नाराज वकीलों ने तहसीलदार कक्ष का दरवाजा तोड़ा

Lucknow Updated Tue, 25 Sep 2012 12:00 PM IST
लखनऊ। प्रमाण पत्र बनने में देरी से नाराज वकीलों के एक गुट ने सदर तहसील में सोमवार को जमकर बवाल और तोड़फोड़ की। तहसीलदार कक्ष व संग्रह अनुभाग के बंद दरवाजे, बाहर रखे गमले, कूलर आदि तोड़ डाले।यही नहीं लोकवाणी कर्मियों के साथ मारपीट के साथ ही वहां रखे कागजात फाड़ डाले। अराजकता की स्थिति देख आम लोगों के साथ अधिकांश तहसीलकर्मी भाग खड़े हुए। ज्यादातर कमरों में ताले लग गए। तहसील परिसर में हंगामा करने के बाद वकीलों ने बाहर निकलते समय मेन गेट भी तोड़ दिया। तहसील में हंमागा उस समय शुरू हुआ जब कुछ वकील लोकवाणी काउंटर पर प्रमाण पत्र लेने गए थे। प्रमाण पत्रों का पता न चलने पर वे नाराज हो गए। वहां बैठे लोकवाणी कर्मी प्रमाण पत्र न मिलने का कोई संतोषजनक जवाब भी नहीं दे पाए तो नाराज वकील उन पर धमक पड़े। उनके कक्ष में घुसकर मारपीट की। वहां रखे आवेदन, प्रमाण पत्र व अन्य कागजात फाड़ डाले। प्रमाण पत्र बनाने व वितरण की व्यवस्था से नाराज वकील तहसीलदार को घेरने के लिये बढ़े तो उनके कक्ष में ताला लगा मिला। वकीलों ने पैर मार-मारकर तहसीलदार कक्ष के दरवाजे का एक पल्ला तोड़ डाला। इतने पर भी गुस्सा शांत नहीं हुआ तो खिड़की पर लगा कूलर, बरामदे में रखे गमले तोड़ दिए। यह देख वहां तैनात होमगार्ड के साथ पड़ोस के न्यायालय कक्ष में मौजूद कर्मचारी भाग खड़े हुए। इसपर भी गुस्सा शांत नहीं हुआ तो वकील संग्रह कक्ष की तरफ बढ़े लेकिन तब तक वहां के कर्मचारी दरवाजा अंदर से बंद कर चुके थे। संग्रह कक्ष के एक हिस्से में प्रमाण पत्र वितरण के तीन काउंटर बनाए गए हैं। वहां तक पहुंचने के लिए वकीलों ने संग्रह कक्ष के बंद दरवाजे का एक पल्ला पैर मारकर तोड़ दिया। अंदर पहुंचकर उन्होंने लोकवाणी कर्मियों से मारपीट कर भगा दिया। इसके बाद वकीलों ने तहसील परिसर में घूम-घूमकर कार्यालय बंद कराए। कुछ ही देर में तहसील के अधिकांश कार्यालय बंद हो गए। नाराज वकीलों का निशाना बनने से बचने के लिये कर्मचारी वहां से चले गए। उधर वकीलों ने तहसील के मेन गेट पर पहुंचकर हंगामा किया। इस दौरान गेट का एक पल्ला टूट गया। बवाल व तोड़फोड़ करने वाले वकील 15-20 मिनट में वहां से गायब हो गए।
दो घंटे बाद पहुंचे अधिकारी ः घटना के दो घंटे बाद अधिकारी तहसील पहुंचे तब पुलिस बुलाई गई। इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। कर्मचारियों के मुताबिक घटना के वक्त वहां तहसीलदार मौजूद नहीं थे। दो नायब तहसीलदार अपने कक्ष में मौजूद थे। उनमें से एक घटना के दौरान वहां से चलते बने और दूसरे अपने कक्ष से बाहर ही नहीं निकले। दोपहर बाद ढाई बजे तहसीलदार जेपी यादव तहसील पहुंचे और उसके बाद एसडीएम व अन्य अधिकारी। एसडीएम ने भीड़ नियंत्रण के लिए पहले के निर्देशों के बावजूद तहसील में पुलिसकर्मियों की उपस्थिति न होने को लेकर स्थानीय चौकी प्रभारी को फटकार लगाई।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

ग्रेटर नोएडा बॉक्सर हत्याकांड : मीट कारोबारी ने प्रेमिका से कराई जितेन्द्र मान की हत्या

ग्रेटर नोएडा में पिछले दिनों हुई अंतर्राष्ट्रीय बॉक्सर की हत्या के मामले में खुलासा हुआ है। खबर के मुताबिक मीट कारोबारी ने प्रेमिका से बॉक्सर जितेन्द्र मान की हत्या कराई थी।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper