विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

किसी परिचय के मोहताज नहीं लोक गायक जगदीश

हिमाचली लोक कलाकारों में जगदीश शर्मा किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। बंजार के छोटे से गांव के जगदीश युवाओं के बीच खास जगह बना चुके हैं।

16 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

शिमला

मंगलवार, 7 अप्रैल 2020

व्यक्ति ने खुद को गोली से उड़ाया, दरवाजा तोड़कर निकाला शव

 हिमाचल के कांगड़ा जिले के उपमंडल धीरा के घराणा इलाके के गांव अलसा में व्यक्ति ने बंदूक से गोली मार कर घर के अंदर आत्महत्या कर ली। यह घर में अकेला ही रहता था। मृत पड़े व्यक्ति को लोगों ने सोमवार सुबह के बाद देखा। व्यक्ति के पास बंदूक पड़ी थी। मृतक के शव को दरवाजा तोड़कर अंदर से निकाला गया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार धीरा उपमंडल के घराणा इलाके के गांव अलसा में व्यक्ति ने गोली मार कर अपनी जान दे दी। जब वह अपने कमरे से बाहर नहीं निकला तो लोगों ने देखा कि अंदर से कमरा बंद है और कोई आवाज नहीं सुन रहा है।

कमरा बंद देख कर लोगों ने मृतक के मोबाइल पर फोन भी किया, लेकिन किसी ने अंदर फोन भी नहीं उठाया। इस पर शक में आए लोगों ने इसकी सूचना पंचायत प्रधान को दी। उसके बाद लोगों ने जब दरवाजा तोड़ कर देखा तो अंदर राजकुमार उर्फ बंटू (36) का शव पड़ा हुआ था। साथ ही उसकी बंदूक भी पड़ी हुई थी। इसकी सूचना धीरा पुलिस को भी दी गई। धीरा पुलिस से चौकी प्रभारी जितेंद्र कुमार के नेतृत्व में मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे से साक्ष्य जुटाए और बंदूक को अपने कब्जे में लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए पालमपुर अस्पताल भेज दिया गया। उधर, डीएसपी पालमपुर अमित शर्मा ने कहा कि घराणा के अलसा गांव में ऐसा मामला हुआ है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और बंदूक को कब्जे में ले लिया है। वहां से  कोई सुसाइड नोट नोट नहीं मिला है।
... और पढ़ें

हमीरपुर के बडैहर में शराब ठेका सील, ज्वाइंट कमिश्नर को भेजी फाइल

हमीरपुर जिले में कर्फ्यू तोड़ने वाले शराब ठेकेदारों के खिलाफ पुलिस और एक्साइज विभाग ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी है। पुलिस ने बडैहर में जिस शराब ठेके पर रविवार को कर्फ्यू के समय शराब बिकती पकड़ी थी, उसे एक्साइज विभाग ने अब सील कर दिया है। एक्साइज विभाग ने शराब ठेके पर पहुंच कर सबसे पहले शराब का स्टॉक सूचीबद्ध किया और बाद में शराब ठेके को सील कर दिया है।

इसके साथ ही जुर्माना लगाने के लिए फाइल मंडी स्थित ज्वाइंट कमिश्नर के पास भेज दी है। एक्साइज विभाग ने शराब ठेकेदार को चेताया कि अगर उन्होंने अब शराब बेचने की कोशिश की तो जुर्माना राशि दोगुना करने के साथ ही लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा। उपमंडल भोरंज में शराब ठेकेदार के खिलाफ यह दूसरी कार्रवाई है। इससे पहले भी पुलिस और एक्साइज विभाग ने खतरवाड़ में एक शराब ठेके पर सरेआम शराब की बिक्री के मामले में सख्त कार्रवाई की है। इसके बावजूद शराब ठेकेदार अवैध रूप से शराब की बिक्री को बंद नहीं कर रहे हैं।

इधर, एसएचओ भोरंज कुलवंत सिंह ने कहा कि उन्होंने खतरवाड़ शराब ठेके के मालिक के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद रविवार को बडैहर शराब ठेके के मालिक के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम और भादंसं की धाराओं में मामला दर्ज किया है। सहायक आबकारी एवं राज्य कर आयुक्त चेतराम ठाकुर ने कहा कि बडैहर शराब ठेके के स्टॉक को सूचीबद्ध करने के बाद शराब ठेके को सील कर दिया है।
... और पढ़ें

दिल्ली की आजादपुर मंडी पहुंचा हिमाचल का 40 टन मटर

मटर सीजन ने रफ्तार पकड़नी शुरू कर दी है। शिमला की ढली सब्जी मंडी से दिल्ली की आजादपुर मंडी के लिए 40 टन मटर रवाना हो चुका है। इन दिनों रोजाना एक ट्रक मटर शिमला से दिल्ली जा रहा है। अगले हफ्ते से रोजाना 12 से 15 ट्रक मटर शिमला से दिल्ली भेजा जाएगा। मटर सीजन के मद्देनजर जिला प्रशासन ने ढली सब्जी मंडी में कारोबार करने वाले आढ़तियों को कर्फ्यू पास जारी कर दिए हैं।

जल्द ही सब्जी मंडी में लोडिंग और अनलोडिंग का काम करने वाले पल्लेदारों को भी कर्फ्यू पास जारी कर दिए जाएंगे। ढली सब्जी मंडी आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान हरीश ठाकुर ने बताया कि मटर सीजन को लेकर एपीएमसी चेयरमैन से बात की गई है। अगले हफ्ते से मटर सीजन रफ्तार पकड़ लेगा जिसके बाद रोजाना 12 से 15 तक ट्रक मटर शिमला से दिल्ली जाएगा।

दिल्ली मंडी में 100 करोड़ के कारोबार का अनुमान
ढली सब्जी मंडी में हर साल करीब 100 करोड रुपए का मटर का कारोबार होता है। इस साल भी करीब 200 मीट्रिक टन मटर के उत्पादन की संभावना है। शिमला जिले के अलावा करसोग में भी बहुतायत में मटर की खेती होती है।

शिमला और दिल्ली के बीच खोले जाएंगे ढाबे और मेकेनिक शॉप
मटर सीजन के रफ्तार पकड़ने के बाद शिमला से मटर लेकर दिल्ली रवाना होने वाले ट्रकों के ड्राइवरों और हेल्परों की सुविधा के लिए जगह-जगह ढाबे और मेकेनिक शॉप खुलवाई जाएंगी। मौजूदा समय में कर्फ्यू के कारण हाईवे पर सभी प्रकार की दुकानें बंद हैं।

एपीएमसी के चेयरमैन नरेश शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हरियाणा के मुख्यमंत्री से भी इसे लेकर बात की है। सुबह 7 से 11 के बीच किसान अपने मटर बेचने के लिए मंडी आ सकते हैं।
... और पढ़ें

हिमाचल में चार और जमाती कोरोना पॉजिटिव, 18 पहुंची संख्या

हिमाचल में भी कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं। सोमवार को चार और तब्लीगी जमातियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। इसके साथ ही अब कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 18 पहुंच गया है। इनमें से 11 जमाती हैं। चार मरीजों को दिल्ली स्थित एक निजी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया था। सोमवार को रिपोर्ट आने के बाद चारों को चंबा से टांडा मेडिकल कालेज शिफ्ट करने की प्रक्रिया शुरू हो गई। बता दें, बीते दिन कांगड़ा के इंदौरा के रहने वाले एक तब्लीगी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी।

यही कोरोना पॉजिटिव मरीज हैदराबाद से आने के बाद चार दिन चंबा में रुका था। इस मरीज की पुष्टि और यात्रा इतिहास तलाशने के बाद मरीज के चंबा जाने की जानकारी मिली थी। इसी जानकारी के आधार पर स्वास्थ्य विभाग ने तब्लीगी जमात से संबंध रखने वाले चंबा के 11 लोगों के सैंपल लिए थे। सोमवार रात इन सभी 11 सैंपलों की रिपोर्ट आई जिसमें चार लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। खास बात यह है कि भले ही रिपोर्ट देर रात आई हो लेकिन चंबा प्रशासन ने शाम को ही उन 12 पंचायतों को सील करने के आदेश जारी कर दिए थे जिनमें संक्रमण की संभावना हो सकती है। बता दें रविवार को भी बद्दी और नालागढ़ में एक साथ सात कोरोना के पॉजिटिव केस आए थे। इनमें से तीन तब्लीगी जबकि चार मरीज हेल्मेट उद्योग के एक निदेशक की पत्नी के संपर्क में आए लोग थे।

हिमाचल में सोमवार को 83 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें से 63 नमूनों की रिपोर्ट आई गई है। इसमें चार पॉजिटिव और बाकि अन्य की रिपोर्ट निगेटिव है। 20 की रिपोर्ट आनी बाकि है। अब तक कुल 456 लोगों की जांच की जा चुकी है। 4458 लोगों को निगरानी में रखा गया है। 2013 लोगों ने 28 दिन की जरूरी निगरानी अवधि को पूरा कर लिया है व स्वस्थ हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने कहा कि सीआरआई कसौली की प्रयोगशाला में भी कोरोना के नमूनों को जांच शुरू हो गई है। सोमवार को वहां 11 नमूने जांच के लिए आए हैं। कोरोना वायरस के चलते प्रदेश में 85 लोगों की पहचान की गई। इसमें ज्यादातर तब्लीगी जमात के हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इन्हें निगरानी में रखा जा रहा है। इन लोगों की जांच के नमूने दिशा-निर्देशानुसार लिए जाएंगे। 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

कोरोना वायरस: हिमाचल में 83 के लिए सैंपल, 32 की रिपोर्ट निगेटिव

हिमाचल में सोमवार को 83 लोगों के सैंपल लिए गए, जिनमें से 51 सैंपल ऐसे लोगों के लिए गए जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप में दिल्ली हॉट स्पॉट से संबंधित हैं। कुल 83 नमूनों में से 32 नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव है जबकि अन्य की रिपोर्ट आना बाकी है। अब तक कुल 456 लोगों की जांच की जा चुकी है।

4458 लोगों को निगरानी में रखा गया है। 2013 लोगों ने 28 दिन की जरूरी निगरानी अवधि को पूरा कर लिया है व स्वस्थ हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने कहा कि सीआरआई कसौली की प्रयोगशाला में भी कोरोना के नमूनों को जांच शुरू हो गई है। सोमवार को वहां 11 नमूने जांच के लिए आए हैं।

85 लोगों की पहचान
 कोरोना वायरस के चलते प्रदेश में 85 लोगों की पहचान की गई। इसमें ज्यादातर तब्लीगी जमात के हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इन्हें निगरानी में रखा जा रहा है। इन लोगों की जांच के नमूने दिशा-निर्देशानुसार लिए जाएंगे। 
... और पढ़ें

हिमाचल के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों पर लगेंगे सीसीटीवी: जयराम

सरकार ने सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने का फैसला लिया है। यह व्यवस्था प्रमुख मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों आदि पर लागू होगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने देश और प्रदेश में कोरोना से उत्पन्न स्थिति का जायजा लेने के लिए सोमवार को शिमला से सभी उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस से बैठक की।

सीएम ने कहा कि सरकार ने राज्य में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने को प्रदेश के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्णय लिया है। उपायुक्त अपने जिलों में ऐसे धार्मिक स्थलों का ब्योरा देंगे। 
कहा कि अपील के बाद दिल्ली समारोह में भाग लेने वाले 12 व्यक्ति सामने आए हैं। इन जमातियों के 52 प्रमुख नजदीकी लोगों ने भी जानकारी दी है। इन सभी 64 व्यक्तियों को क्वारंटीन में रखा है। उनकी जांच की जा रही है।

तीन दिन में 23 लाख लोगों की स्क्रीनिंग
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान में तीन दिन में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर 23 लाख से अधिक लोगों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली है। कोरोना से बचाव के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशों के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है।
... और पढ़ें

दो बसों में हिमाचल पहुंचे थे कोरोना पॉजिटिव तीन जमाती, यात्रियों को खिलाई थी मिठाई

हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की जिन दो बसों में कोरोना के तीन पाजिटिव तब्लीगी जमात के लोग थे, उनमें चालकों-परिचालकों सहित 178 लोगों ने सफर किया है। एक बस दिल्ली से नालागढ़ तो दूसरी नालागढ़ से आगे ऊना होते हुए हमीरपुर तक गई है। एक बस में खाना खाने के दौरान तब्लीगी जमात के लोगों ने यात्रियों को प्रसाद के रूप में पेठा भी बांटा है। 18 मार्च सुबह 7:30 बजे एक बस एचपी-93-0564 चली और नालागढ़ में 4:00 बजे पहुंची। दूसरी 18 मार्च की शाम सवा नौ बजे चली और 19 मार्च की सुबह 4:30 बजे नालागढ़ पहुंची। इस दौरान इन बसों में 178 यात्री चढ़े और उतरे। निगम की दोनों बसों में छह चालक और परिचालक भी थे।

नालागढ़ तक आई बस में एक चालक, एक परिचालक था जबकि हमीरपुर वाली बस में दिल्ली से एक चालक-एक परिचालक आया। नालागढ़ से आगे इस बस को एक अन्य चालक और परिचालक ले गया।एचआरटीसी नालागढ़ डिपो के क्षेत्रीय प्रबंधक जोगिंद्र चौधरी के मुताबिक दिल्ली से आई एचपी-93-0564 बस में चालक-परिचालक समेत 53 लोग सवार थे। इनमें बद्दी के 14 और नालागढ़ के 35 लोग सवार थे। दूसरी बस एचपी-12-0446 में चालकों-परिचालकों सहित 125 लोगों ने सफर किया है। यह बस हमीरपुर तक गई। इस बस में बद्दी के 24, नालागढ़ के 45, ऊना के 12 और हमीरपुर के 33 लोग सवार थे। जिला प्रशासन ने इन लोगों की संबंधित क्षेत्रों को सूचना भेज दी है।

दिल्ली से सरकारी बसों में आने वाले यात्री खुद को क्वारंटीन करें। कोरोना के लक्षण दिखने पर स्वास्थ्य विभाग या स्थानीय प्रशासन से संपर्क करें। - सीताराम मरडी, डीजीपी 
... और पढ़ें

हिमाचल: चंबा के साहो में चार दिन से रहा था कांगड़ा का पॉजिटिव जमाती, 15 पंचायतें सील

कोरोना पॉजिटिव तब्लीगी जमात के युवक के संपर्क में आए हिमाचल के चंबा जिले के साहो क्षेत्र के 27 लोगों को क्वारंटीन कर दिया गया है। पॉजिटिव युवक के संपर्क में आए लोगों के सैंपल लेकर इन्हें जांच के लिए टांडा मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। कांगड़ा जिले का यह युवक चार दिन तक चंबा जिले के साहो क्षेत्र में ठहरा था। उधर, साहो क्षेत्र की 15 पंचायतें पूरी तरह सील कर दी गई हैं। पूरे इलाके में सख्ती बढ़ाने के साथ हर आने-जाने वाले पर नजर रखी जा रही है। कांगड़ा जिले का तब्लीगी जमात का युवक 17 से 20 मार्च तक चंबा के साहो क्षेत्र में ठहरा था। इस दौरान क्षेत्र के 27 लोग उसके संपर्क में आए थे। 

उधर, रविवार शाम को युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने भी साहो क्षेत्र में सतर्कता बढ़ा दी है। पंचायत प्रधान ने भी देर रात को सोशल मीडिया में वीडियो जारी कर क्षेत्र के लोगों से अपने घरों में ही रहने की अपील की। उन्होंने वीडियो संदेश में यह भी कहा कि सभी लोग सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन करें। लोगों की जरूरत का सारा सामान उनके घर पहुंचा दिया जाएगा। उधर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेश गुलेरी ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव युवक के संपर्क में आए 27 लोगों के सैंपल जांच के लिए टांडा मेडिकल कॉलेज भेजे हैं। 11 सैंपल तीसा से भी लिए गए हैं। इनकी रिपोर्ट अभी आना बाकी है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: एचआरटीसी के चालक और परिचालक को किया आइसोलेट

हिमाचल के ऊना में तब्लीगी जमात के तीन लोग पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन ने उनके सीधे संपर्क में आए लोगों की स्क्रीनिंग शुरू कर दी है। लॉकडाउन से पहले देर रात दिल्ली से बद्दी आने वाली दो बसों के ड्राइवर और कंडक्टरों समेत चार लोगों को चिह्नित किया है। एक ड्राइवर और एक कंडक्टर गगरेट क्षेत्र से हैं। दोनों अलग-अलग एचआरटीसी बसों के साथ थे। तब्लीगी जमात के लोग दोनों बसों से दिल्ली से बद्दी आए थे।

प्रशासन ने चालकों-परिचालकों के साथ बस में आने वाली सवारियों को भी चिह्नित कर उनकी जांच शुरू कर दी है। चालक और परिचालक दोनों को जिला प्रशासन ने आइसोलेट कर दिया है, जबकि इनके परिवारों को होम क्वारंटीन किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इनके सैंपल लिए हैं। कल तक रिपोर्ट आएगी। बताया जा रहा है कि दिल्ली से आते समय तब्लीगी जमात से जुड़े मौलवियों ने बस में सवारियों को प्रसाद भी दिया था। उधर, सीएमओ ऊना रमन कुमान ने कहा कि एक ड्राइवर और एक कंडक्टर को आइसोलेट किया गया है। इनके परिवारों को होम क्वारंटीन किया है।
... और पढ़ें

हिमाचल में अंधड़ के साथ ओलावृष्टि और बारिश की चेतावनी

हिमाचल के अधिकांश भागों में मंगलवार को ओलावृष्टि, अंधड़ और बारिश-बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी हुआ है। मध्य और उच्च पर्वतीय जिलों शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा, किन्नौर और लाहौल स्पीति के कुछ क्षेत्रों में इस दौरान मौसम ज्यादा खराब रहने का पूर्वानुमान है। मैदानी जिलों ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर और कांगड़ा के कुछ क्षेत्रों में भी मंगलवार को बारिश होने की संभावना है। उधर, मध्य और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में आठ और नौ अप्रैल तक मौसम खराब रहने के आसार है। मैदानी क्षेत्रों में बुधवार और अन्य जिलों में 10 अप्रैल से मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान है।

इस बीच, सोमवार को राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में मौसम साफ रहा। धूप खिलने से अधिकतम तापमान में सामान्य से दो डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में बदलाव आ रहा है। मध्य और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में इसका असर देखने को ज्यादा मिलेगा। आठ और नौ अप्रैल को पश्चिमी विक्षोभ कमजोर होगा। 10  से पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहेगा। उन्होंने बताया कि रविवार रात को केलांग में न्यूनतम तापमान माइनस 1.2, कल्पा में 2.4, डलहौजी में 4.5, मनाली में 4.6, कुफरी में 7.0 और शिमला में 9.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।
... और पढ़ें

बंदरों को नहीं मिल रहा खाना

शिमला। लॉकडाउन के कारण शहर के कई इलाकों में बंदर हमलावर हो गए हैं। खाने की कमी के कारण ये लोगों पर हमला कर रहे हैं। सोमवार को जाखू में बंदरों ने नगर निगम की टीम पर ही हमला कर दिया। सुबह स्थानीय पार्षद अर्चना धवन, बैनमोर पार्षद किमी सूद और पेयजल कंपनी के अधिकारी जाखू टैंक की सफाई के लिए पहुंचे। वापस लौटने लगे कि अचानक बंदरों ने हमला कर दिया। बंदर के हमले से कंपनी के एसडीओ महबूब शेख घायल हो गए। उनके मुंह पर चोटें आई हैं। कुछ बंदर पार्षद अर्चना धवन का फोन और पैसे छीनकर पेड़ों पर चढ़ गए।
काफी देर बाद इन्होंने फोन पेड़ से नीचे फेंका। इससे फोन भी टूट गया। बाद में एसडीओ को लेकर दोनों पार्षद साथ लगते स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचे और उपचार करवाया। पार्षद अर्चना धवन ने कहा कि जाखू टैंक की सफाई कर ली गई है। वापस लौटते वक्त बंदरों ने यह हमला किया।
इसलिए हमलावर हो रहे हैं बंदर
वन्य जीव विभाग के विशेषज्ञों की मानें तो शहर से इन दिनों ज्यादातर लोग गांव लौट चुके हैं। ऐसे में जो लोग इन बंदरों को रोटियां या बचा हुआ खाना देते थे, वह बंद है। इसके अलावा शहर में अब कूड़ेदान भी बहुत कम बचे हैं। जो बंदर माल रोड और लोअर बाजार में सब्जी और दूसरी खाने पीने की दुकानों से खाना झपटते थे। वह भी लॉकडाउन के कारण बंद हो गया। ऐसे में अब कई बंदर जंगल शिफ्ट हो रहे हैं तो कई ऐसे रिहायशी इलाकों में जा रहे हैं, जहां उन्हें खाना मिल पा रहा है। भूख के कारण ये बंदर हमलावर भी हो गए हैं। ऐसे में कर्फ्यू में ढील के समय भी जब लोग सामान खरीदने बाजार जाते हैं, तो ये उन पर भी हमला बोल देते है। ऐसे में इन दिनों बंदरों से सावधान रहने की जरूरत है। यदि अगले कुछ दिन शहर में ऐसे ही हालात रहते हैं तो बंदरों की संख्या खुद कम हो जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us