विज्ञापन
अपनी स्थापना के 100 वर्ष पूरे करने जा रहा उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपीएमएसपी (UPMSP) सिर्फ देश का नहीं है दुनिया का सबसे बड़ा शिक्षा बोर्ड है। यह साल 2021 यूपी बोर्ड (UP Board) का शताब्दी वर्ष भी है। लेकिन इस बार सत्र 2020-2021 की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द करनी पड़ी है। इसका अहम कारण रहा है वैश्विक संक्रामक महामारी कोविड-19 का भयावह प्रकोप, जिसने करोड़ों लोगों को अपनी जद में लपेटा और देश में लाखों लोगों की जान लील ली। कोविड-19 महामारी के कारण इस साल परीक्षाएं रद्द होने पर माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से सत्र 2020-2021 के लिए यूपी बोर्ड की मूल्यांकन प्रक्रिया में बदलाव और रिजल्ट की प्रक्रिया में कुछ नवाचार भी किए गए। इनसे 10वीं कक्षा के करीब 30 लाख और कक्षा 12वीं के करीब 26 लाख छात्र लाभान्वित हुए। हालांकि, बाद में असंतुष्ट छात्रों के लिए अंक सुधार परीक्षाओं का आयोजन भी किया गया। इसके तहत 18 सितंबर से 06 अक्तूबर, 2021 तक 79,286 छात्रों की इंप्रूवमेंट एग्जाम कराने का आदेश दिया गया था। कक्षा 10वीं की अंक सुधार परीक्षा 4 अक्तूबर और 12वीं की 06 अक्तूबर तक जारी रहेगी।
विज्ञापन
तैयारी: इस करवाचौथ सुहागिनों के श्रृंगार को मिले सोने की दमक, तनिष्क के खूबसूरत उत्साह कलेक्शन के साथ
Advertorial

तैयारी: इस करवाचौथ सुहागिनों के श्रृंगार को मिले सोने की दमक, तनिष्क के खूबसूरत उत्साह कलेक्शन के साथ

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00