Kinnaur Landslide Live: अंधेरे के चलते रुका रेस्क्यू अभियान, खाई से मिले 10 शव, 13 लोगों की जान बचाई

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला/किन्नौर Published by: अरविन्द ठाकुर Updated Wed, 11 Aug 2021 09:53 PM IST

सार

Landslide in Kinnaur Himachal Pradesh Live Updates: हिमाचल प्रदेश के रिकांगपिओ से उत्तराखंड के हरिद्वार जा रही एचआरटीसी की बस चट्टानों के गिरने के कारण हादसे का शिकार हो गई है। बताया जा रहा है कि यह हादसा हिमाचल के किन्नौर जिले के पास निगुलसेरी में पहाड़ से मलबा गिरने के कारण हुआ है। आईटीबीपी के प्रवक्ता ने बताया कि 40 से ज्यादा मलबे में फंसे हो सकते हैं। घटनास्थल से अब तक 13 लोगों को रेस्क्यू किया गया है। 10 लोगों की मौत हुई है। 
हिमाचल प्रदेश किन्नौर में भूस्खलन: चट्टानें गिरने से मलबे में दबे वाहन।
हिमाचल प्रदेश किन्नौर में भूस्खलन: चट्टानें गिरने से मलबे में दबे वाहन। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मृतकों में मां और पुत्र-पुत्री समेत 4 राजस्थान के, छत्तीसगढ़ के दो, महाराष्ट्र और दिल्ली का एक-एक पर्यटक था। सभी पर्यटक दिल्ली से ट्रैवल एजेंसी के वाहन में किन्नौर घूमने आए थे। पहाड़ी से गिरे बड़े पत्थर से बटसेरी स्थित बास्पा नदी पर बना 120 मीटर लंबा लोहे का पुल भी पलक झपकते ही धराशायी हो गया था।
विज्ञापन




 

25 जुलाई को इससे पहले हुआ था दर्दनाक हादसा

गौरतलब है कि 25 जुलाई 2021 को किन्नौर जिले के बटसेरी में सांगला-छितकुल मार्ग पर पहाड़ी से दरकी चट्टानों की चपेट में एक पर्यटक वाहन आ गया था। हादसे में टेंपो ट्रैवलर में सवार नौ पर्यटकों की मौत हो गई थी। हादसा इतना भयानक था कि वाहन को चट्टानों ने हवा में ही उड़ा दिया था और 600 मीटर नीचे बास्पा नदी के किनारे दूसरी सड़क पर जा गिरा था।
 

गृह मंत्री अमित शाह ने की सीएम से बात

इसके साथ ही गृह मंत्री अमित शाह ने जयराम ठाकुर से फोन पर बात की और वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी ली। गृह मंत्री ने फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए और स्थिति का जायजा लेने के लिए आईटीबीपी के महानिदेशक से भी बात की।
 

जयराम ठाकुर ने हर संभव मदद का दिलाया भरोसा

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि निगुलसेरी, किन्नौर में भूस्खलन होने से मलबे में वाहनों के दबने का समाचार सुनकर बहुत दुखी हूं। हमने किन्नौर प्रशासन को राहत-बचाव कार्य के निर्देश दे दिए हैं। मलबे में दबे लोगों को सुरक्षित निकालने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। प्रभावितों को हरसंभव सहायता प्रदान की जाएगी।

बचाव कार्य में स्थानीय लोगों की भी ली जा रही मदद

एनडीआरएफ, सेना, पुलिस और स्थानीय लोग घायलों को अस्पताल पहुंचाने में जुटे हुए हैं। बताया जा रहा है कि किन्नौर जिले मे मूरंग हरिद्वार रूट की यह बस है। डीसी किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने बताया कि पहाड़ी से लगातार चट्टानें गिर रही हैं। इस वजह से रेस्क्यू में दिक्कत आ रही है। 

50-60 लोग फंसे हो सकते हैं: सीएम

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने बताया कि अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक 50-60 लोग फंसे हो सकते हैं।गृह मंत्री  अमित शाह ने हमें फोन किया और कहा कि राज्य उन्हें तुरंत किसी भी मदद की जरूरत बता सकता है। सेना ने हमें हर संभव मदद की पेशकश की है, वे ऑपरेशन में शामिल होना चाहते हैं।
 

चार लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल ले जाया गया

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि अभी तक 4 लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल ले जाया गया है। मौके पर एनडीआरएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ, पुलिस की टीम मौजूद है । बचाव अभियान के प्रयास जारी हैं लेकिन मलबा अभी भी ऊंचाई से गिर रहा है। 

नड्डा बोले- हर संभव मदद करें पार्टी कार्यकर्ता
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हिमाचल प्रदेश का किन्नौर जिला भूस्खलन की दृष्टि से बेहद संवेदनशील है। कई लोगों के फंसे होने की खबर है। मैं पार्टी कार्यकर्ताओं से प्रभावित क्षेत्रों में हर संभव मदद करने का अनुरोध करता हूं।
 

10 लोगों को रेस्क्यू किया, दो शव बरामद
अभी तक बस के चालक-परिचालक सहित 10 लोगों को सुरक्षित रेस्क्यू किया गया है। बाकी लोगों की तलाश जारी है। दो शव बरामद किए गए हैं। एसपी किन्नौर एसआर राणा ने यह पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि लापता लोगों की तलाश की जा रही है। रेस्क्यू जारी है।

आईटीबीपी जवानों ने बचाई जान, वीडियो वायरल
हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के निगुलसेरी में नेशनल हाईवे-5 पर हुए भूस्खलन के मलबे में फंसे एक व्यक्ति को आईटीबीपी के जवानों ने सुरक्षित बचा लिया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।
 

करीब 40 लोगों के फंसे होने की आशंका
आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक पांडे ने बताया कि निगुलसेरी में नेशनल हाईवे-5 पर भूस्खलन घटनास्थल पर आईटीबीपी की तीन बटालियन के करीब 200 जवान हैं। पहाड़ी से लगातार चट्टानें गिर रही हैं। रेस्क्यू टीम करीब एक घंटे से भूस्खलन के रुकने का इंतजार कर रही है। करीब 40 लोगों के फंसे होने की आशंका है। 
 

तीन शव बरामद
घटनास्थल से तीन लोगों के शव बरामद किए गए हैं। एनडीआरएफ, आईटीबीपी, सेना और पुलिस के जवान रेस्क्यू में जुटे हुए हैं। स्थानीय लोग भी हर संभव मदद कर रहे हैं।40 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका जताई गई है।
 

चार शव बरामद
घटनास्थल से चार लोगों के शव बरामद किए गए हैं। 13 घायलों को रेस्क्यू किया गया है। एनडीआरएफ, आईटीबीपी, सेना और पुलिस के जवान रेस्क्यू में जुटे हुए हैं। स्थानीय लोग भी हर संभव मदद कर रहे हैं। 40 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका जताई गई है।
 

10 लोगों की मौत
घटनास्थल से अब तक 14 लोगों को रेस्क्यू किया गया है। 10 लोगों की मौत हुई है। किन्नौर के एसपी एसआर राणा ने कहा कि रेस्क्यू जारी है। करीब 30 लोगों के दबे होने की आशंका है।
 

अभी मलबे में दबी है बस व यात्री
एचपी स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर की ओर से जारी ताजा सूचना के अनुसार एक एचआरटीसी बस और यात्री अभी भी मलबे में दबे हुए हैं
। घटनास्थल पर ड्रोन से भी सर्च अभियान चलाया जा रहा है। एक ट्रक व यात्री गाड़ी(टाटा सूमो) को मलबे से निकाल लिया गया है। टाटा सूमो में सवार आठ मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतकों में रोहित पुत्र स्वर्गीय सैंज राम गांव किया रामपुर और विजय कुमार पुत्र जगदीश चंद गांव झोल सुजानपुर की पहचान हुई है। जबकि बाकि मृतकों की पहचान अभी नहीं हो सकी है। 

मलबे में नहीं मिली बस व यात्री, आईटीबीपी ने नदी में शुरू किया सर्च अभियान
 वहीं आईटीबीपी के अनुसार किन्नौर में भूस्खलन वाली जगह पर सड़क साफ करने के बाद यात्रियों और बस के मलबे में फंसे होने का कोई निशान नहीं मिला है। आईटीबीपी की टीमें बस को खोजने के लिए कई दिशाओं से नदी (जो भूस्खलन स्थल के पास बहती है) की ओर गई हैं। 
 

निगुलसरी में घटना स्थल पर अंधेरा व फिर से भूस्खलन के खतरे को देखते हुए बचाव व सर्च अभियान बंद कर दिया गया है। अब गुरुवार अल सुबह फिर से सर्च ऑपरेशन शुरू होगा। बुधवार रात करीब नौ बजे तक रेस्क्यू अभियान चला। भूस्खलन की चपेट में आई बस का अभी तक पता नहीं चल पाया है।   एसडीएम निचार मनमोहन सिंह ने बताया कि लापता लोगों की तलाश करने के लिए देर शाम 9 बजे तक बचाव दल में खोजबीन की लेकिन अंधरा और भूस्खलन होने की खतरा को देखते हुए बचाव अभियान को बंद कर दिया है अब गुरुवार सुबह जल्दी लोगों को तलाश करने की कोशिश करेंगे।  
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00