लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   Chamba News ›   Himachal News: blackout in village No electricity after a month of snowfall children preparing for exams in lamp light

मुश्किल: बर्फबारी के एक माह बाद बिजली नहीं, दीये की रोशनी में परीक्षा की तैयारी कर रहे बच्चे

संवाद न्यूज एजेंसी, भरमौर (चंबा) Published by: अरविन्द ठाकुर Updated Mon, 14 Feb 2022 12:37 PM IST
सार

पलानी गांव में बिजली आपूर्ति बंद होने से लोग मोबाइल चार्ज करने के लिए चार किमी दूर दूसरे गांव जा रहे हैं। बड़ग्राम पंचायत के पलानी नाले पर हिमखंड गिरने से मार्ग बंद पड़ा है। लोगों को हरछू तक पैदल आवाजाही करनी पड़ रही है।

पलानी गांव में दीये की रोशनी में पढ़ाई करते बच्चे।
पलानी गांव में दीये की रोशनी में पढ़ाई करते बच्चे। - फोटो : संवाद
विज्ञापन

विस्तार

हिमाचल प्रदेश के जनजातीय क्षेत्र भरमौर की बड़ग्राम पंचायत के पलानी गांव में शिक्षा के डिजिटलाइजेशन प्रसार संबंधी सरकार के दावे खोखले साबित हो रहे हैं। हालात यह हैं कि एक माह से बंद पड़ी बिजली आपूर्ति को सुचारु करवाने में बोर्ड नाकाम रहा है। बिजली न होने से विद्यार्थी दीये की रोशनी में पढ़ाई करने के लिए मजबूर हैं। गांव में बिजली न होने से 35 परिवार कड़ाके की ठंड में रातें गुजारने के लिए मजबूर हैं।



ग्रामीणों के अनुसार कई बार बोर्ड प्रबंधन को समस्या बताई, लेकिन आज तक हल नहीं किया गया है। कहा कि वे अब इसकी शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर करेंगे। गौरतलब है कि जिले में बारिश और बर्फबारी के बाद भी जनजीवन पटरी पर नहीं लौटा है। पलानी गांव इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। गांव में बिजली आपूर्ति बंद होने से लोग मोबाइल चार्ज करने के लिए चार किमी दूर दूसरे गांव जा रहे हैं। बड़ग्राम पंचायत के पलानी नाले पर हिमखंड गिरने से मार्ग बंद पड़ा है। लोगों को हरछू तक पैदल आवाजाही करनी पड़ रही है। 


रात होने से पहले ही बनाना पड़ता है खाना
- पुन्नू देवी ने बताया कि बिजली न होने से उन्हें घर के काम करने में परेशानी हो रही है। अंधेरा होने से पहले ही रात का खाना पकाना पड़ता है। 
- विद्या देवी ने कहा कि एक माह से बिजली बंद है। मोबाइल तक चार्ज करने के लिए दूसरे गांव जाना पड़ रहा है। पैसे खर्च कर भी उन्हें बिजली सप्लाई नहीं मिल रही है। 
- जोगिंदर सिंह ने कहा कि लाइन को सुचारु करने के लिए कई बार बोर्ड के कर्मचारियों को कहा गया लेकिन, लाइन सुचारु नहीं हो पाई। जल्द बिजली बहाल नहीं हुई तो सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत करेंगे। 
- संदीप कुमार ने कहा कि एक माह से अधिक समय बीतने पर भी बिजली सुचारु न करवा पाना बोर्ड की नाकामी को दर्शाता है। 
- कमला देवी ने कहा कि उनके बिजली उपकरण बिजली न होने से शोपीस बन गए हैं। बिजली बंद हुए लंबा समय हो गया है, लेकिन अभी व्यवस्था सुचारु नहीं हुई है। 
- सचिन कुमार ने कहा कि बिजली न होने से अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए दूसरे गांव में जाकर मोबाइल चार्ज कर लाने पड़ते हैं। रात को बच्चे दीये के सहारे पढ़ाई करने के लिए मजबूर हैं। 

विद्युत बोर्ड के सहायक अभियंता विक्रम शर्मा ने कहा कि पलानी में ट्रांसफार्मर खराब होने से समस्या हुई है। मार्ग बंद होने से ट्रांसफार्मर ले जाने में परेशानी हो रही है। बड़ग्राम के खनबग्गा से ट्रांसफार्मर लाकर बिजली बहाल कर दी जाएगी। एसडीएम भरमौर मनीष सोनी ने बताया कि बिजली आपूर्ति बहाल करने के लिए बोर्ड अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00