लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   student union workers clash in hpu shimla, University campus converted into police cantonment

Shimla: एचपीयू में एसएफआई-एबीवीपी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प, छह छात्र घायल

अमर उजाला ब्यूरो, शिमला Published by: Krishan Singh Updated Tue, 06 Dec 2022 08:30 PM IST
सार

एचपीयू के नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत में ही छात्र संगठन एसएफआई और एबीवीपी कार्यकर्ताओं के बीच मंगलवार को हिंसक झड़प हो गई। इससे दोनों संगठनों के आधा दर्जन कार्यकर्ता घायल हो गए। 

एचपीयू में छात्र संगठन कार्यकर्ताओं में झड़प।
एचपीयू में छात्र संगठन कार्यकर्ताओं में झड़प। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एचपीयू) के नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत में ही छात्र संगठन एसएफआई और एबीवीपी कार्यकर्ताओं के बीच मंगलवार को हिंसक झड़प हो गई। इससे दोनों संगठनों के आधा दर्जन कार्यकर्ता घायल हो गए। परिसर में जमकर पत्थरबाजी भी हुई। इससे पुलिस और सुरक्षा कर्मी भी चोटिल हो गए। घायलों का प्राथमिक उपचार करवाया गया। हिंसा की घटना के बाद एचपीयू परिसर में अतिरिक्त पुलिस और एचपीयू के सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं। मंगलवार सुबह करीब 8:45 बजे एचपीयू के मुख्य गेट पर खड़े एसएफआई और एबीवीपी कार्यकर्ताओं के बीच बहस हुई। इसी बीच पुराने कैफेटेरिया के पास पथराव शुरू हो गया और दोनों संगठनों के कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई। पुलिस ने दोनों गुटों को तितर-बितर किया। इसके बाद केमिस्ट्री विभाग में दोबारा छात्र संगठन कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हुई।






इसमें कुछ छात्र घायल भी हुए। इसके बाद पुस्तकालय के बाहर एक-दूसरे के साथ मारपीट की। इस हिंसा को रोकने के लिए पुलिस के अतिरिक्त जवानों ने मोर्चा संभाला और परिसर की हर गतिविधि पर नजर रखी। परिसर में बने इस माहौल से आम छात्र और एचपीयू आने वाले लोग भी परेशान रहे। हिंसा की इस घटना के बाद एचपीयू प्रशासन अलर्ट हो गया। दोनों संगठनों के कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे पर हथियारों से हमला करने के आरोप लगाए।

एसएफआई के छात्र नेताओं ने आरोप लगाया कि यूजी के खराब रहे रिजल्ट और ईआरपी सिस्टम से छात्रों को पेश आ रही समस्याओं को लेकर एसएफआई के शुरू किए आंदोलन को दबाने के मकसद से एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने सुनियोजित तरीके से उन पर हमला किया। वहीं, एबीवीपी के छात्र नेताओं ने आरोप लगाया कि एसएफआई के कार्यकर्ता एबीवीपी की कार्यकर्ता पर कमेंट कर रहे थे। मंगलवार को भी उन्होंने कमेंट किया, जिसका विरोध किया तो एसएफआई के कार्यकर्ताओं ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर हमला बोल दिया। 

एचपीयू परिसर और छात्रावासों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इस घटना की जांच शिमला पुलिस कर रही है। ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो, इसके लिए हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।
 जीडी शर्मा (डीएसपी), विश्वविद्यालय सुरक्षा अधिकारी  

एचपीयू अपने स्तर पर कराएगा जांच
विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो. ज्योति प्रकाश ने कहा कि हिंसक घटना की एचपीयू अपने स्तर पर जांच करवाएगा। विश्वविद्यालय की अधिष्ठाता अध्ययन की अध्यक्षता में बनाई गई अनुशासन समिति को जांच की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। 
विज्ञापन

 दोनों संगठनों की छात्रा कार्यकर्ताओं के बीच हुई हाथापाई से हुई शुरूआत 
 विश्वविद्यालय के मुख्य गेट पर छात्रों के स्वागत के लिए खड़ी दोनों संगठनों की छात्रा कार्यकर्ताओं के बीच बहस और हाथापाई से हिंसा की शुरुआत हुई। इस बीच दोनों संगठनों के कार्यकर्ता भी बीच में कूद गए। देखते ही देखते पथराव शुरू हो गया। फिर आपसी झड़प और मारपीट का सिलसिला शुरू हो गया, इसमें छात्रों के साथ छात्रा कार्यकर्ता भी चोटिल हुईं। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00