लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   Kullu Fire created orgy in Malana village more than a dozen houses burnt to ashes

Kullu Malana Village Fire: कुल्लू के मलाणा गांव में भीषण अग्निकांड में 16 मकान राख, 150 लोग प्रभावित

संवाद न्यूज एजेंसी, कुल्लू Published by: अनुराग सक्सेना Updated Wed, 27 Oct 2021 05:52 PM IST
सार

गांव तक सड़क सुविधा न होने से तार स्पैन की मदद से आग बुझाने के उपकरण और राहत सामग्री घटनास्थल तक पहुंचाई गई। आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।

मलाणा गांव में आग लगने के बाद का मंजर
मलाणा गांव में आग लगने के बाद का मंजर - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

विश्व के सबसे प्राचीन लोकतंत्र कहे जाने वाले कुल्लू जिले के ऐतिहासिक गांव मलाणा में आग से काष्ठकुणी शैली के बने 16 मकान जलकर राख हो गए। मंगलवार देर रात करीब एक बजे धाराबेहड़ में एक मकान में आग लगी। इसके बाद आग की लपटों ने साथ लगते दूसरे मकानों को भी अपनी चपेट में ले लिया। देखते ही देखते कुछ घंटों में ही 16 मकान राख का ढेर बन गए।



आग से गांव के 150 लोग प्रभावित हुए हैं और करीब नौ करोड़ का नुकसान बताया जा रहा है। गांव तक सड़क सुविधा न होने से तार स्पैन की मदद से आग बुझाने के उपकरण और राहत सामग्री घटनास्थल तक पहुंचाई गई। आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने घटना पर दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को घटना स्थल का दौरा कर प्रभावित परिवारों को तुरंत राहत और पुनर्वास सुविधा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। 


सर्द मौसम के बीच 150 लोग अब खुले आसमान के नीचे आ गए हैं। देर रात आग लगने से गांव में अफरातफरी मच गई। लोग अपनी जान बचाकर घरों से बाहर दौड़े। सूचना मिलते ही रात डेढ़ बजे अग्निशमन विभाग और पुलिस बल को घटना स्थल के लिए रवाना किया गया। जब कुल्लू से करीब 60 किलोमीटर दूर मलाणा के आखिरी छोर तक टीम पहुंची तो यहां फायर उपकरण गांव तक पहुंचाने में और भी समय लग जाता। 

ऐसे में फायर उपकरण व अन्य राहत सामग्री को तार स्पैन से बुधवार सुबह 3:45 बजे गांव तक पहुंचाया गया। इसके बाद दमकल विभाग ने आईटीबीपी के जवानों और ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया। हालांकि तब तक 16 आशियाने राख के ढेर में बदल चुके थे।

रिहायशी मकानों के समीप ही पशुचारा इत्यादि का भी भंडारण किया था, जिसके चलते अधिक नुकसान हो गया। उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कहा कि घटनास्थल पर जाकर राहत एवं बचाव कार्यों का जायजा लिया गया है। प्रभावित परिवारों को फौरी राहत प्रदान की जा रही है। इस दौरान पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा, एसडीएम विकास शुक्ला आदि मौजूद रहे। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00