विज्ञापन
विज्ञापन

Dhanteras 2019: क्यों खरीदी जाती है धनतेरस पर झाड़ू, क्या है परंपरा

धर्म डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 21 Oct 2019 12:10 PM IST
शुभ धनतेरस
शुभ धनतेरस - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
25 अक्तूबर को पांच दिवसीय महापर्व का पहला त्योहार धनतेरस है। यह दीपावली के एक दिन पहले झाड़ू खरीदने की परंपरा चली आ रही है। कहा जाता है कि धनतेरस पर खरीदी गई वस्तु जल्द खराब नहीं होती बल्कि उसमें तेरह गुना वृद्धि और हो जाती है। इसलिए लोग धनतेरस पर सोना, चांदी, भूमि, वाहन और बर्तन इत्यादि चीजों की खरीदारी करते हैं। अन्य वस्तुओं की तरह इस दिन झाड़ू खरीदने की भी अनोखी परंपरा रही है और जो लोग सोना-चांदी या उससे बने गहने खरीदने में असमर्थ होते है वो एक झाड़ू अवश्य खरीदते हैं। धनतेरस के दिन हर घर में एक नई झाड़ू जरूर मिलेगी। 

इस धनतेरस, कराएं भगवान कुबेर की पूजा, होगा धन व व्यापार लाभ : 25-अक्टूबर-2019

मत्स्य पुराण के अनुसार झाड़ू को मां लक्ष्मी का रूप माना जाता है वहीं बृहत संहिता में झाड़ू को सुख-शांति की वृद्धि करने वाली और दुष्ट शक्तियों का सर्वनाश करने वाली बताया है। झाड़ू को घर में दरिद्रता को हटाने का कारक बताया गया है और इसके इस्तेमाल से मनुष्य की दरिद्रता भी दूर होती है। साथ ही इस दिन घर में नई झाड़ू से झाड़ लगाने से कर्ज से भी मुक्ति मिलती है।
विज्ञापन
झाड़ू को लेकर चर्चित कथा

1. झाड़ू के चलते हुई द्रौपदी की शादी
भगवान श्रीकृष्ण ने महाभारत में झाड़ू से अर्जुन-द्रौपदी की शादी होने, दुर्बलता से शक्ति प्राप्त करने और धनाढ्य होने की कहानी को बताया है। दंत कथाओं के अनुसार द्रौपदी की शादी अर्जुन से नहीं हो पा रही थी तब एक टोटका किया गया था और जिसके बाद घर में झाड़ू से झाड़ लगायी गयी। माना जाता है कि इसके बाद ही द्रौपदी और अर्जुन की शादी हो गयी थी।

2. झाड़ू खड़ा रखने से शत्रु बाधा पैदा करते हैं
शुरु से ही झाड़ू को घर में छिपा कर रखने और सही स्थान पर रखने की परंपरा रही है। मान्यता यह भी है कि झाड़ू को खड़ा रखने से शत्रु बाधा उत्पन्न करते है। इसलिए झाड़ू को लिटा कर या छुपा कर रखा जाता है जिससे दुष्ट शक्ति और शत्रुओं की परेशानी नहीं झेलनी पड़ती है।

अकाल मृत्यु व गंभीर रोगों से बचने के लिए धनतेरस पर भगवान धनवंतरि की पूजा - 25-अक्टूबर-2019

विज्ञापन

Recommended

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स
safalta

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019
Astrology Services

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स,स्वास्थ्य संबंधी सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Wellness

चाणक्य नीति: कामुक मर्दों की होती है ये पहचान

चाणक्य नीति में काम वासना में लिप्त रहने वाले मर्दों के विषय में बहुत गंभीर बातें बताई गई हैं। उन बातों पर डालते हैं एक नजर..

14 नवंबर 2019

विज्ञापन

ऐसे करें अपने गलत ई-चालान की ऑनलाइन शिकायत

जब से ट्रैफिक के नए नियमों में बदलाव हुआ है, तब से चालान की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।हालांकि, कई लोगों को गलत ई-चालान मिले हैं, जिससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा है।

14 नवंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election