विज्ञापन
विज्ञापन

Amarnath Yatra 2019: अमरनाथ गुफा और इसके कुछ रहस्य, जानकर हो जाएंगे हैरान

धर्म डेस्क, अमर उजाला Updated Sat, 29 Jun 2019 03:15 PM IST
अमरनाथ यात्रा 2019
अमरनाथ यात्रा 2019
ख़बर सुनें
भगवान शिव के कई पवित्र धामों में एक धाम अमरनाथ गुफा भी है। अमरनाथ की यह गुफा जम्मू-कश्मीर राज्य में स्थित है। अमरनाथ गुफा में ही भगवान भोले शंकर ने माता पार्वती को अमरत्व की कहानी सुनाई थी। अमरनाथ गुफा में बाबा के दर्शन मात्र से ही जीवन की कई तरह की बाधाओं को व्यक्ति आसानी से पार कर जाता है। 1 जुलाई से अमरनाथ की पवित्र यात्रा शुरू होने जा रही है। इस गुफा में हर साल प्राकृतिक रूप से शिवलिंग का निर्माण होता है जिसके दर्शन करने के लिए देश-विदेश से भोले के भक्त आते हैं। आइए जानते हैं अमरनाथ गुफा का महत्व और इसके कुछ रहस्य....
विज्ञापन
अमरनाथ गुफा का महत्व
मान्यता के अनुसार भगवान शिव ने माता पार्वती को इसी गुफा में बैठकर अमरत्व की कथा सुनाई थी। इस कारण से इस गुफा का इतना महत्व है। इस गुफा में हर साल प्राकृतिक रूप से ठोस बर्फ से शिवलिंग बनता है। शिवलिंग के अलावा पास में ही माता पार्वती और शिवपुत्र भगवान गणेश का भी बर्फ का लिंग बना हुआ होता है।

शिवलिंग और माता का शक्तिपीठ एक साथ
अमरनाथ गुफा में बाबा भोलेनाथ जहां साक्षात विराजमान रहते हैं वहीं देवी सती का महामाया शक्तिपीठ भी है। इस स्थान पर देवी सति का कंठ गिरा था। एक साथ एक ही स्थान पर शिवलिंग और शक्तिपीठ के दर्शन से सभी तरह की मनोकामना की पूर्ति होती है।

इन्होंने खोजी थी गुफा
अमरनाथ गुफा को करीब 500 साल पहले खोजा गया था और इसे खोजने का श्रेय एक मुस्लिम, बूटा मलिक को दिया जाता है। बूटा मलिक के वंशज अभी भी बटकोट नाम की जगह पर रहते हैं और अमरनाथ यात्रा से सीधे जुड़े हैं।

अमरकथा सुनाने से पहले सब कुछ त्यागा था
सबसे पहले भगवान शिव ने अपने नंदी का त्याग किया। जहां पर उन्होंने नंदी को छोड़ा उसे पहलगाम जाता है। अमरनाथ गुफा की यात्रा यहीं से आरम्भ होती है। इसके बाद अपनी जटा से चंद्रमा को मुक्त किया था। जहां पर चंद्रमा का त्याग किया वह चंदनवाणी कहलाती है।इसके बाद भगवान शंकर ने गले में धारण सांपों को छोड़ा। यह स्थान शेषनाग कहलाई गई। इसके बाद शिवजी ने गणेशजी को महागुणस पर्वत पर छोड़ दिया, महादेव ने जहां पिस्सू नामक कीडे़ को त्यागा, वह जगह पिस्सू घाटी है।

कबूतरों ने भी सुन ली थी अमरकथा
अमरकथा के दौरान कबूतरों को एक जोड़ा भी मौजूद था जो  अमरकथा सुना रहा था और बीच-बीच में गूं-गूं की आवाज निकाल रहे थे। महादेव को लगा पार्वती कथा सुन रही हैं। अमरकथा सुनने से कबूतर अमर हो गए। गुफा में आज भी कबूतरों का जोड़ा दिखाई देता है। मान्यता है कि आज भी इन दो कबूतरों के दर्शन भक्तों को होते हैं। 
विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स,स्वास्थ्य संबंधी सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Festivals

दिवाली 2019: लक्ष्मी पूजन में गन्ना क्यों है जरूरी, जानें इसके पीछे की कथा

दिवाली पर लक्ष्मीजी की पूजा का विशेष महत्व होता है। लक्ष्मी पूजन से घर पर धन और सुख-समृद्धि आती है।

21 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

दबंग 3: रज्जो के पोस्टर में सोनाक्षी का स्वैग वाला अंदाज, सलमान ने कहा- स्वागत तो कीजिये इनका

सलमान खान की आने वाली फिल्म 'Dabangg 3' का फैंस बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। इस बीच सलमान ने फिल्म से जुड़ा एक छोटा टीजर और पोस्टर शेयर किया है। जिसमे सोनाक्षी सिन्हा का स्वैग वाला लुक दिख रहा है।

21 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree