विज्ञापन

बिजली बोर्ड से छेड़छाड़ न करे सरकार, वरना करेंगे आंदोलन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, धर्मशाला Updated Thu, 06 Dec 2018 09:10 PM IST
फाइल फोटो
फाइल फोटो
ख़बर सुनें
राज्य विद्युत बोर्ड कर्मचारी यूनियन ने सरकार को चेतावनी दी है कि यदि बोर्ड के अस्तित्व से छेड़छाड़ की गई तो सरकार को आंदोलन का सामना करना होगा। यूनियन ने धर्मशाला में सम्मेलन का आयोजन कर इस बाबत चेताया है। सम्मेलन की अध्यक्षता यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह खरवाडा ने की।
विज्ञापन
विज्ञापन
खरवाडा ने कहा कि 1996 से लगातार बिजली क्षेत्र में बिजली सुधारों के नाम पर ही बिजली बोर्डों को विभाजित करके निगमीकरण, निजीकरण की नीति अपनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि आज देश में केवल दो ही बिजली बोर्ड काम कर रहे हैं। अब इन बोर्डों को फिर से तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि बिजली बोर्ड को स्थापित करने में हजारों कर्मचारियों ने अपनी जान जोखिम में डाली है। ऐसे में बोर्ड के स्वरूप से छेड़छाड़ को किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 18 हजार बिजली बोर्ड के कर्मचारियों को परेशान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिजली बोर्ड में आउटसोर्स पर काम कर रहे हजारों कर्मचारियों के नियमितीकरण को लेकर सरकार से नीति बनवाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि बिजली बोर्ड के प्रबंधन से 48 श्रेणियों के कर्मचारियों के वेतन की विसंगतियों को दूर करने के लिए 30 नवंबर 2013 को जारी आर्डर नंबर 10 तत्काल वापस लिया जाना

चाहिए। मागों की अनदेखी जारी रही तो 17 दिसंबर को ऊना में होने वाली यूनियन की केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सभी मुद्दों पर चर्चा करने के बाद आंदोलन की आगामी रणनीति तैयार की जाएगी। उन्होंने प्रदेश सरकार को चेताया है कि अगर सरकार उनकी मांगों व बोर्ड को बर्खास्त करने के निर्णय पर विचार नहीं करती है तो बिजली बोर्ड के 18 हजार कर्मचारी सड़कों पर उतरकर रोष प्रदर्शन करेंगे। इस मौके पर पवन कुमार, सुनीता कुमारी, मनोज सूद, संजीव कुमार, राजेंद्र कुमार, अश्वनी कुमार, यशपाल सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

हिमाचल में इस दिन से होगी जमा दो सहित 8वीं और 10वीं की बोर्ड परीक्षाएं

हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड ने मार्च 2019 में होनी वाली वार्षिक परीक्षा का तिथियां जारी कर दी हैं।

15 दिसंबर 2018

विज्ञापन

VIDEO: राफेल मामले में कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला तेज, सरकार का कोर्ट में यू-टर्न

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने राफेल पर फैसला सुनाया। जिसके बाद से बीजेपी जहां SC के फैसले को जीत के रूप में देख रही है वहीं कांग्रेस लगातार हमले कर रही है। कांग्रेस सरकार पर झूठ बोलने का आरोप लगया है।

15 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree