लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   Shimla ›   With liquor from Shanan area of Shimla city Fake stickers and labels recovered

Liquor Recovered: शिमला शहर के शनान क्षेत्र से शराब समेत नकली स्टीकर और लेबल बरामद

अमर उजाला ब्यूरो, शिमला Published by: शिमला ब्यूरो Updated Fri, 23 Sep 2022 01:29 PM IST
सार

आबकारी आयुक्त यूनुस ने बताया कि कुल्लू, नूरपुर और सिरमौर में भी अधिकारियों ने 3605 लीटर कच्ची शराब (लाहन) कब्जे में लेकर नियमानुसार नष्ट की है। आबकारी आयुक्त ने बताया कि प्रदेश में क्षेत्रीय एवं जिला स्तर पर 65 विशेष टास्क फोर्स का गठन किया है।

शराब समेत  नकली स्टीकर और लेबल बरामद
शराब समेत नकली स्टीकर और लेबल बरामद - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

राज्य कर एवं आबकारी विभाग और ढली थाना की संयुक्त टीम ने शनान में एक ढाबे तथा घर में छापेमारी कर शराब बरामद की है। इसके साथ यहां से हजारों की संख्या में नकली होलोग्राम (स्टीकर) और लेबल भी मिले हैं। थाना ढली में मामला दर्जकर इसमें दो लोग गिरफ्तार किए हैं। दोनों आरोपी पति-पत्नी हैं। इन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से जमानत पर छोड़ दिया है। राज्य कर एवं आबकारी विभाग के मुताबिक पुलिस के साथ विभाग की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर शनान स्थित एक ढाबे और मकान से 21 बोतल रॉयल स्टैग (फॉर सेल इन चंडीगढ़) और 2 बोतलें बीयर (किंगफिशर ब्रांड) बरामद की। इसके साथ ही टीम ने तलाशी के दौरान 16,230 नकली होलोग्राम और 11,984 दूसरी शराब के लेबल बरामद किए हैं। तलाशी में एक बोरी में देसी शराब के नकली ढक्कन भी कब्जे में लिए हैं।



50 किलोग्राम का संदिग्ध पदार्थ मिला
आबकारी विभाग ने मौके से एक 50 किलोग्राम की गैलन संदिग्ध पदार्थ की पकड़ी है। इसे जांच के लिए प्रयोगशाला में भेज दिया है। इसकी रिपोर्ट आने पर ही साफ होगा कि इस गैलन में क्या था। इस छापेमारी में बरामद किए सामान के बाद विभाग ने ढली थाना में आरोपी के खिलाफ अवैध शराब, नकली होलोग्राम और नकली लेबल पाए जाने पर मामला दर्ज किया है। ढली थाना पुलिस ने इस मामले की छानबीन शुरू कर दी है। इसमें आरोपी से होलोग्राम, शराब और ढक्कन कहां से लाए गए किस मकसद से लाए इस बारे में पूछताछ कर रही है। विभाग की अन्य टीम द्वारा शिमला में एक ढाबे से 7 बोतल शराब कब्जे में लेकर आबकारी अधिनियम के तहत कार्रवाई अमल में लाई है।


मिलावटी शराब से हुई थी कई मौतों
प्रदेश में पहले भी नकली शराब पीने से कुछ लोगों की मौत हो गई थी। इसमें मंडी जिले का मामला काफी चर्चा में रहा था। इसमें करीब एक दर्जन लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद दावा किया जा रहा था कि अब नकली शराब माफिया खत्म कर दिया है तथा इस तरह के मामले सामने नहीं आ सकते। लेकिन राजधानी जैसे सुरक्षित क्षेत्र में मिले नकली स्टीकर और लेबल से हड़कंप मचा हुआ है।

65 विशेष टास्क फोर्स की हैं गठित : यूनुस
आबकारी आयुक्त यूनुस ने बताया कि कुल्लू, नूरपुर और सिरमौर में भी अधिकारियों ने 3605 लीटर कच्ची शराब (लाहन) कब्जे में लेकर नियमानुसार नष्ट की है। आबकारी आयुक्त ने बताया कि प्रदेश में क्षेत्रीय एवं जिला स्तर पर 65 विशेष टास्क फोर्स का गठन किया है। मदिरा एवं मादक पदार्थों, अन्य प्रकार के उपभोक्ता वस्तुओं के परिवहन पर नजर रखने के लिए मुख्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है। टास्क फोर्स को प्रदेश में अवैध शराब की बिक्री, निर्माण एवं तस्करी को रोकने तथा दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00