तीसरे विश्च युद्ध के लिए आधुनिक हथियार हुए तैयार?

waseem ansari Updated Mon, 26 May 2014 08:57 AM IST
'Killer robots': Are they really inevitable
झाड़-झंखाड़ के बीच एक रोबोट टैंक अपने 'कैटरपिलर ट्रैक्स' पर तेज़ी से जा रहा है। अचानक वह रुकता है और उसकी मशीनगन कमाल की सटीकता से गोलियां दागती है।
यह किसी साइंस फ़िक्शन फ़िल्म का हिस्सा लग सकता है लेकिन दरअसल यह एक रोबोट का वीडियो है जिसका परीक्षण अमरीकी सेना कर रही है।

यह सिर्फ़ एक उदाहरण है कि कैसे कल की साइंस फ़िक्शन फ़िल्मों की कल्पना आज युद्ध के मैदान में हक़ीक़त में बदल सकती है।

यह छोटा सा टैंक, जो सिर्फ़ एक मीटर लंबा है और जिसे उत्तरी अमरीका की क्विनेटिग कंपनी ने बनाया है उन मानवविहीन वाहनों में एक है जिन्हें समुद्र, धरती और हवा में दुनिया भर की सेनाएं इस्तेमाल कर रही हैं।

आज 90 से ज़्यादा देश ऐसे सिस्टम्स को इस्तेमाल कर रहे हैं और शोध कंपनी आईएचएस के अनुसार 2014-23 तक यह उद्योग 57.32 ख़रब रुपए का हो जाएगा।

आईएचएस के डेरिक मैपल कहते हैं, "अमरीका इसका मुख्य बाज़ार और मुख्य खिलाड़ी है लेकिन बहुत से देश मानवरहित सिस्टम की क्षमताएं विकसित कर रहे हैं।"
आगे पढ़ें

हार्पी ड्रोन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all Tech News in Hindi related to live update of latest mobile reviews apps, tablets etc. Stay updated with us for all breaking hindi news from Tech and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Tech Diary

आपके पास है इस कंपनी का फोन तो बेच दीजिए, खुफिया एजेंसियों ने किया है मना

खुफिया एजेंसियों का कहना है कि Huawei समेत चीन की कई स्मार्टफोन कंपनियां अपने फोन के जरिए जासूसी कर रही हैं और इनके स्मार्टफोन से साइबर सिक्योरिटी खतरे में है।

17 फरवरी 2018

Related Videos

वैलेंटाइन से पहले WhatsApp का तोहफा, Live हो सकता है UPI पेमेंट फीचर

वैलेंटाइन के मौके पर WhatsApp अपने यूजर्स को खास गिफ्ट देने की तैयारी में है।

29 जनवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen