दोनों की सिफारिश में कई टेलीफोन आए और लोग कोतवाली के इर्दगिर्द मंडराते रहे। पुलिस ने दोनों को नहीं बख्शा और लिखापढ़ी कर लॉकअप में डाल दिया। आरोपी कृष्णानगर थाने के एक सिपाही के मुखबिर भी बताए जा रहे हैं। आरोपियों के पकड़े जाने की सूचना पर वकील भी पहुंच गए। मगर, भाइयाें की करतूत सुनकर वापस लौट गए।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

आप विधायकों को हाईकोर्ट ने भी नहीं दी राहत, अब सोमवार को होगी सुनवाई

लाभ के पद के मामले में चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित करने के मामले में अब सोमवार को होगी सुनवाई।

19 जनवरी 2018

Related Videos

आगरा में तैनात होंगे फ्रेंच, स्पैनिश बोलने वाले पुलिसवाले

आगरा में बीते कुछ दिनों में विदेशी नागरिकों के साथ दुर्व्यवहार के कई मामले सामने आए। आगरा पुलिस ने इसी वजह से सैलानियों की सुविधा के लिए एक अहम कदम उठाया है। आगरा में अब फ्रेंच, जर्मन और कई विदेशी भाषा बोलने वाले पुलिस अफसर तैनात किए जाएंगे

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper