चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने की राह हुई आसान

Lucknow Updated Mon, 20 Aug 2012 12:00 PM IST
लखनऊ। स्नातक के बाद चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने की राह अब पहले से आसान होगी। अच्छे नंबर पाने वाले स्नातक अभ्यर्थियों को बिना कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट (सीपीटी) में बैठे बिना ही सीए में दाखिला मिल सकेगा। आईसीएआई के इस संदर्भ में तैयार किए गए प्रस्ताव को केंद्र ने हरी झंडी दे दी है। यह जानकारी द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) के वाइस प्रेसीडेंट सुबोध अग्रवाल ने दी। वह आईसीएआई की ओर से आयोजित सेकेंड नेशनल कन्वेंशन फॉर सीए स्टूडेंट्स में भाग लेने के लिए रविवार को राजधानी में थे। सुबोध अग्रवाल ने बताया कि इस नई व्यवस्था के तहत निर्धारित अंकों के साथ स्नातक करने वाले स्टूडेंट्स सीधे दाखिला ले सकते हैं। यह व्यवस्था एक अगस्त से लागू कर दी गई है। मई 2013 में होने वाले इंट्रीग्रेटेड प्रोफशनल कंपटीशन एग्जाम में भाग लेने के लिए जल्द ही शुरू होने वाली दाखिले की प्रक्रिया में स्टूडेंट्स को काफी लाभ मिलेगा। चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए अभी अभ्यर्थियों को कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट (सीपीटी) ने गुजरना होता है। अभ्यर्थी यह टेस्ट 12वीें के बाद ही दे सकते हैं। सीपीटी पास करने के बाद अभ्यर्थी का दाखिला आईपीसीई (इंट्रीग्रेटेड प्रोफेशनल कंपटीशन एग्जाम) होता है। इसे क्वालीफाई करने के बाद अभ्यर्थी की ट्रेनिंग शुरू हो जाती है। तीन वर्ष की ट्रेनिंग के बाद अभ्यर्थी फाइनल ईयर का एग्जाम देता है जिसमें सफल होने पर उसका सीए के रूप में रजिस्ट्रेशन होता है। मौजूदा व्यवस्था में स्नातक उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को भी आईपीसीई तक पहुंचने के लिए सीपीटी से ही गुजरना होता है। सुबोध अग्रवाल ने बताया कि सीधे दाखिले का लाभ पाने के लिए स्नातक में कॉमर्स अभ्यर्थियों को 55 फीसदी एवं नॉन-कामर्स ग्रेजुएट के लिए न्यूनतम 60 फीसदी अंक पाना अनिवार्य कर दिया है। उन्होंने बताया कि अभी तक करीब 10 लाख स्टूडेंट्स आईसीएआई से जुड़ा हुआ है। हर साल 1.25 लाख स्टूडेंट्स इससे जुड़ रहे हैं। उनकी मानें तो नई व्यवस्था से 20 से 30 हजार स्टूडेंट्स को आईसीएआई से जुड़ने का अवसर प्राप्त होगा। उनकी मानें तो इसका सबसे बड़ा फायदा दूर-दराज के क्षेत्रों में रहने वाले युवाओं को मिलेगा। उन्होंने बताया कि स्नातक के अंतिम वर्ष में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स भी इसका लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए अभ्यर्थी को रजिस्ट्रेशन के छह महीने के भीतर निर्धारित अंकों के साथ स्नातक पास करना का प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा।
सरकार की ओर बढ़ाया मदद का हाथ ः सरकारी योजनाओं के खातों में गड़बड़ी कर की जा रही करोड़ों रुपये की हेराफेरी रोकने के लिए आईसीएआई ने प्रदेश सरकार की ओर मदद का हाथ बढ़ाया गया है। इसके तहत आईसीएआई प्रदेश सरकार के बजट बनाने से लेकर अन्य योजनाओं के संचालन से संबंधित वित्तीय मामलों पर सभी प्रकार की मदद प्रदान करने की पेशकश की है। सुबोध अग्रवाल ने बताया कि आईसीएआई की ओर से दिल्ली, केरल, कोलकाता समेत देश के 15 से ज्यादा राज्यों में इसका सफल संचालन किया जा रहा है। यहां आईसीएआई के सीए सरकारी विभागों के बहीखातों में हो रही गड़बड़ियों को रोकने में काफी मददगार साबित हो रहे हैं। इसके साथ ही आईसीएआई ने सरकार से फाइनेंस के क्षेत्र में क्षमता निर्माण के उद्देश्य से ट्रेनिंग प्रोग्राम भी चलाने की पेशकश की गई है। सुबोध अग्रवाल ने बताया कि सरकारी अधिकारियों को वित्तीय अनियमितताएं रोकने के लिए विशेष ट्रेनिंग प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं। जहां, सीए अधिकारियों को बाही खातों की बारीकियों के साथ ही उनमें होने वाले संभावित हेराफेरी के तरीकों से भी अवगत कराते हैं। उन्होंने बताया कि असम, मेघालय, मिजोरम, तमिलनाडू समेत देश के कई राज्यों में ये ट्रेनिंग प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं। यहां से मिले नतीजे भी काफी संतोषजनक हैं। इसी तर्ज पर आईसीएआई ने उत्तर प्रदेश में भी ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू करने के लिए प्रदेश सरकार को प्रस्ताव भेजने की तैयारी कर रहा है।
सॉफ्ट और टेक्नीकल स्किल्स के लिए नए प्रोग्राम ः सीए स्टूडेंट्स की सॉफ्ट स्किल्स के डवलपमेंट के लिए आईसीएआई की ओर से पाठ्यक्रम में काफी बदलाव किया गया है। आईसीएआई बोर्ड ऑफ स्टडीज के चैयरमेन सीए नीलेश एस. विक्रमसे ने कहा कि चार्टर्ड अकाउंटेंट्स के लिए टेक्नीकल स्किल्स बहुत जरूरी है, लेकिन यह काफी नहीं हैं। इसको ध्यान में रखते हुए आईसीएआई की ओर से सॉफ्ट स्किल्स प्रमोशन के लिए 15-15 दिन के दो स्पेशल सेशन पाठ्यक्रम में जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि इन स्पेशल सेशन के माध्यम से सीए स्टूडेंट्स की लेखन क्षमता, मौखिक, प्रस्तुति करण आदि क्षमताओं पर फोकस किया जाएगा। साथ ही, स्टूडेंट्स की तकनीकी क्षमताओं के विकास के लिए 60 दिनों का स्पेशल आईटी प्रोग्राम भी शामिल किया गया है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Jammu

J&K: सेना ने टंगधार सेक्टर में किया बैट हमले को नाकाम, 3 घंटे तक हुई गोलाबारी

कश्मीर के सीमावर्ती जिले कुपवाड़ा के टंगधार सेक्टर में भारतीय सेना ने पाकिस्तान के बैट हमले को नाकाम कर दिया। इस दौरान पाकिस्तानी सेना ने आतंकियों की मदद के लिए कवर फायरिंग भी की।

23 फरवरी 2018

Related Videos

तो इस वजह से ग्रामीणों में मच गया हड़कंप

सोनभद्र के घोरावल में दो मगरमच्छ के नदी से बाहर आने से हड़कंप मच गया। ये दोनों मगरमच्छ बकहर नदी के किनारे आ गए थे।

23 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen