भारती एयरटेल व टेलीनॉर इंडिया के विलय को मंजूरी

टेक डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 14 May 2018 05:06 PM IST
Bharti Airtel and Telenor
Bharti Airtel and Telenor
ख़बर सुनें
केंद्रीय दूरसंचार विभाग ने सोमवार को टेलीनॉर इंडिया का भारती एयरटेल में विलय को मंजूरी दे दी। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दूरसंचार विभाग ने सोमवार सुबह टेलीनॉर इंडिया का भारती एयरटेल के साथ विलय को मंजूरी दे दी।
उल्लेखनीय है कि सर्वोच्च न्यायालय ने पिछले सप्ताह कंपनियों को लगभग 1,700 करोड़ रुपये की सिक्योरिटी डिपॉजिट जमा करने का निर्देश देने को लेकर दाखिल की गई दूरसंचार विभाग की याचिका को खारिज कर दिया था और विलय को मंजूरी देने का निर्देश दिया था।


बता दें कि पिछले साल ही दोनों कंपनियों के बीच विलय पर सहमति हो गई थी। एयरटेल ने कहा था कि उसने नार्वे की इस बड़ी कंपनी के अधिग्रहण के लिए 'निश्चित समझौते' के तहत डील की है।


समझौते के तहत टेलिनॉर इंडिया का सारी संपत्ति और ग्राहक एयरटेल को मिलेंगे। टेलीनॉर के पास आंध्र प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, गुजरात और असम समेत पुर्वी व पश्चिमी यूपी के 44 मिलियन उपभोक्ता हैं। 

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all Tech News in Hindi related to live update of latest mobile reviews apps, tablets etc. Stay updated with us for all breaking hindi news from Tech and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Tech Diary

अपने नाम पर ले सकेंगे 18 मोबाइल नंबर, सिम कार्ड की भी नहीं होगी जरूरत

दरअसल सरकार ने ई-सिम को मंजूरी दे दी है। इसके बाद फिजिकल सिम के बदले सॉफ्टवेयर आधारित सिम का इस्तेमाल होगा। दूरसंचार विभाग ने इस संबंध में गाइडलाइंस भी जारी कर दी है जिसके मुताबिक अब एक शख्स अपने नाम पर 18 कनेक्शन ले सकता है।

22 मई 2018

Related Videos

वैलेंटाइन से पहले WhatsApp का तोहफा, Live हो सकता है UPI पेमेंट फीचर

वैलेंटाइन के मौके पर WhatsApp अपने यूजर्स को खास गिफ्ट देने की तैयारी में है।

29 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen