लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   Monsoon in Himachal: monsoon arrives in himachal Pradesh heavy rain continues Sarkaghat recorded 109 mm rain

Monsoon in Himachal: झमाझम बारिश के बीच हिमाचल पहुंचा मानसून, नदी-नाले उफान पर, शिमला में सड़कों पर भरा पानी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Published by: अरविन्द ठाकुर Updated Wed, 29 Jun 2022 09:37 PM IST
सार

हिमाचल में मानसून प्रवेश कर गया है। इस वर्ष सामान्य से तीन दिन बाद दक्षिण पश्चिम मानसून ने हिमाचल में दस्तक दी है। 26 जून को मानसून के हिमाचल में प्रवेश करने को सामान्य तारीख माना गया है। 

राजधानी शिमला में सड़क पर जमा हुआ पानी।
राजधानी शिमला में सड़क पर जमा हुआ पानी। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में बुधवार को झमाझम बारिश के बीच सामान्य से पांच दिन देरी से मानसून ने प्रवेश किया। जोरदार बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर हैं। कांगड़ा जिले के नंदरूल में सड़क बह जाने से लोगों को आवाजाही में परेशानी हो गई है। वहीं चंबा जिले में चुवाड़ी-पठानकोट मार्ग पर देर शाम पहाड़ी से सड़क पर चट्टानें गिरने लगीं। पंजाब की एक कार भी इसकी चपेट आई, लेकिन गाड़ी चालक ने ऐन मौके पर वहां से भाग कर अपनी जान बचाई।



मानसून के हिमाचल में दस्तक देने की सामान्य तारीख 24 जून मानी जाती है। बुधवार को राजधानी शिमला सहित अधिकांश जिलों में भारी बारिश हुई। इससे प्रदेश के नदी, नाले और खड्डें उफान पर हैं। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में सड़कों पर पानी जमा होने से प्रशासन की तैयारियों की पोल खुल गई। भरमौर-पठानकोट हाईवे पर केरू पहाड़ के पास तीन घंटों तक यातायात बाधित रहा। भटियात के गांव खरिवाड़ी में एक कच्चा मकान क्षतिग्रस्त भी हुआ। लाहौल-स्पीति जिले में एक सड़क बाधित हुई है। शिमला, हमीरपुर, कुल्लू में चार बिजली ट्रांसफार्मर प्रभावित हुए हैं। प्रदेश के सभी क्षेत्रों में वीरवार को भी भारी बारिश और अंधड़ का ऑरेंज अलर्ट जारी हुआ है।


3 जुलाई तक प्रदेश में भारी बारिश जारी रहने के आसार हैं। प्रदेश में मंगलवार रात से ही बारिश का दौर शुरू हो गया था। बुधवार सुबह 8:00 बजे तक सरकाघाट में सबसे अधिक 109, भोरंज में 100, सुजानपुर में 84, बड़सर में 63, देहरा गोपीपुर में 54, जुब्बड़हट्टी में 48, नादौन, बिलासपुर में 39-39 और शिमला में 34 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड हुई। ट्रांसफार्मर खराब होने से कई क्षेत्रों में बिजली सप्लाई ठप रही। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक सुरेंद्र पॉल ने बताया कि 1 से 28 जून तक प्रदेश में सामान्य से 42 फीसदी कम बारिश दर्ज हुई। आने वाले 72 घंटों के दौरान प्रदेश में भारी बारिश होने का पूर्वानुमान है। लोगों को नदी-नालों से दूर रहने की सलाह दी गई है। 

सिरमौर और शिमला जिले में बाढ़ आने की चेतावनी
मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने आगामी 72 घंटों के दौरान भारी बारिश के चलते शिमला और सिरमौर जिला के कुछ क्षेत्रों में बाढ़ आने की चेतावनी जारी की है। जिला प्रशासन को सतर्क रहने के लिए कहा गया है।
 

कब-कब आया मानसून

वर्ष    तारीख
2021    13 जून
2020    24 जून
2019    2 जुलाई
2018    27 जून
2017    1 जुलाई
2016    21 जून
2015    24 जून
2014    1 जुलाई
2013    15 जून
2012    27 जून
2011    25 जून
2010    4 जुलाई

तापमान (डिग्री सेल्सियस में)

क्षेत्र    अधिकतम    न्यूनतम
ऊना       36.2        25.6
चंबा      32.3          24.4
हमीरपुर    30.5        23.2
बिलासपुर    29.0      25.0
कांगड़ा    27.5        23.0
धर्मशाला    26.5      21.2
केलांग    27.2        15.3
कल्पा    26.3        16.5    
नाहन    25.9        23.9        
सोलन    22.5        20.6
शिमला    22.0     18.0
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00