लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   Sports ›   Padma Awards 2023: Padma Shri honor to 3 veterans of sports world, former cricketer Gurcharan Singh included

Padma Awards 2023: खेल जगत के तीन दिग्गजों को पद्मश्री सम्मान, पूर्व क्रिकेटर गुरचरण सिंह भी शामिल

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: स्वप्निल शशांक Updated Thu, 26 Jan 2023 12:08 AM IST
सार

इस बार के पुरस्कार वितरण में खेल जगत से जुड़े तीन शख्सियत पद्मश्री से सम्मानित किए जाएंगे। इनमें गुरचरण सिंह, एसआरडी प्रसाद और शानाथोएबा शर्मा शामिल हैं।

गुरचरण सिंह और एसआरडी प्रसाद
गुरचरण सिंह और एसआरडी प्रसाद - फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार

केंद्र सरकार ने पद्म पुरस्कार के विजेताओं की घोषणा कर दी है। इन पुरस्कारों को विभिन्न क्षेत्र के व्यक्तियों को उनके योगदान के लिए दिया जाता है। इस पुरस्कार के तीन भाग हैं- पद्म विभूषण , पद्म भूषण और पद्मश्री। इस बार के पुरस्कार वितरण में खेल जगत से जुड़े तीन शख्सियत पद्मश्री से सम्मानित किए जाएंगे। इनमें पूर्व क्रिकेटर और कोच गुरचरण सिंह, मार्शल आर्ट प्रशिक्षक एसआरडी प्रसाद और थांग-ता के प्रशिक्षक के शानाथोएबा शर्मा शामिल हैं।

गुरचरण सिंह का भारतीय क्रिकेट में योगदान

One year of lockdown: Missing the good-old habit | Sports News,The Indian  Express

गुरचरण सिंह का जन्म 25 मार्च 1935 को हुआ था। वह एक भारतीय क्रिकेट कोच और पूर्व प्रथम श्रेणी क्रिकेटर हैं। उन्होंने 12 अंतरराष्ट्रीय और 100 से अधिक प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों को प्रशिक्षित किया है। 87 साल के गुरचरण द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित होने वाले दूसरे क्रिकेट कोच हैं।

गुरचरण ने 37 प्रथम श्रेणी मैचों में 1198 रन बनाए। इनमें एक शतक और सात अर्धशतक शामिल है। उनका उच्चतम स्कोर 122 रन का रहा है। इसके अलावा 44 विकेट भी लिए हैं। 100 से अधिक प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों के अलावा, उन्होंने मनिंदर सिंह, सुरिंदर खन्ना, कीर्ति आजाद, विवेक राजदान, गुरशरण सिंह, अजय जडेजा, राहुल सांघवी और मुरली कार्तिक सहित 12 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों को प्रशिक्षित किया। 1987 में देश प्रेम आजाद (1986 में सम्मानित) के बाद, वे भारत के सर्वोच्च खेल कोचिंग सम्मान द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित होने वाले दूसरे क्रिकेट कोच बने।

मार्शल आर्ट्स कोच एसआरडी प्रसाद को भी सम्मान

Meet the Malabar warrior Kalarippayattu exponent S.R.D. Prasad Gurukkal -  The Hindu

सिर्फ क्रिकेट ही नहीं, बल्कि भारत की दो प्राचीन और स्थानीय मार्शल आर्ट्स के प्रशिक्षकों को पद्मश्री सम्मान के लिए चुना गया है। केरल के दिग्गज एसआरडी प्रसाद को प्राचीन मार्शल आर्ट्स कलारीपयट्टू को बढ़ावा देने और सैकड़ों लोगों को सिखाने के लिए पद्मश्री से सम्मानित किया जाएगा। उन्हें मार्शल आर्ट्स में योगदान के लिए ही 2016 में संगीत नाटक अकेडमी से भी सम्मानित किया गया था।

केएस शर्मा को भी सम्मान

केएस शर्मा
केएस शर्मा - फोटो : सोशल मीडिया
मणिपुर के स्थानीय मार्शल आर्ट्स 'थांग-ता' के कोच के शानाथोएबा शर्मा को इसे बढ़ावा देने के लिए पद्मश्री से नवाजा जाएगा। थांग-ता एक मशहूर मणिपुरी मार्शल आर्ट्स है, जिसमें मुख्य रूप से तलवार और भालों का इस्तेमाल किया जाता है। केएस शर्मा के मुताबिक, थांग-ता की मदद से ही पूर्वजों ने मणिपुर को विदेशी हमलों से बचाया था।

106 हस्तियों को सम्मान

केंद्र सरकार ने बुधवार को देश के शीर्ष नागरिक सम्मानों का एलान किया। इस बार कुल 106 हस्तियों को सम्मानित किया जाएगा। देश का दूसरा सबसे बड़ा सम्मान पद्म विभूषण इस बार छह दिग्गजों को मिला है। वहीं नौ शख्सियतों को पद्म भूषण से सम्मानित किया जाएगा। इनके अलावा अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़े 91 लोगों को पद्मश्री से नवाजा जाएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

क्षमा करें यह सर्विस उपलब्ध नहीं है कृपया किसी और माध्यम से लॉगिन करने की कोशिश करें

;