विज्ञापन
विज्ञापन

डाटा चोरी के लिए Face App तो यूं ही बदनाम है, गूगल के पास तो आपकी पूरी कुंडली है

टेक डेस्क, अमर उजाला Updated Sat, 20 Jul 2019 04:14 PM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : social media
ख़बर सुनें
कुछ सालों पहले तक डिजिटल डाटा को लेकर बवाल नहीं हो रहा था। किसी को शायद ही इस बात से फर्क पड़ता था कि उसके फोन नंबर, ई-मेल आईडी जैसी जानकारियां किसी मार्केटिंग कंपनी के पास है, लेकिन अब ऐसा नहीं है। लोग अपनी निजी जानकारी को लेकर जागरूक हो गए हैं। अभी हाल ही में एक फोटो एडिटिंग एप वायरल हुआ है जिसका नाम फेस एप है। फेस एप जितनी तेजी से वायरल हुआ, उतनी ही तेजी से डाटा सिक्योरिटी को लेकर सवाल उठने लगे। एक अमेरिकी सांसद ने एफबीआई से इसकी जांच भी करवाने की मांग कर दी है, लेकिन यदि आप थोड़ा ठहरकर देखें तो फेस एप और आपको फोन में मौजूद अन्य एप में कोई खास अंतर नहीं है। आइए जानते हैं कैसे?
विज्ञापन
ये भी पढ़ेंः Face App की मदद से 18 साल बाद मिला बच्चा, तीन साल की उम्र में हुआ था किडनैप

दरअसल जब भी किसी एप को आप अपने फोन में इंस्टॉल करते हैं तो उसकी कुछ शर्तें होती हैं और उन शर्तों को बिना पढ़े आप उस एप को फोन में इंस्टॉल करते हैं और उस एप को तमाम तरह के एक्सेस देते हैं। चलिए इसे एक उदाहरण से समझते हैं और शुरुआत स्नैपचैट से करते हैं। यह एप एंड्रॉयड और आईफोन दोनों के लिए है। इस एप की शर्तों की बात करें तो आप कंपनी को अपनी फोटो को इस्तेमाल करने की स्थायी, रॉयल्टी फ्री अधिकार देते हैं।

अब बात फेस एप की करें तो यह एप महज दो साल पुराना है और इसे रूस की वायरलेस लैब ने तैयार किया है। यह एप आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एप की मदद से यूजर्स के भविष्य (बुढ़ापे) की तस्वीर बनाता है। पिछले सप्ताह से ही इस एप की दीवानगी सिर चढ़कर बोल रही है और सोशल मीडिया पर #FaceAppChallenge चल रहा है। साइबर लॉयर आशिता रिगिडी का कहना है कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि फेस एप यूजर्स के डाटा का गलत इस्तेमाल करता है। यह सब सिर्फ एक अफवाह है। दरअसल कंपनी ने प्राइवेसी पॉलिसी को गंभीरता से नहीं लिया है।

ये भी पढ़ेंः ये भी पढ़ेंः Face App की मदद से 18 साल बाद मिला बच्चा, तीन साल की उम्र में हुआ था किडनैप

वहीं जहां तक डाटा स्टोर करने और उसे इस्तेमाल करने की बात है तो ऐसा तमाम कंपनियां करती हैं, हालांकि फेस एप की शर्तों से यह बात गायब है कि यदि कोई यूजर अपना अकाउंट डिलीट करता है तो उसका डाटा भी डिलीट हो जाएगा। आशिता ने यह भी कहा कि फेस एप ने यूरोपियन यूनियन की जेनरल डाटा प्रोटेक्शन रेग्युलेशन एंड डाटा प्रोटेक्शन बिल का उल्लंघन किया है, क्योंकि फेस एप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में उपयोग की शर्तों का जिक्र साफ शब्दों में नहीं किया है।
विज्ञापन

Recommended

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय
Invertis university

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all Tech News in Hindi related to live news update of latest mobile reviews apps, tablets etc. Stay updated with us for all breaking news from Tech and more Hindi News.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Gadgets

Apple Watch Series 5 की प्री-बुकिंग शुरू, 27 सितंबर से खरीद सकेंगे

एपल ने आईफोन 11 के बाद वॉच सीरीज 5 की प्री-बुकिंग शुरू कर दी है। अब ग्राहक अपनी पसंद के वेरियंट को प्री-बुक कर सकेंगे।

21 सितंबर 2019

विज्ञापन

रानू के बाद मोहम्मद रफी की आवाज में बुजुर्ग का गाना वायरल

स्वर कोकिला लता मंगेशकर का गाना गाकर रानू मंडल आज मशहूर हो गई हैं। अब बारी है मोहम्मद रफी की। सोशल मीडिया पर दो बुजुर्गों के वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें वो मोहम्मद रफी की तरह गाना गा रहे हैं।

21 सितंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree