संगीतकार आनन्दजी को मिला नौशाद सम्मान

Lucknow Updated Sun, 21 Oct 2012 12:00 PM IST
लखनऊ। प्रसिद्ध संगीतकार कल्याणजी-आनन्दजी को शनिवार को प्रसिद्ध संगीतकार नौशाद के नगर में उनके नाम से शुरू किये गये नौशाद सम्मान से सम्मानित किया गया। आनन्दजी ने गाडगे प्रेक्षागृह में नौशाद संगीत केन्द्र द्वारा आयोजित भव्य समारोह में राज्यपाल बी.एल.जोशी से यह सम्मान ग्रहण किया। सम्मान के अन्तर्गत उन्हें एक लाख रुपए की सम्मान राशि, स्मृति चिह्न और शाल भेंट किया गया। सम्मान से अभिभूत आनन्दजी ने कहा कि लखनऊ वाले जब भी बुलाएंगे चला आऊंगा क्योंकि यहां आना एक सुकून है। राज्यपाल बीएल जोशी ने कहा कि लखनऊ न सिर्फ अपनी गंगा जमुनी तहजीब के लिए प्रसिद्ध है बल्कि यह अपने अदब, साहित्य, संस्कृति के लिए भी जाना जाता है। यहां बिन्दादीन महाराज, लच्छू महाराज, बिरजू महाराज ने कथक को आगे बढ़ाया। यहीं बेगम अख्तर हुई और नौशाद भी इसी धरती पर हुए। आनन्दजी की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि वे अच्छे संगीतकार के साथ ही अच्छे इंसान भी हैं। उन्होंने कहा कि संगीत हम सभी को इंसान बनाये रखता है। संगीतकार आनन्दजी के उद्बोधन में उनका मजाकिया लहजा हावी रहा। उन्होंने कहा कि हमने जो भी संगीत दिया बहुत ही सरल संगीत दिया। हमारी मंशा यह कभी नहीं रही कि ऐसा संगीत बनाया जाय जो किसी के समझ में ही न आये। उन्होंने कहा कि हम पैर इसी कारण छूते हैं कि पैर जमीन पर टिका रहता है। जो जमीन पर टिका रहता है वही बचा रहता है, जो हवा में रहता है वह उड़ जाता है। उन्होंने कहा कि नौशाद जी की इच्छा थी कि जिस जगह का हूं, वहां कुछ होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम जिस नौशाद जी के बारे में सुना करते थे, उनसे मिलने को लेकर उत्साहित रहते थे आज उनके नाम का सम्मान मिलना गौरव की बात है। इस मौके पर नियोजन राज्यमंत्री फरीद महमूद किदवई, सिराज मेंहदी ने भी विचार व्यक्त किये। स्वागत अतहर नबी ने किया। समारोह का कुशल संचालन मोनिका चौहान ने तथा धन्यवाद ज्ञापन रामनारायण साहू ने किया।
-----------------
पत्नी का मंच पर पैर छूआ आनन्दजी ने ः सभागार में उस समय ठहाका गूंज उठा जब आनन्द जी ने सम्मान ग्रहण करने के बाद मंच पर उपस्थित अपनी पत्नी का पैर छू लिया। उन्होंने कहा कि मेरी 60 साल के वैवाहिक जीवन का यही राज है कि झुकते रहिए। उन्होंने बताया कि एक बार जब यह नाराज हुईं तो ‘क्या खूब लगती हो’ गाना ही बन गया। राज्यपाल ने आनन्दजी के इस व्यवहार पर चुटकी ली। उन्होंने कहा कि परिवार में शान्ति और सुलह का आनन्दजी का फार्मूला बिल्कुल सटीक और सही है। यह देखने वाली बात होगी कि कितने लोगों का स्वाभिमान इस फार्मूले को अपनाने में उनके आड़े नहीं आएगा।
नौशाद के नाम पर होगी सड़क या पार्क ः नगर निगम जल्द ही नौशाद के नाम पर सड़क या पार्क का नामकरण करेगा। यह घोषणा महापौर दिनेश शर्मा ने समारोह में की। उन्होंने कहा कि हमने बेगम अख्तर के नाम पर ऐसा किया है। महापौर की इस घोषणा पर आनन्दजी ने चुटकी भी ली। उन्होंने कहा कि अगर नगर निगम नौशाद के नाम पर सड़क बनाए तो देख लें कि वह चलने भी लायक हो। उन्होंने कहा कि मुम्बई में किसी सड़क का नामकरण होता है और बगल में शौचालय बना दिया जाता है।
मंच पर उतरी कल्याणजी आनन्दजी की संगीत यात्रा ः सम्मान समारोह में कल्याणजी आनन्दजी की संगीत यात्रा को संगीत रूपक मैं तो इक ख्वाब हूं के माध्यम से खूबसूरती से प्रस्तुत किया गया। प्रदीप श्रीवास्तव के निर्देशन में प्रस्तुत इस संगीत रूपक में आनन्दजी बने चरित्र ने अपनी यात्रा का वर्णन किया जिसमें गायक-गायिकाओं ने लोकप्रिय गीत सुनाए। सचिन चौहान के संगीत संयोजन में अनवर, पूनम जाटव सहित कई प्रमुख गायक-गायिकाओं ने गीत प्रस्तुत किये।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

अगर 20 से 26 जनवरी के दौरान वृंदावन जा रहे हैं तो जरूर देखें ये नया ट्रैफिक प्लान

हर साल वसंत पंचमी और गणतंत्र दिवस पर होने वाली भीड़ को देखते हुए वृंदावन के ट्रैफिक प्लान में बदलाव किया गया है। अगर आप इन दोनों दिनों में से किसी भी दिन वृंदावन जाने की सोच रहे हैं तो ये खबर जरूर देखें।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper