सब्सिडी ने बांट दिया सास-बहू का चूल्हा-चौका

Shimla Updated Tue, 04 Dec 2012 05:30 AM IST
शिमला। गैस सब्सिडी ने कई घरों के चूल्हों को बांट दिया है। दस्तावेजों में ही सही पर कहीं बहू-बेटा अलग हो गए तो कहीं भाई भाई से जुदा हो गया। नगर निगम में बनने वाले नए राशन कार्ड गवाह हैं कि बीते जनवरी से अगस्त तक करीब 400 राशन कार्ड बने जबकि सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या तय होते ही सितंबर से लेकर नवंबर तक महज तीन महीनों में 391 नए राशन कार्ड बन गए।
जाहिर है कि डबल गैस कनेक्शन बचाने और सब्सिडी की चाहत में रातों रात कागजों में घरों के बीच दीवारें खींचने लगी हैं। एक पते पर दो या दो से अधिक कनेक्शन वालों को सब्सिडी बचानी है तो उन्हें हलफनामा देना होगा कि कनेक्शन एक ही पते पर हैं लेकिन उनका चूल्हा चौका अलग-अलग है।
गैस एजेंसियों में धड़ाधड़ केवाईसी फार्म जमा हो रहे हैं। बावजूद कई उपभोक्ताओं के लिए अभी भी केवाईसी फार्म जमा करने में पसीने छूट रहे हैं। इनके पास राशन कार्ड नहीं हैं। ऐसे में वह अपने पते को प्रमाणित करने को लेकर परेशान हैं। उधर जिनके घरों में दो से अधिक कनेक्शन हैं, वह कागजों में ही घरों का बंटवारा कर अपना गैस सिलेंडर व सब्सिडी बचाने के लिए हथकंडे अपना रहे हैं।
-------------------
अकेली रहती हैं अस्सी वर्षीय मां
नगर निगम में एक उपभोक्ता ने पुराने कार्ड से अपना नाम कटवा लिया है। तर्क दिया है कि उनकी 80 वर्षीय मां अकेले रहती हैं जबकि वे स्वयं परिवार सहित शिमला में ही अलग जगह पर रहते हैं। ऐसे में उसका राशन कार्ड अलग होना चाहिए। ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनकी पड़ताल पर मालूम होता है कि सिर्फ गैस सिलेंडरों की सब्सिडी की चाहत के चलते नया राशन कार्ड बनवाने को राजधानी के लोग अधिमान दे रहे हैं।

परिवार में एक ही कनेक्शन होगा वैध
एक ही परिवार में माता पिता या अन्य सदस्यों के नाम से कनेक्शन हैं और ये लोग संयुक्त रूप से रहते हैं तो इनमें से एक छोड़ बाकी सभी कनेक्शन का कटना तय है। यदि इन कनेक्शनों को बचाना है तो सभी का चूल्हा चौका अलग करना होगा। सब्सिडी की घोषणा के बाद तेल कंपनियों ने एक परिवार में एक ही गैस कनेक्शन देने मंजूरी दी है जिसके लिए केवाईसी फार्म भरवाए जा रहे हैं।

किरायेदारी के लिए देना होगा प्रमाण
जो रसोई गैस उपभोक्ता किराये के भवन में रह रहे हैं, उन्हें किरायेदारी का प्रमाण पत्र जमा करना होगा जो उनके निवास की पुष्टि करेगा। तभी एक पते पर अलग-अलग गैस कनेक्शन चालू रहेगा।

नए नियम में कनेक्शन ट्रांसफर की छूट
यदि एक ही नाम पते से उपभोक्ता ने दो कनेक्शन लिए हैं तो उसे अपने परिवार के किसी सदस्य के नाम स्थानांतरित कर अपना कनेक्शन बचा सकता है। लेकिन शर्त यह है कि उस व्यक्ति का चूल्हा चौका अलग हो। उसका अलग राशन कार्ड या निवास को प्रमाणित करने के लिए कोई अन्य कागजात होना जरूरी है।

सिविल सप्लाई में हो रहा एडिशन, डिलीशन
खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के पास शहर के राशन कार्डों से नाम कटवाने और नया नाम एंटर करने का काम होता है। विगत सितंबर से नवंबर के दौरान राजधानी के करीब एक हजार लोगों ने विभाग में आकर शहर के राशन कार्डों से अपने नाम कटवाए हैं और एंटर करवाए हैं। जिन लोगों ने यहां से नाम कटवाए हैं। जाहिर है अपने पैतृक क्षेत्रों या शहर में ही किसी नए स्थान पर रहने का प्रमाण देकर नए राशन कार्ड बनवाए होंगे।

तीन माह में 12 हजार नए कनेक्शन
इंडियन आयल कारपोरेशन से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक सितंबर और अक्तूबर माह में प्रदेश में 7042 नए गैस कनेक्शन जारी किए गए हैं। नवंबर माह के आंकड़ों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मोटे तौर पर करीब पांच हजार कनेक्शन नवंबर में जारी किए गए हैं। उधर, जनवरी से लेकर अगस्त तक आठ माह के दौरान प्रदेश में 30 हजार कनेक्शन जारी किए गए। आंकड़ों पर गौर किया जाए तो आठ माह में जहां 30 हजार कनेक्शन जारी हुए, वहीं सितंबर से नवंबर तक तीन माह में यह आंकड़ा 12 हजार नए कनेक्शनों को पार कर गया है। आईओसी के प्रबंधक रजत घरसंगी ने इसकी जानकारी दी है।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

हरियाणाः यमुनानगर में 12वीं के छात्र ने लेडी प्रिंसिपल को मारी तीन गोलियां, मौत

हरियाणा के यमुनानगर में आज स्कूल में घुसकर प्रिंसिपल की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामले में 12वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

एक्स कपल्स जिनके अलग होने से टूटे थे फैन्स के दिल, किसे फिर एक साथ देखना चाहते हैं आप ?

बॉलीवुड के एक्स कपल्स जो एक साथ बेहद क्यूट और अच्छे लगते थे।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper