लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   Shimla ›   CM Virbhadra Singh Statement on Kotkhai gangrape and murder case.

सीएम वीरभद्र बोले- मेरी भी चार बेटियां हैं, समझता हूं गुड़िया के माता-पिता की पीड़ा

ब्यूरो/अमर उजाला, शिमला Updated Wed, 26 Jul 2017 12:47 PM IST
CM Virbhadra Singh Statement on Kotkhai gangrape and murder case.
विज्ञापन
ख़बर सुनें

गुड़िया प्रकरण से सियासी और सोशल मीडिया के फ्रंट पर घिरे मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने मामले से जुड़े सवालों पर अपनी स्थिति साफ की है। मुख्यमंत्री ने उनके फेसबुक पेज पर डली पोस्ट को गलत माना जबकि भाजपा और माकपा पर संवेदनशील मामले में सियासत करने का आरोप जड़ा है।



उन्होंने कहा कि आंदोलन करना जायज है, लेकिन उसके नाम पर शांति भंग करना सही नहीं। उन्होंने बढ़ते विवाद के बीच पीड़ित परिवार को लेकर भावुक बयान भी दिया कि उनकी भी चार बेटियां हैं।


गुड़िया के माता पिता का दर्द समझ सकता हूं वह कि आज किस पीड़ा से गुजर रहे हैं। दिल्ली से जारी बयान में मुख्यमंत्री ने कहा कि मामला गंभीर है और इसके जो भी दोषी है वह बख्शे नहीं जाएंगे। उन्होंने खुद जांच के लिए सीबीआई को पत्र लिखा था।

प्रधानमंत्री से निवेदन करने के साथ गृहमंत्री से भी बात की। वे चाहते हैं कि मामले की निष्पक्ष जांच हो और आरोपी पकड़े जाएं ताकि उन्हें सजा मिल सके। यह जांच एजेंसी पता लगाएगी कि हत्या क्यों हुई और किन कारणों से हुई।

सीएम बोले मेरे बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया

मुख्यमंत्री ने अपने आपराधिक घटनाओं को लेकर दिए बयान पर कहा कि उसे तोड़मरोड़ कर पेश किया गया। उन्होंने सिर्फ यह कहा कि आपराधिक घटनाएं होती हैं। हमारी कोशिश रहती है कि कानून के तहत तुरंत ऐसी घटनाओं पर कार्रवाई हो।

भाजपा और माकपा ने मामले को सियासी रंग दिया। उन्होंने कहा कि सियासी दलों से अपील करता हूं कि ऐसे संगीन मामलों को गलत तरीके से न उठाएं। ग्रामीण क्षेत्रों में भाजपा और सीपीएम का बेस नहीं है।

उनका प्रयास था कि इस घटना से कानून व्यवस्था का मुद्दा बनाया जाए। आंदोलन करना जायज है, लेकिन शांति भंग करना सही नहीं। सोशल मीडिया में तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया।

गौरतलब है कि सीएम का यह बयान तब आया है जब प्रदेश भर में गुड़िया केस को लेकर सरकार और पुलिस विपक्षी दलों के साथ.साथ जनता के निशाने पर हैं। घटना सामने आने के बाद हम हर स्तर पर दोषियों को जेल की सलाखें के पीछे लाने का प्रयास कर रहे थे।

मुख्यमंत्री के फेसबुक अकाउंट पर कथित आरोपियों के फोटो अपलोड होने पर सीएम ने कहा कि मैं निजी अकाउंट को नहीं चलता हूं। कुछ लोग इसे चलाते हैं, जिन्होंने कुछ सेकेंड के लिए फोटो डाले फिर हटा दिये। हकीकत में उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था। 

सबूत जुटाने दिल्ली से शिमला पहुंची विशेष फोरेंसिक टीम

गुडि़या प्रकरण और पुलिस लॉकअप में मारे गए एक आरोपी से जुड़े साक्ष्य जुटाने सीबीआई की फोरेंसिक टीम शिमला पहुंच गई है। दिल्ली से आई टीम मंगलवार को आरोपी सूरज के शव का परीक्षण करेगी।

जिस पिकअप में गुडि़या को लिफ्ट दी गई उसके अलावा क्राइम सीन और उसके आसपास के क्षेत्र का भी टीम परीक्षण करेगी। वहीं, सोमवार दोपहर को सीबीआई की एक टीम हलाइला व कोटखाई में मौका मुआयना करने के लिए रवाना हो गई।

सूत्रों का कहना है कि टीम पुलिस की थ्योरी को री चेक करने के बाद नए सिरे से काम शुरू करेगी। गुडि़या व सूरज हत्याकांड की जांच करने के लिए रविवार को शिमला सीबीआई की टीम के पहुंचने के बाद सोमवार को उसकी फोरेंसिक एक्सपर्टों की टीम भी शिमला पहुंच गई।

मंगलवार को आरोपी मृतक सूरज के शव का परीक्षण होते ही शिमला पुलिस परिजनों को शव सौंप देगी। दरअसल, 19 जुलाई को कोटखाई थाने में पूछताछ के दौरान नेपाली मूल के एक आरोपी सूरज की मौत हो गई।

सीबीआई ने यहां से शुरू की जांच

पुलिस का कहना था कि आरोपी राजू ने सूरज की लॉकअप के अंदर पीट पीटकर हत्या कर दी। इस घटना के बाद ही हाईकोर्ट ने सीबीआई को तत्काल केस अपने हाथ में लेकर जांच के निर्देश दिए थे।

केस की जांच के लिए सीबीआई के एसआईटी गठित करते ही सबसे पहले सूरज के शव को देखने की इच्छा जताई। चूंकि पोस्टमार्टम के बाद से पुलिस ने शव परिवार को नहीं दिया था, इसलिए परिजनों ने शव के लिए हंगामा शुरू कर दिया।

पुलिस ने सीबीआई से संपर्क किया तो उन्होंने एक्सपर्ट टीम से शव का परीक्षण कराने की बात कही, जिसके बाद से पुलिस और परिजन दोनों ही उस टीम का इंतजार कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि मंगलवार को टीम के सदस्य शव का परीक्षण कर लेंगे, जिसके बाद उसे परिजनों को सौंप दिया जाएगा। इसके बाद टीम क्राइम सीन व अन्य जगहों के लिए रवाना हो जाएगी।

सीबीआई की फोरेंसिक टीम आज पहुंचेगी आईजीएमसी

पुलिस हवालात में कत्ल हुए नेपाली सूरज का शव सोमवार को भी आईजीएमसी अस्पताल के शव गृह में पड़ा रहा। सीबीआई ने शव का निरीक्षण करना था लेकिन सीबीआई की फोरेंसिक टीम समय पर नहीं पहुंच पाई। टीम देर शाम शिमला पहुंची अब मंगलवार को शव का निरीक्षण करने के बाद शव सूरज के परिजनों के सपुर्द कर दिया जाएगा।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00