विज्ञापन

ग्रीष्मकालीन स्कूलों में सर्दियों की छुट्टियां बदलने की मांग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Updated Mon, 03 Dec 2018 04:19 PM IST
teacher union demands change in winter holidays of Summer schools in himachal
ख़बर सुनें
सीएंडवी अध्यापक संघ ने उच्च शिक्षा निदेशक से ग्रीष्मकालीन स्कूलों में सर्दियों के दौरान दी जाने वाली छुट्टियों में बदलाव करने की मांग की है। शिक्षा निदेशालय को भेजे सुझाव में संघ के प्रदेश अध्यक्ष चमन लाल शर्मा ने कहा है कि छह जनवरी से 16 जनवरी तक दिए जाने वाले शीतकालीन अवकाश को एक अप्रैल से 10 अप्रैल तक दिया जाना चाहिए। जनवरी में पढ़ाई का दौर चरमसीमा पर होता है, अगर जनवरी में छुट्टियां होती हैं तो मार्च महीने में वार्षिक परीक्षा
विज्ञापन
विज्ञापन
होने के कारण बच्चों की पढ़ाई करने की रफ्तार में रुकावट आ जाती है। ऐसे में इन छुट्टियों में बदलाव करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अप्रैल में बच्चों की सुविधा के मद्देनजर कॉपियां, बैग तथा अन्य सामान खरीदने को 10 दिन का अवकाश अनिवार्य है। संघ ने ग्रीष्मकालीन अवकाश जो 26 जून से 31 जुलाई तक होता है, उसके स्थान पर प्रतिवर्ष 15 जुलाई से 31 अगस्त तक छुट्टियां देने की सिफारिश की है। संघ का मानना है कि जुलाई और अगस्त में अधिक

बरसात होती है। बच्चों की सुरक्षा के मद्देनजर ग्रीष्मकालीन अवकाश 15 जुलाई से 31 अगस्त तक किया जाना चाहिए। त्योहारों के अवकाश को यथावत रखने की संघ ने मांग की है। इसके अलावा स्कूलों की समय सारिणी को सर्दियों के मौसम में सुबह 9 बजे से 3 बजे का समय ही उचित बताया है। उन्होंने कहा कि इसमें बदलाव की कोई आवश्यकता नहीं है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

सैकड़ों युवाओं ने दी इन्वेस्टिगेटर और असिस्टेंट केमिस्ट की परीक्षा

हिमाचल प्रदेश कर्मचारी आयोग हमीरपुर ने इन्वेस्टिगेटर और असिस्टेंट केमिस्ट के पदों को अनुबंध आधार पर भरने के लिए प्रदेश के चार जिलों के 26 परीक्षा केंद्रों में लिखित परीक्षा ली।

17 दिसंबर 2018

विज्ञापन

देख लीजिए, ATM में ऐसे होती है लूट

अगर आप भी पैसे निकालने के लिए रोजाना अपने डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो कुछ सावधानियां जरूर बरतें। यदि आप एहतियात बरतते हैं तो आपका पैसा सुरक्षित रहेगा।

17 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree