विज्ञापन
Kumbh Mela Kumbh Mela

हरिद्वार कुंभ 2021

भारतीय संस्कृति और आस्था के महापर्व कुंभ मेले का आयोजन देश के 4 प्रमुख शहरों हरिद्वार, प्रयाग, नासिक और उज्जैन में किया जाता है। कुंभ मेले में साधु-संतों से जुड़े 13 अखाड़ों की पेशवाई और पावन तिथियों पर शाही स्नान इस महामेले को और दिव्य और भव्य बनाता है।

आस्था के महामेले कुंभ में जब शंकराचार्य की सेना अपने आराध्य संग डुबकी लगाने पहुंचती है तो कुंभ मेले की रौनक बढ़ जाती है। दीन-दुनिया से अमूमन दूर तप-साधना में लीन रहने वाले नागा साधुओं का जीवन एक आम आदमी के मुकाबले कितना कठिन होता है, इस मेले में पहुंचने पर अनुभव होता है।

संगम तीरे रोशनी से नहाई हुई पंडालों की नगरी और घंटा-घड़ियालों के साथ गूंजते वैदिक मंत्र और धूप-दीप की सुगंध आपको अनयास अपने ओर खींच लाएगी। दुनिया के सबसे बड़े कुंभ मेले जैसा धार्मिक-आध्यात्मिक अनुभव शायद ही कहीं मिले।

तीरथ में मनोरथ की चाह लिए, बगैर किसी निमंत्रण के श्रद्धालु गठरी-मुठरी बांधे संगमतट पहुंचता है और आस्था डुबकी लगाकर वापस लौट जाता है। बोलियां, पहनावा और खान-पान अलग-अलग होने के बावजूद उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ एक पुण्य की डुबकी होती है।

स्नान कार्यक्रम

मुख्य स्नान
14 जनवरी मकर संक्रांति पर
पहला शाही स्नान
11 मार्च को महाशिवरात्रि पर्व पर
दूसरा शाही स्नान
12 अप्रैल को सोमवती अमावस्या पर
तीसरा शाही स्नान
14 अप्रैल को बैसाखी मेष पूर्णिमा पर
चौथा शाही स्नान
 27 अप्रैल को चैत्र पूर्णिमा पर
विज्ञापन
विज्ञापन
Black Widows On ZEE5 Review: बिंज वॉच के लिए परफेक्ट मर्डर मिस्ट्री, आखिर तक कहानी छोड़ नहीं पाएंगे
ZEE 5 Black widows

Black Widows On ZEE5 Review: बिंज वॉच के लिए परफेक्ट मर्डर मिस्ट्री, आखिर तक कहानी छोड़ नहीं पाएंगे

व्यापार में सफलता एवं आर्थिक वृद्धि हेतु, पौष पूर्णिमा पर जगन्नाथमंदिर में कराएं विष्णुसहस्रनाम पाठ !
Purnima Special

व्यापार में सफलता एवं आर्थिक वृद्धि हेतु, पौष पूर्णिमा पर जगन्नाथमंदिर में कराएं विष्णुसहस्रनाम पाठ !

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X