विज्ञापन

231 मेधावियों को गोल्ड मेडल, 169 लेंगे पीएचडी की उपाधि

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Updated Thu, 11 Oct 2018 02:01 PM IST
President Ram Nath Kovind Will Attend convocation ceremony in HPU Shimla on 30th October
विज्ञापन
ख़बर सुनें
प्रदेश विश्वविद्यालय के तीस अक्तूबर को होने वाले 24वें दीक्षांत समारोह में दो सत्र के 231 मेधावियों को गोल्ड मेडल और 169 मेधावियों को पीएचडी की उपाधि से नवाजा जाएगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद समारोह में मुख्यातिथि होंगे। 29 अक्तूबर को फुल ड्रेस रिहर्सल की जाएगी। इसमें गोल्ड मेडलिस्ट और पीएचडी छात्रों को अनिवार्य रूप से हिस्सा लेना होगा।
विज्ञापन
मुख्य समारोह में उन्हीं को प्रवेश मिलेगा, जो 29 अक्तूबर की रिहर्सल में हिस्सा लेंगे। कुलसचिव की ओर से जारी अधिसूचना में 24वें दीक्षांत समारोह में सम्मानित होने वाले छात्र-छात्राओं में शैक्षणिक सत्र 2015-16 के 113 यूजी, पीजी डिग्री कोर्स, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स के 113 को गोल्ड मेडल दिया जाएगा।

इनमें 18 इंस्टीट्यूशनल गोल्ड मेडल भी शामिल हैं। शैक्षणिक सत्र 2016-17 के 118 मेधावियों को यूजी-पीजी, डिप्लोमा-डिग्री कोर्स और सर्टिफिकेट, डिप्लोमा कोर्स के गोल्ड मेडल दिया जाएगा। छात्रों को 14 इंस्टीट्यूशनल गोल्ड मेडल दिए जाएंगे। शैक्षणिक सत्र 2016 के 169 मेधावियों को पीएचडी की उपाधि दी जानी है। 

वेबसाइट पर उपलब्ध होगी नामों की सूची 
समारोह में गोल्ड मेडल और पीएचडी की उपाधि से अलंकृत होने वाले छात्र-छात्राओं की सूची और ब्योरा वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगा। विवि सम्मान पाने वाले मेधावियों को पत्र भेजकर भी सूचित कर रहा है।

कार्यवाहक कुलसचिव और परीक्षा नियंत्रक डॉ. जेएस नेगी ने कहा कि सभी को 29 अक्तूबर की रिहर्सल में मौजूद रहना अनिवार्य है। इसी दिन मेधावियों को डिग्री के लिए रॉब्स तय शुल्क अदा करने पर दिए जाएंगे। वीवीआईपी सुरक्षा इंतजामों के मद्देनजर एंट्री पास दिए जाएंगे। 

इस बार भी नहीं बदल पाएगा दीक्षांत समारोह का परिधान 
24वें दीक्षांत समारोह में गोल्ड मेडल और पीएचडी डिग्री पाने वाले छात्रों का पुराना परिधान रहेगा। इसमें कोई बदलाव नहीं होगा। पूर्व में राज्यपाल ने उच्च शिक्षण संस्थानों के दीक्षांत समारोह में अंग्रेजों के परिधान रॉब्स में डिग्री नहीं दी जाएगी। इसके लिए विवि को अलग पहाड़ी लुक वाले परिधान तैयार करने की कवायद भी शुरू हुई थी, मगर वह डिजाइन अप्रूव होने के बाद तैयार नहीं हो पाई।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

हजारों ने दी जूनियर इंजीनियर, टीजीटी मेडिकल की परीक्षा

प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग ने जेई मेकेनिकल पोस्ट कोड-696 और टीजीटी मेडिकल पोस्ट कोड-653 की लिखित परीक्षा करवाई।

22 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

23 अक्टूबर News Update: जज की पत्नी के बाद बेटे की भी मौत साथ ही देशभर की बड़ी खबरें

जज की पत्नी के बाद बेटे की भी मौत, पेटीएम मामले में सेक्रेटरी गिरफ्तार साथ ही देशभर की बड़ी खबरें

23 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree