खदरा में बीमारी फैलने के पूरे इंतजाम

Lucknow Updated Mon, 13 Aug 2012 12:00 PM IST
लखनऊ। खदरा के निरीक्षण पर पहुंचे सीएमओ रामलीला मैदान और फैजुल्लागंज में फैली गंदगी देख नगर निगम अधिकारियों पर जमकर बरसे। सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही जल निगम के अधिकारियों को हैंडपंप का पानी जांचने और पाइप लाइन से हो रही आपूर्ति में क्लोरीनेशन सुधारने को कहा।
सीएमओ डॉ. एसएनएन यादव रविवार को खदरा पहुंचे। गंदगी के चलते खदरा में जबतब संक्रामक रोग फैलते रहते हैं। फैजुल्लागंज के हालात भी कुछ ऐसे ही हैं। रामलीला मैदान पहुंचने पर सीएमओ को गंदगी और कूड़ा फैला मिला। बदहाली देख नगर निगम और जल निगम के अधिकारियों को तलब कर सफाई के निर्देश दिए। हैंडपंप से खराब पानी आने की शिकायत मिलने पर जल निगम अधिकारी को जांच के निर्देश दिए। 60 फिटा रोड पर पानी की आपूर्ति न होने से लोगों में गुस्सा था। रामलीला मैदान के अलावा, रूपपुर, शिवपुर सहित खदरा के अधिकतर हिस्से में गंदगी फैली मिली। जाम नालियों का गंदा पानी सड़कों पर बह रहा था। सीएमओ ने बताया कि इलाके में रोग फैलने के पूरे इंतजाम दिखे। नगर निगम के अधिकारियों से तत्काल सफाई कराने को कहा गया है। मौके पर फैजुल्लागंज हेल्थ सेंटर के चिकित्सक को बुलाया मरीजों की जानकारी भी मांगी गई। पता चला कि मौसमी बीमारियों, फुंसी और बुखार के मरीज ही आ रहे हैं।

बीकेटी में नहीं मिला चिकित्सकः खदरा के बाद सीएमओ डॉ.एस.एन.एस.यादव बख्शी का तालाब सामुदायिक केंद्र पहुंचे। केंद्र पर इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात डॉ. प्रदीप नलवा नदारद थे। इस पर उन्होंने सीएचसी प्रभारी डॉ. ए.के. दीक्षित को कॉल कर डॉ.नलवा को रिलीव करने और खुद ड्यूटी करने के निर्देश दिए। साथ ही इमरजेंसी ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले डॉक्टरों पर कड़ी कार्रवाई करने के लिए कहा। इटौंजा सीएचसी पर व्यवस्था दुरुस्त मिली।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देखिए, कैसे 'राम भरोसे' आपकी रखवाली करते हैं यूपी के ये पहरेदार

जिनके भरोसे आप अपना घर छोड़ते हैं। जिनके भरोसे बड़ी-बड़ी कंपनियां होती हैं। जो दिन-रात एटीएम के बाहर लाखों रुपए की सुरक्षा करते हैं। वो खुद कितने सुरक्षित हैं। आइए इस पड़ताल में हमारे साथ और देखिए सेक्युरिटी गार्ड्स की सुरक्षा की इनसाइड स्टोरी।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls