विज्ञापन
विज्ञापन

पीके भवन से बीएसएनएल कर्मी कूदा, मौत

Lucknow Updated Fri, 31 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
लखनऊ। हजरतगंज में बृहस्पतिवार शाम गोखले मार्ग स्थित पीके भवन की छत से कूदने से बीएसएनएल कर्मी सरफराज आलम (57) की मौके पर ही मौत हो गई। फर्श पर सरफराज का खून से लथपथ शव देखकर पीके भवन में हड़कंप मच गया। सूचना पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस इसे आत्महत्या बता रही है जबकि भाई व पत्नी ने इससे इनकार करते हुए मामले की जांच की मांग की है। पुलिस सहकर्मियों और घर वालों से पूछताछ कर रही है। गोखले मार्ग स्थित पीके भवन में शाम करीब सवा चार बजे अचानक किसी के फर्श पर गिरने की आवाज सुनाई दी। बिल्डिंग के गार्ड रामदीन व आनंद प्रकाश सिंह समेत मौके पर भीड़ लग गई। सूचना पर हजरतगंज पुलिस ने घटना स्थल का मौका मुआयना कर शव को कब्जे में ले लिया। पुलिस पूछताछ कर किसी नतीजे पर पहुंचती इससे पहले ही गार्ड समेत सारी भीड़ गायब हो गई। जो लोग मौजूद भी थे, वह कुछ न जानने की बात कहकर निकल लिये। जामा तलाशी में पुलिस ने पेंट की जेब से पैन कार्ड, स्वास्थ्य बीमा कार्ड व परिचय पत्र बरामद किया। इससे मृतक की शिनाख्त बीएसएनएल के लेखा विभाग में सीनियर सेक्शन ऑपरेटिंग अफसर सरफराज आलम के रूप में हुई। पुलिस ने कार्ड पर मिले फोन नंबर से इंदिरानगर के ए-ब्लॉक 907/1 निवासी सरफराज के भाई शम्स आलम को घटना की जानकारी दी और शव सिविल अस्पताल भेज दिया। शम्स ने बताया कि, सरफराज बुजदिल नहीं थे। वह कभी आत्महत्या करने की बात सोच नहीं सकते। जबकि पुलिस का कहना है कि बीएसएनएल ऑफिस में पूछताछ के दौरान पता चला कि सरफराज अवसाद से गुजर रहे थे। मगर, वह बहुत अच्छे स्वभाव के थे। हमेशा टाइम पर ऑफिस आते और जाते थे। वह रोजमर्रा की तरह गुरुवार सुबह साढ़े नौ बजे सीटीओ ऑफिस आ गये थे। अपराह्न तीन बजे तक वह ऑफिस में मौजूद रहे। उसके बाद वह नहीं दिखाई पड़े। पुलिस का कहना है कि, सरफराज ने पीके भवन की छत से कूदकर जान दी है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। रिपोर्ट आने पर मौत की वजह स्पष्ट हो जाएगी। सरफाराज के तीन बेटे फहाद, शादाब व शावेज हैं। पुलिस घर के सदस्यों से पूछताछ कर रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
पीके भवन कैसे पहुंचे सरफराज ः सरफराज सीटीओ हजरतगंज ऑफिस से पीके भवन कैसे पहुंचे, इसपर रहस्य बना हुआ है। पुलिस इसकी छानबीन कर रही है। सहकर्मियों की मानें तो सरफराज तीन बजे तक सीटीओ ऑफिस हजरतगंज में मौजूद थे। उसके बाद वह ऑफिस में नहीं दिखे। फिर सवा चार बजे पीके भवन में उनके छत से कूदने की खबर मिली। आखिर सरफराज वहां क्या करने गए? वह अकेले थे या फिर किसी के साथ थे। पीके भवन के गार्ड व वहां मौजूद लोग उनके बिल्डिंग मेें आने की जानकारी से इनकार कर रहे हैं। हालांकि पुलिस का कहना है कि, सरफराज जिंदगी से बुरी तरह हताश थे। उन्होंने अपनी जिंदगी का फैसला कर लिया था। पुलिस का मानना है कि वे आत्महत्या के लिये ही वहां आये। दरअसल, सरफराज ने पीके भवन में बीएसएनएल ऑफिस रहने के दौरान लंबे समय तक नौकरी की थी और बिल्डिंग से पूर्ण रूप सेे परिचित थे। उन्हें मालूम था कि बिल्डिंग सुनसान होने के साथ उन्हें कोई रोकेगा नहीं। फिलहाल, पुलिस मामले की जांच कर रही है।
परिवार में मचा कोहराम ः सरफराज की मौत की खबर सुनकर परिवार में कोहराम मच गया। आनन-फानन में लोग सिविल अस्पताल पहुंचे। खून से लथपथ सरफराज की लाश देखकर पत्नी बेहोश होकर गिर पड़ी। परिवार के अन्य सदस्यों ने उन्हें संभाला। पत्नी व परिवार के सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल है। बमुश्किल पुलिस ने उन्हें चुप कराया। सरफराज के भाई शम्स का कहना है कि उनका भाई बुजदिल नहीं था। वह आत्महत्या कभी नहीं कर सकता। पुलिस ने मामले के जांच का आश्वासन देकर उन्हें शांत कराया।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Gorakhpur

मतदान के प्रति जागरूकता के लिए यहां स्टिकर लगा गैस सिलेंडर पहुंचेगा

मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन मुस्तैद हो गया है। इसीलिए अब सभी गैस उपभोक्ताओं के यहां स्टिकर लगा गैस सिलेंडर पहुंचेगा।

23 अप्रैल 2019

विज्ञापन

अलीगढ़ के रोडवेज दफ्तर में छलके जाम, वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अलीगढ़ डिपो में कर्मचारियों के शराब पीने का वीडियो हुआ वायरल। देखें वीडियो।

21 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election