विज्ञापन

एनआरआई कोटे की एमबीबीएस सीटों में कटौती, इन अभ्यर्थियों को होगा लाभ

अमर उजाला ब्यूरो, शिमला Updated Wed, 13 Jun 2018 01:23 PM IST
Cut in NRI quota MBBS seats in Himachal
विज्ञापन
ख़बर सुनें
हिमाचल के मेडिकल कॉलेजों में एनआरआई कोटे की सीटों को कम कर दिया गया है। सरकार ने इन सीटों को 34 से घटाकर 20 कर दिया है। घटाई गईं सीटें अब सामान्य वर्ग से भरी जाएंगी। इसका प्रदेश के सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों को लाभ मिलेगा। ये अभ्यर्थी 35 से 40 लाख रुपये की जगह 2.60 लाख रुपये फीस देकर एमबीबीएस कर सकेंगे। एनआरआई के कोटे की सीटें पहले खाली रह जाती थीं।
विज्ञापन
नीट आधार पर एचपीयू की राज्य मेरिट में आने वाले अभ्यर्थी 2.60 लाख रुपये में एमबीबीएस कर सकेंगे। इसमें पहले सेमेस्टर में 60 हजार और अन्य पांच सेमेस्टर में 50 हजार प्रति सेमेस्टर के हिसाब से फीस चुकाएंगे। विवि के परीक्षा नियंत्रक डा. जेएस नेगी ने माना कि प्रदेश सरकार ने हिमाचल के छात्रों के हित में यह बड़ा फैसला लिया है। इससे पात्र अभ्यर्थियों को प्रवेश मिलने पर आर्थिक तौर पर भारी राहत मिलेगी।

सरकार के इस फैसले को लागू करने संबंधित शर्तें साइट पर उपलब्ध प्रोस्पेक्टस में साफ की गई हैं। स्वास्थ्य शिक्षा निदेशक डा. अशोक शर्मा ने भी इसकी पुष्टि की है। पिछले सत्र में सरकारी कॉलेजों में एनआरआई के लिए 15 फीसदी सीटें तय थीं, मगर इनमें से सिर्फ 27 ही सीटें भरी जा सकी थीं, शेष सीटें खाली रह गई थीं। एमबीबीएस के लिए तय किए एनआरआई कोटे में विदेश से जमा दो की परीक्षा और नीट परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थी ही पात्र होते हैं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

मेडिकल कॉलेजों में तय एनआरआई कोटे की सीटें

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Dehradun

बड़ी खबर: अब शिक्षकों को देनी होगी परीक्षा, शिक्षा महकमे ने लागू किया नया नियम

शिक्षा महकमे ने विद्यालयों में शैक्षिक गुणवत्ता के लिए प्राइमरी से लेकर इंटरमीडिएट कॉलेजों के शिक्षकों के लिए द टीचर एप लागू किया है।

13 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

टीवी पर वापसी से पहले बगलामुखी के दरबार पहुंचे कपिल शर्मा, फैंस की लगी भीड़

छोटे पर्दे पर अपनी दूसरी पारी की शुरुआत करने से पहले कॉमेडियन कपिल शर्मा बगलामुखी मंदिर पहुंचे। यहां पर उन्होंने पूजा-अर्चना की और मां बगलामुखी का आशीर्वाद लिया।

15 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree