एक हफ्ता शहर में पानी की राशनिंग

Shimla Updated Wed, 15 Aug 2012 12:00 PM IST
शिमला। नगर निगम ने एक सप्ताह तक शहर में पानी की राशनिंग कर दी है। पेयजल संकट का दोष आईपीएच पर थोपते हुए एमसी अब एक दिन छोड़कर पानी की सप्लाई देगा। जलापूर्ति सामान्य रखने में नाकाम साबित हो रहे नगर निगम प्रशासन ने शहर के लोगों से पानी की बचत करने की भी मांग की है।
निगम आयुक्त डा. एमपी सूद का कहना है कि शहर में सामान्य जलापूर्ति बनाए रखने के लिए 35 से 37 एमएलडी पानी की आवश्यकता रहती है। लेकिन गत दिनों से भारी बरसात होने से एमसी को आईपीएच से पर्याप्त सप्लाई नहीं दी जा रही है। 11 अगस्त से पानी की सप्लाई 22 से 30 एमएलडी के बीच रह गई है। परिणामस्वरूप एमसी के जल भंडारण टैंकों का जलस्तर सामान्य से नीचे चला गया है। इस कारण एमसी को शहर में जलापूर्ति को सामान्य बनाए रखने में बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। आयुक्त का कहना है कि आने वाले एक सप्ताह तक इसी प्रकार से वर्षा के जारी रहने का अनुमान है जिससे उचित मात्रा में जलापूर्ति प्राप्त होने में बाधा आ सकती है। आयुक्त ने शहर के लोगों से अपील की है कि पानी को किफायत से प्रयोग करें।
उधर, पानी की राशनिंग शुरू होने के चलते मंगलवार को शहर में शाम की सप्लाई प्रभावित हुई है। इस कारण चौड़ा मैदान जोन के तहत टुटीकंडी, पांजडी, घोड़ा चौकी, बालूगंज, समरहिल, टुटू, बैरियर और चौड़ा मैदान क्षेत्र में पानी की सप्लाई नहीं हुई है।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

हरियाणाः यमुनानगर में 12वीं के छात्र ने लेडी प्रिंसिपल को मारी तीन गोलियां, मौत

हरियाणा के यमुनानगर में आज स्कूल में घुसकर प्रिंसिपल की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामले में 12वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

एक्स कपल्स जिनके अलग होने से टूटे थे फैन्स के दिल, किसे फिर एक साथ देखना चाहते हैं आप ?

बॉलीवुड के एक्स कपल्स जो एक साथ बेहद क्यूट और अच्छे लगते थे।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper