जिला अदालत का सुरक्षा घेरा होगा सख्त

Lucknow Updated Mon, 13 Aug 2012 12:00 PM IST
लखनऊ। जिला अदालत का सुरक्षा घेरा सख्त होगा। बिना पास के किसी को भी एंट्री नहीं मिल पाएगी। अदालत परिसर में दाखिल होने वाले हर व्यक्ति की निगरानी होगी। गेटों पर सीसीटीवी कैमरे नजर रखेंगे तो अंदर पुलिसकर्मी संदिग्धों की जांच-पड़ताल करेंगे। परिसर में वकीलों व कर्मचारियों का प्रवेश परिचय पत्र से होगा। वह अपने वाहन अंदर नहीं ले जा सकेंगे। उनके वाहनों को बाहर ही पार्क किए जाने की व्यवस्था की जाएगी। परिसर में दो दिन पूर्व नकली बम मिलने की घटना के बाद रविवार दोपहर सत्र न्यायालय का निरीक्षण करने पहुंचे इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश अमिताव लाला ने सुरक्षा इंतजामों के मसौदे को अपनी मंजूरी दी।
जिला अदालत की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मुख्य न्यायाधीश ने सत्र न्यायाधीश केके शर्मा सहित अन्य न्यायिक अधिकारियों के साथ करीब आधा घंटे तक बैठक में चर्चा की। इसके बाद सुरक्षा इंतजामों को अंतिम रूप दिया गया। मुख्य न्यायाधीश की बैठक के बाद नजारत प्रभारी जीपी तिवारी ने बताया कि जिला अदालत परिसर में प्रवेश के लिए पास की व्यवस्था की जाएगी। वकील व न्यायालयों के कर्मचारियों को परिचय पत्र से प्रवेश मिलेगा। बाहरी व्यक्तियों को एंट्री पास से होगी। अवांछित व्यक्तियों का प्रवेश रोकने व निगरानी के लिए जिला अदालत परिसर में 100 सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। परिसर के सभी प्रवेश द्वार पर सुरक्षा घेरा मजबूत करने के लिए सीसीटीवी कैमरों के साथ ही सशस्त्र पुलिस बल की तैनाती की जाएगी। परिसर में प्रवेश करने वालों को डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर (डीएफएमडी) से गुजरना होगा। परिसर में भी जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे नजर रखेंगे। साथ में पुलिसकर्मी भी तैनात किए जाएंगे जो परिसर में संदिग्ध व्यक्तियों की जांच-पड़ताल करेंगे। न्यायालय परिसर में वाहनों का प्रवेश रोका जाएगा। परिसर के बाहर पार्किंग की व्यवस्था दुरुस्त की जाएगी। उन्होंने बताया कि वकीलों व न्यायालय कर्मचारियों के वाहनों के लिए विशेष टोकन देने की व्यवस्था पर भी चर्चा हुई। परिसर व उसकी चहारदीवारी से लगे अतिक्रमण हटाए जाने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में लखनऊ हाईकोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश उमानाथ सिंह, जिला जज केके शर्मा, एडीजे जीपी तिवारी, सीजेएम राजेश उपाध्याय व अन्य न्यायिक अधिकारी मौजूद थे।
डीएम व एसएसपी भी पहुंचे
मुख्य न्यायाधीश के पहुंचने के 15 मिनट बाद उनसे मिलने डीएम अनुराग यादव व एसएसपी आरके चतुर्वेदी भी पहुंचे। न्यायिक अधिकारियों ने उन्हें अदालत परिसर में की जाने वाली सुरक्षा व्यवस्था के बारे में बताया।
मौका मुआयना किया
सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने मुख्य न्यायाधीश रविवार दोपहर एक बजे परिसर पहुंचे। अदालत के मुख्य द्वार पर उन्हें पुलिस गारद ने सलामी दी। वरिष्ठ न्यायाधीश उमानाथ सिंह ने उनका स्वागत किया। मुख्य न्यायाधीश ने उस स्थान का मुआयना किया जहां नकली बम मिला था। वहां से सीधे जिला न्यायाधीश के कक्ष पहुंचे और न्यायिक अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में जिला अदालत के न्यायिक अधिकारियों ने सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैयार किया गया खाका और उस पर पालन के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए गए निर्देशों के बारे में उन्हें अवगत कराया।
सूचना न देने पर वकील नाराज, 13 व 14 को करेंगे कार्य बहिष्कार
लखनऊ। इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश अमिताव लाला के जिला अदालत आने की सूचना न दिए जाने को लेकर सेंट्रल बार एसोसिएशन व लखनऊ बार एसोसिएशन ने निंदा की है। दोनों बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने आपात बैठक कर विरोध स्वरूप 13 व 14 अगस्त को न्यायिक कार्य के बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। सेंट्रल बार एसोसिएशन के महासचिव अरविंद कुमार कुशवाहा और लखनऊ बार एसोसिएशन के महासचिव जीएन शुक्ला ने संयुक्त बयान में कहा कि प्रभारी मुख्य न्यायाधीश के आगमन व अदालत निरीक्षण की सूचना जिला जज द्वारा गोपनीय रखी गई। जबकि यह सूचना दोनों बार एसोसिएशन को दी जानी चाहिए थी। सेंट्रल बार एसोसिएशन के सभागार में अरविंद कुमार कुशवाहा और मनोज कुमार शर्मा की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में दोनों बार एसोसिएशन के कई पदाधिकारी शामिल हुए।
लग गए चार सीसीटीवी कैमरे
अदालत की सुरक्षा व आसपास की अव्यवस्था को लेकर न्यायिक अधिकारियों के गंभीर रुख का असर रविवार को परिसर से लेकर बाहर तक दिखाई देने लगा। रविवार को चारों गेटों पर एक-एक सीसीटीवी कैमरे लगाकर उन्हें चालू कर दिया गया। जिला न्यायाधीश के न्यायालय की ऊपरी मंजिल में एक कंट्रोल रूम बनाया जा रहा है जहां से सीसीटीवी कैमरों का संचालन होगा।
...और साफ हो गया कूड़ा
नकली बम मिलने के बाद जिला न्यायाधीश ने संबंधित अधिकारियों को सुरक्षा व साफ-सफाई, अतिक्रिमण के संबंध में कार्रवाई करने केनिर्देश दिए थे। रविवार को मुख्य न्यायाधीश के निरीक्षण से पहले नगर निगम ने जिला अदालत के सामने का रोड की सफाई करके चमाचम कर दिया। कूड़ा दिखाई नहीं पड़ रहा था। हाई कोर्ट से लेकर जिला अदालत परिसर से लेकर बाहर की सभी सड़कें पूरी साफ हो चुकी थीं। कूड़े से पटी नालियाें की भी सफाई सुबह ही पूरी हो गई। रोड के दोनों किनारों से लेकर पार्किंग स्थल तक चूने का छिड़काव किया गया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

आत्महत्या करने से पहले युवती ने फेसबुक पर अपलोड की VIDEO, देखिए

कानपुर के पांडुनगर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिसमें एक महिला ने फेसबुक पर एक वीडियो जारी कर आत्महत्या कर ली। वजह जानने के लिए देखिए, ये रिपोर्ट।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper