महज नाम का अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट

Lucknow Updated Sat, 06 Oct 2012 12:00 PM IST
लखनऊ। चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट महज कहने के लिए अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट है। यहां न मानकों के अनुरूप सुविधाएं हैं न ही यात्रियों की सहूलियत के लिए उचित इंतजाम। एक ही टर्मिनल से घरेलू व अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का संचालन हो रहा है। हर तरफ अव्यवस्था और परेशानियों का अंबार है। टर्मिनल की क्षमता से अधिक यात्री रहने से बैठने के लिए उचित स्थान भी उपलब्ध नहीं हो पाता है। एयरपोर्ट के बाहर टैक्सी संचालकों की मनमानी से लेकर सुरक्षा व्यवस्था तक में खामियां हैं। अधिकारी पिछले तीन महीने से पुराने टर्मिनल से अंतरराष्ट्रीय विमानों के संचालन की बात कर रहे हैं, लेकिन अभी तक सिर्फ हज विमानों का संचालन ही हो सका है। ऐसे में नवंबर तक पुराने टर्मिनल पर अंतरराष्ट्रीय सुविधाएं कैसे उपलब्ध कराई जाएंगी? इस पर सवाल उठने लगे हैं। पुराने टर्मिनल पर एयरपोर्ट प्रशासन को कस्टम काउंटर, इमिग्रेशन और फॉरेन एक्सचेंज के लिए काउंटर खोलने हैं। इसकी अभी नींव भी नहीं रखी गई है। जबकि पुराने टर्मिनल पर सीआईएसएफ के जवानाें की संख्या बढ़ाई जानी है, जिसके लिए मुख्यालय से पत्राचार चल रहा है। हालांकि अधिकारी जरूरी व्यवस्थाएं जल्द दुरुस्त किए जाने का दावा कर रहे हैं। यही नहीं उनका कहना है कि भविष्य में चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट से श्रीलंका, मलेशिया, थाईलैंड व खाड़ी देशों को जाने वाली विमानों की संख्या भी बढ़ेगी। फिलहाल यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की सुविधाएं पाने के लिए अभी इंतजार करना होगा।
टैक्सी स्टैंड पर गुंडागर्दी ः चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर टैक्सियों का संचालन गुंडागर्दी से हो रहा है। लेकिन प्रशासन की ओर से अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जा सकी है। इससे आए दिन कभी नंबर को लेकर बवाल होता है तो कभी पार्किंग शुल्क को लेकर। मुख्य संचालक व उप मुख्य संचालक की मनमर्जी के आगे यात्री व टैक्सी ड्राइवर बेबस हैं। यहां वैध रूप से टैक्सियों की संख्या तो 123 हैं, लेकिन माफिया के दखल से साढ़े तीन सौ से अधिक टैक्सियां संचालित हो रही हैं।

सुरक्षा के अपर्याप्त इंतजाम ः एयरपोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था पर कई बार सवाल उठ चुके हैं। नए टर्मिनल के मुख्य प्रवेश द्वार पर सुरक्षा बढ़ाई गई है। जबकि वाच टावर व कानपुर रोड स्थित बाउंड्री वाल के किनारे सुरक्षा के अब भी कोई ठोस इंतजाम नहीं है। यह हाल तब है, जब कई बार विक्षिप्त व जंगली जानवर रनवे तक पहुंच चुके हैं। यही नहीं पुराने टर्मिनल पर तो आवारा पशुओं का मंडराना आए दिन लगा रहता है। ऐसे में एयरपोर्ट पर सुरक्षा व्यवस्था कितनी पुख्ता है इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। हालांकि एयरपोर्ट प्रशासन के मुताबिक जल्द ही जवानों की संख्या में भी इजाफा होगा।

लेते हैं मनमाना किराया ः टैक्सी संचालक सीधे बुकिंग कराने पर यात्रियाें से मनमाना किराया वसूलते हैं। अमूमन जब यात्री भूल से अवैध रूप से चलने वाली टैक्सियों में फंस जाता है तो टैक्सी संचालक मनमाना किराया वसूलते हैं। इसकी शिकायत एयरपोर्ट प्रशासन से करने पर संबंधित टैक्सी डग्गामार बताई जाती है। ऐसे में यात्रियों का उत्पीड़न जारी है। इस पर एयरपोर्ट प्रशासन नकेल नहीं लगा पा रहा है।

नया टर्मिनल शुरू से दे रहा धोखा ः नए टर्मिनल से घरेलू व विदेश जाने वाले यात्रियों को बहुत उम्मीदें थीं। टर्मिनल के बनने के बाद यहां सुविधाआें में इजाफा हुआ, लेकिन इमारत के निर्माण में गड़बड़ियां उजागर होने से यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। कभी बरसात में छतों से पानी का टपकना तो कभी ग्लास टूटने से नए टर्मिनल के निर्माण में शुरू से प्रश्न चिह्न उठता रहा है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह कल संभालेंगे यूपी के डीजीपी का पदभार, केंद्र ने किया रिलीव

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह को रिलीव करने की आधिकारिक घोषणा रविवार को हो गई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

दिल्ली से आगरा जा रही ट्रेन का हादसा, तेज आवाज के बाद उड़ी चिनगारियां

रेलवे हादसों का सिलसिला लगातार चलता आ रहा है। शनिवार रात करीब साढ़े दस बजे दिल्ली से आगरा जा रही गोंडवाना एक्सप्रेस डिरेल हो गई।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper