लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   himachal election results 2022 priyanka gandhi vadra strategy for himachal pradesh

Himachal Election Result: प्रियंका की रणनीति आई काम, कांग्रेस में नए उत्साह का संचार

अमर उजाला ब्यूरो, शिमला Published by: अरविन्द ठाकुर Updated Thu, 08 Dec 2022 10:09 PM IST
सार

उत्तर प्रदेश के चुनावों के तुरंत बाद प्रियंका गांधी ने हिमाचल चुनावों की जिम्मेदारी अनौपचारिक रूप से संभाल ली थी। हिमाचल प्रदेश के प्रभारी राजीव शुक्ला की मदद के लिए उन्होंने अपने महत्वपूर्ण सहयोगी राष्ट्रीय सचिवों को हिमाचल भेजा था।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी।
कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

राहुल गांधी के भारत जोड़ो यात्रा में व्यस्त रहने के बावजूद प्रियंका गांधी ने हिमाचल चुनाव पर अपना पूरा फोकस रखा। इस दौरान वह शिमला में अपने घर पर ही रहीं। उन्होंने प्रदेश में पांच रैलियां कीं। इस रणनीति में उनके सहयोगी रहे प्रदेश के प्रभारी राजीव शुक्ला व चुनाव प्रभारी तथा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी उनके सारथी बने। वहीं, काफी समय बाद किसी राज्य में जीत हासिल करने के बाद कांग्रेस में नए उत्साह का संचार हो गया है। इसे आगामी चुनावों में कांग्रेस बनाए रखना चाहती है। यह राज्य छोटा जरूर है लेकिन कांग्रेस इसे इस नजरिए से महत्वपूर्ण मान रही है कि नड्डा, अनुराग यहीं से आते हैं। पीएम मोदी भी इसे अपना दूसरा घर बताते हैं। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार इस जीत की रणनीति व नेताओं का इस्तेमाल पार्टी आगामी चुनावों में भी करेगी।


उत्तर प्रदेश के चुनावों के तुरंत बाद प्रियंका गांधी ने हिमाचल चुनावों की जिम्मेदारी अनौपचारिक रूप से संभाल ली थी। हिमाचल प्रदेश के प्रभारी राजीव शुक्ला की मदद के लिए उन्होंने अपने महत्वपूर्ण सहयोगी राष्ट्रीय सचिवों को हिमाचल भेजा था। इन सचिवों ने जिलों का दौरे कर प्रियंका गांधी को रिपोर्ट सौंपी थी। उसी हिसाब से हिमाचल चुनाव की रणनीति बनी थी। प्रियंका गांधी ने एक व्यापक सर्वे के जरिये हिमाचल की जनता की थाह ली। मुख्य मुद्दों की पहचान करते हुए एक सधे हुए चुनाव अभियान की शुरुआत करवाई। उन्होंने आंतरिक चर्चाओं में मूल रूप से युवाओं, महिलाओं व हिमाचल के कर्मचारियों पर केंद्रित अभियान चलाने की बात की। 

प्रियंका गांधी की रणनीति पर आगे बढ़ते हुए हिमाचल कांग्रेस ने पुरानी पेंशन बहाली, हर घर लक्ष्मी और युवाओं के लिए रोजगार जैसे लोकप्रिय अभियान चलाए। इन अभियानों के गति पकड़ते ही कांग्रेस हिमाचल में भाजपा के खिलाफ मुकाबले में आ गई। जब भाजपा ने राज नहीं, रिवाज बदलने का नारा देकर पांच साल बाद सरकार बदलने की परंपरा को चुनौती दी तो उस समय कांग्रेस पार्टी ने सूझबूझ से रिवाज जारी होने और कांग्रेस की सरकार बनने का नारा दिया। प्रियंका गांधी ने अपनी सोलन रैली की शुरुआत में हिमाचल निर्माण और इंदिरा गांधी के हिमाचल के रिश्ते से की। उन्होंने लगभग हर संसदीय क्षेत्र में रैली कर हिमाचल की अधिकतम विधानसभाओं को कवर किया।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00