विज्ञापन
विज्ञापन

फ्रेंडशिप डे के लिए युवा तैयार, सज गए बाजार

Shimla Updated Mon, 30 Jul 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
शिमला। दोस्ती एक सुहाना अहसास है। जो संसार के हर रिश्ते से अलग है। तमाम मौजूदा रिश्तों के जंजाल में यह मीठा रिश्ता एक ऐसा सत्य है जिसकी व्याख्या होना अभी भी बाकी है। व्याख्या का आकार बड़ा होता है। लेकिन गहराई के मामले में वह अनुभूति की बराबरी नहीं कर सकती। इसीलिए दोस्ती की कोई एक परिभाषा आजतक नहीं बन सकी। ऐसे ही खास दोस्त को अपनी भावनाओं का अहसास दिलाने का दिन है फ्रेंडशिप डे। अगस्त के पहले रविवार को मनाए जाने वाले इस विशेष दिन के लिए युवाओं ने भी अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। शहर की प्रमुख से लेकर छोटी से बड़ी गिफ्ट शाप पर उपहार, बैंड्स और कार्ड्स सज गए हैं। बड़ी संख्या में युवा अपने दोस्तों के लिए उपहार खरीदते नजर आ रहे हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
-----------
ग्रीटिंग्स की ब्यूटी बरकरार
भले की इंटरनेट आ गया हो मेल का फैशन बढ़ गया हो लेकिन अभी भी कार्ड्स का अपना ही अनूठा महत्व है। फ्रेंडशिप डे पर कार्ड्स से बाजार सज गए हैं। संजौली कालेज के स्टूडेंट क्षितिज और मनोज अपने खास दोस्तों को कार्ड ही देने वाले हैं। उनका मानना है कि कार्ड में आप अपनी दिल की सारी बातों को कह सकते हो।
---------------
ई कार्ड का है जमाना
संजौली कालेज के मयंक और नेहा ई कार्ड भेजेंगे अपने दोस्तों को। इसके लिए नेट पर उनकी सर्चिंग शुरू हो गई है और अच्छे कार्ड्स को ये लोग सेव करके रखते जा रहे हैं। कुल मिलाकर हर तरफ फ्रेेंडशिप डे मनाने की तैयारियां जोरों से चल रही हैं। आखिर दोस्त की खुशी का सवाल है।
-------------
आरकुट और फेसबुक जिंदाबाद
वे खुशनसीब होते हैं जिनके दोस्त उनके साथ रहते हैं लेकिन हर कोई ऐसा नहीं होता। कोई जॉब के लिए तो कोई शादी करके विदेशों तक में बस गए हैं। ऐसे दोस्तों को याद करने के लिए और उन तक अपने दिल की बात पहुंचाने के लिए ही आजकल आरकुट और फेसबुक पर संदेश भेजना पसंद किया जा रहा है। सेंट बीड्स की सोनिका बताती हैं कि इसके साथ ही मेल और मोबाइल मैसेज भी फ्रेंडशिप डे का संदेश भेजने के लिए प्रयोग किए जा रहे हैं। इसके लिए हम लोग अभी से अच्छे-अच्छे मैसेज तैयार कर रहे हैं और ढूंढ रहे हैं।
-------------
बस भा जाए उपहार
किसी के लिए कुछ खरीदने के लिए कई दिन पहले से रुपये जोड़ना और फिर बड़े प्यार से खरीदकर अपने को देना। इस अहसास को सिर्फ समझा जा सकता है। कुछ ऐसे ही अनमोल एहसासों को सहेजने का प्रयास कर रही हैं टुटू की प्रियंका और कनिका। इन दोनों ने एक महीने पहले से ही फ्रेंडशिप डे के लिए रुपये जोड़ने शुरू कर दिए थे। अब फ्रेंडशिप डे पर इन रुपयों से ये कुछ उपहार खरीदकर अपने दोस्तों को देने वाली हैं। इनकी कोशिश है कि बस उपहार दोस्त को भा जाए। हम लोगों के लिए इससे बड़ी कोई खुशी नहीं।
-----------
उपहार ही नहीं पैकिंग भी हो खास
लोअर बाजार के दुकानदार राजकुमार अग्रवाल और नितिन शर्मा का मानना है कि आजकल समय बहुत बदल गया है। आप अपनी चीज को कितने अच्छे से प्रेजेंट करते हो यह मायने रखता है। ऐसा ही उपहारों के साथ भी हो गया है। भले ही लाख कीमती और अच्छी गिफ्ट हो लेकिन यदि उसकी पैकिंग अच्छी नहीं हुई तो न देने वाले को मजा आता है और न लेने वाले को। इसलिए हम गिफ्ट की खरीददारी करने वालों को पैकिंग भी कुछ अलग हटकर कर रहे हैं।
-----------
बचपन की दोस्ती बड़ी एडवेंचर्स
एडवोकेट सुमित शर्मा कहते हैं कि बचपन की दोस्ती में जो बात होती है वह बाद की दोस्ती में नहीं आ सकती। बाद में जो संबंध बनते हैं वे हिसाब-किताब से बनते हैं। कई बार जांच परखकर और कई बार स्वार्थ पूर्ति के लिए। बचपन की दोस्ती बड़ी एडवेंचर्स होती है।
खलीणी में रहने वाले अजित ठाकुर का कहना है कि दोस्ती से मतलब यह कहीं नहीं निकलता कि सालों पहले की गई दोस्ती ही फ्रेंडशिप कहलाती है। ऐसा नहीं है दोस्ती वह हो जो चाहे एक दिन पहले एक साल पहले या कई वर्षों पहले की हो। दोस्ती वह है जिसमें आप अपने दोस्तों के प्रति पूरी तरह समर्पित हों। यह बात सिर्फ किसी भी सहायता के लिए नहीं है।
विक्ट्री टनल निवासी दीपक ठाकुर का कहना है कि दोस्ती करते और निभाते समय दिल में अहंकार, ईर्ष्या और बदले की भावना कभी भी लेकर दोस्त नहीं बनाने चाहिए। ऐसी दोस्ती बनाने पर आपके मन का अहंकार समय आने पर उस दोस्त से बदला लेने पर उतारू हो जाएगा। और जब मन अहंकार, ईर्ष्या तले जलने लगेगा तब दोस्ती दोस्ती न रहकर एक मजाक बन जाएगी।

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

विवाह में आ रहीं अड़चनों और बाधाओं को दूर करने का पाएं समाधान विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
ज्योतिष समाधान

विवाह में आ रहीं अड़चनों और बाधाओं को दूर करने का पाएं समाधान विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रयागराज में EVM बदले जाने की खबर ने दौड़ा दिया इन सियासी पार्टियों के लोगों को

प्रयागराज के मुंडेरा मंडी में EVM बदले जाने की सूचना पर पहुंचे प्रत्याशी और उनके समर्थक। देर रात तक मतगणना स्थल पर देते रहे पहरा ।

22 मई 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election