विज्ञापन

ट्रांसफर और जांच से डर रहे स्वयंभू कर्मचारी नेता: कर्मचारी महासंघ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हमीरपुर Updated Mon, 03 Dec 2018 04:33 PM IST
Tourist development corporation employees federation statement
ख़बर सुनें
प्रदेश पर्यटन विकास निगम कर्मचारी महासंघ (भामसं) के प्रदेशाध्यक्ष डाबेराम चौहान और महामंत्री मलकीयत सिंह पठानिया ने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार में किए घोटालों की जांच और तबादलों के डर से स्वयंभू कर्मचारी नेताओं में हड़कंप है। कहा कि काम के बजाय महज राजनीति चमकाने वाले स्वयंभू कर्मचारी नेताओं ने निगम को पांच सालों में करोड़ों के राजस्व का चूना लगाया है। इंटक से संबंधित ऐसे अधिकारी 20 से 30 वर्षों से शिमला में डटे हुए हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
वीरभद्र सरकार में ऐसे लोगों ने तीन से पांच वर्ष में नियमों के विपरीत दो-दो पदोन्नतियां हासिल की हैं। प्रदेश में भाजपा सरकार आने के बाद निगम में काम नहीं करने वाले ऐसे स्वयंभू नेताओं की नियमों के तहत तबादले की प्रक्रिया शुरू हुई तो उन्होंने दोगली नीति अपनाते हुए निगम के कर्मचारियों को गुमराह कर समानांतर महासंघ के चुनाव की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

कर्मचारी महासंघ के त्रैवार्षिक चुनाव वर्ष 2016 में ज्वालमुखी में भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश महामंत्री मंगतराम नेगी की अध्यक्षता में हो चुके हैं। इंटक से संबंधित ऐसे कर्मचारी नेता निगम के कर्मचारियों को डरा-धमका कर समानांतर गुट के चुनाव में भाग लेने के लिए बाध्य कर रहे हैं। पठानिया ने कहा कि अब समानांतर गुट तैयार किया तो वह पुलिस में मुकदमा दर्ज करवाएंगे। कहा कि कर्मचारियों की मुख्य मांगों 4-9-14 और 8 फीसदी आईआर समेत अन्य मांगों को बीओडी की बैठक में भेज चुके हैं। 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

सैकड़ों युवाओं ने दी इन्वेस्टिगेटर और असिस्टेंट केमिस्ट की परीक्षा

हिमाचल प्रदेश कर्मचारी आयोग हमीरपुर ने इन्वेस्टिगेटर और असिस्टेंट केमिस्ट के पदों को अनुबंध आधार पर भरने के लिए प्रदेश के चार जिलों के 26 परीक्षा केंद्रों में लिखित परीक्षा ली।

17 दिसंबर 2018

विज्ञापन

देख लीजिए, ATM में ऐसे होती है लूट

अगर आप भी पैसे निकालने के लिए रोजाना अपने डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो कुछ सावधानियां जरूर बरतें। यदि आप एहतियात बरतते हैं तो आपका पैसा सुरक्षित रहेगा।

17 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree