लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Rajasthan ›   JP Nadda in jaipur BJP Jan Aakrosh Yatra in Rajasthan

Rajasthan: नड्डा बोले- कांग्रेस सरकार को हटाना जरूरी, आज से जन आक्रोश यात्रा की शुरुआत, जानें क्या है खास?

न्यूूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर Published by: उदित दीक्षित Updated Thu, 01 Dec 2022 04:35 PM IST
सार

जेपी नड्डा ने कहा कि अगर कोई नेता भामाशाह स्वास्थ्य योजना का नाम बदलकर चिरंजीवी योजना कर दे तो इसको किताब बदलना नहीं जिल्द बदलना कहते हैं। अन्नपूर्णा योजना को बदल कर इंदिरा रसोई जब तक नहीं किया तब तक इनको (कांग्रेस सरकार) चैन नहीं मिला।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सभा को संबोधित किया।
भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सभा को संबोधित किया। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा गुरुवार को जयपुर दौरे पर आए हैं। वे यहां  51 रथों को रवाना कर कांग्रेस सरकार के खिलाफ जन आक्रोश यात्रा की शुरूआत करेंगे। इससे पहले जेपी नड्डा ने आदर्श नगर के दशहरा मैदान में एक सभा को भी संबोधित किया। उन्होंने कहा- जन आक्रोश यात्रा के तहत 2 करोड़ लोगों से संपर्क किया जाएगा और भाजपा की नीतियों को उन तक पहुंचाया जाएगा। मैं इस यात्रा के लिए राजस्थान भाजपा की पूरी टीम को हार्दिक बधाई देता हूं।



नड्डा ने कहा- राजस्थान की भूमि त्याग और तपस्या, शौर्य और बलिदान के लिए पहचानी जाने वाली भूमि है। मैं इस भूमि को नमन करता हूं और आशा करता हूं कि जन आक्रोश यात्रा को राजस्थान की जनता का पूरा समर्थन मिलेगा।


जेपी नड्डा ने कहा कि अगर कोई नेता भामाशाह स्वास्थ्य योजना का नाम बदलकर चिरंजीवी योजना कर दे तो इसको किताब बदलना नहीं जिल्द बदलना कहते हैं। अन्नपूर्णा योजना को बदल कर इंदिरा रसोई जब तक नहीं किया तब तक इनको (कांग्रेस सरकार) चैन नहीं मिला। अगर, आप चाहते हो कि आपकी बहनें सुरक्षित रहें, प्रदेश में रोजगार के अवसर बनें। आप चाहते हैं कि राजस्थान में भी पेट्रोल-डीजल के दाम घटें, बिजली के दाम में कटौती हो तो इस सरकार को गद्दी से हटाना ही होगा। जेपी नड्डा ने कहा कि कांग्रेस सरकार बनने के बाद राजस्थान में सांप्रदायिक तनाव भी बढ़ा है। इसलिए इस सरकार को हटाना जरूरी है। 

भाजपा अध्यक्ष नड्डा बोले- कोरोना के बाद से चीन लड़खड़ा रहा है, अमेरिका ठीक से खड़ा नहीं हो पा रहा है, यूरोप की हालत भी सही नहीं है। ऐसे हालातों में भी भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ रही है। भारत आज विकास की नई छलांग लगा रहा है और राजस्थान के विकास में भी केंद्र सरकार ने कोई कसर नहीं छोड़ी है। जबकि अशोक गहलोत सरकार ने राजस्थान का विकास ना हो, इसमें कोई कसर नहीं छोड़ी है। कांग्रेस जनता की आंखों में धूल झोंकने का काम करती है।

भाजपा की जन आक्रोश यात्रा शुरू 
जेपी नड्डा आज से राजस्थान में भाजपा जन आक्रोश यात्रा की शुरुआत करेंगे। इस दौरान वे 51 जन आक्रोश रथों को रवाना करेंगे। नड्डा जिन रथों को झण्डी दिखाएंगे, वे सभी उत्तरप्रदेश से यहां लाए गए हैं। इस यात्रा की शुरुआत से माना जाना लगा है कि भाजपा ने 2023 के विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी शुरू कर दी है। भाजपा का प्रयास है कि यात्रा के जरिए दो करोड़ लोगों से जनसंपर्क किया जाए। एक दिसंबर से शुरू हुई भाजपा की जन आक्रोश यात्रा 14 दिसंबर तक चलेगी। यात्रा के करीब 75 हजार किलोमीटर के सफर के दौरान 20 हजार चौपाल और 20 हजार नुक्कड़ सभाएं भी आयोजित की जाएंगी।  

रथ कहां से आए और क्या है खास?   
  • भाजपा ने महिंद्रा बोलेरो पिकअप गाड़ियों को जन आक्रोश यात्रा के लिए रथ का रूप दिलवाया है। 
  • ये सभी रथ उत्तरप्रदेश में रजिस्टर्ड नंबर के हैं। इन्हें वहां से जयपुर लगाया गया है। 
  • सभी रथ का भगवा रंग में रंगे हुए हैं। इन पर पीएम नरेंद्र मोदी, जेपी नड्डा, वसुंधरा राजे, गुलाबचन्द कटारिया और सतीश पूनिया की तस्वीर का बैनर भी लगाया गया है।
  • रथ पर जन आक्रोश यात्रा का लोगो लगा है और प्रदेश की सरकार के जंगलराज, भ्रष्टाचार, कुशासन के खिलाफ जन आक्रोश यात्रा भी लिखा हुआ है।
  • रथ पर 8140200200 मिस्ड कॉल नंबर डिस्प्ले किया है। साथ ही एलईडी लाइट भी लगी हुई, जिसकी रोशनी में नुक्कड़ सभा और चौपालें हो सकती हैं।  
  • दो स्पीकर और माइक का सिस्टम भी लगा हुआ है जिससे लोगों को संबोधित किया जा सकता है।
  • रथ में सवार कार्यकर्ताओं के लिए मोबाइल चार्जिंग, पानी और सोने सहित अन्य व्यवस्थाएं भी की गईं हैं।
  • सबसे खास बात यह है कि रथ पर एक शिकायत पेटी भी रहेगी। जिसमें लोग अपी शिकायत या सुझाव लिखकर डाल सकते हैं। बाद में इन समस्याओं और सुझावों को अलग-अलग किया जाएगा। कॉमन समस्याओं को चुनावी घोषणा पत्र में शामिल किया जाएगा।  

उत्तर प्रदेश से लाए गए हैं ये रथ।
उत्तर प्रदेश से लाए गए हैं ये रथ। - फोटो : सोशल मीडिया
जन आक्रोश यात्रा में 5 लाख कार्यकर्ता जुटेंगे, 2 करोड़ लोगों तक पहुंचेंगे
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने बताया कि जन आक्रोश यात्रा 1 से 14 दिसंबर तक प्रदेश में चलेगी। यह यात्रा प्रदेश के 200 विधानसभा क्षेत्र में जाएगी।  यात्रा में शामिल सभी 51 रथ गांव-गांव, गली-गली और डगर-डगर जाएंगे। इस दौरान 20 हजार चौपालें और 20 हजार नुक्कड़ सभाएं होंगी। प्रदेश के 8 करोड़ लोगों तक इस यात्रा का संदेश जाएगा और 2 करोड़ लोगों से हम सीधे जुड़ेंगे। इसके अलावा 14 से लेकर 20 दिसंबर तक प्रदेश के 200 विधानसभा क्षेत्रों में जनाक्रोश सभाओं का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा एक हजार महिला चौपाल, एक हजार युवा चौपाल और एससी, एसटी, ओबीसी के लिए भी 1-1 हजार चौपालें होंगी। जन आक्रोश यात्रा में भाजपा के 5 लाख कार्यकर्ताओं की सक्रिय भागीदारी रहेगी। 

भाजपा गहलोत-पायलट विवाद और तुष्टिकरण को बनाएगी मुद्दा 
गहलोत-पायलट विवाद को लेकर भाजपा शुरू से ही हमलावर रही है। अब चुनाव में भी भाजपा इसे मुद्दा बनाएगी। इसके अलावा प्रदेश में हुई हिंसा, हिंदुओं पर हमलों, मंदिरों में तोड़फोड़, धर्म परिवर्तन, तुष्टिकरण, महिला सुरक्षा और पेट्रोल-डीजल की कीमत पर भी भाजपा कांग्रेस को घेरेगी। इसके अलावा किसानों की संपूर्ण कर्जमाफी, दलितों पर अत्याचार सहित अन्य मुद्दे भी भाजपा जोर-शोर से उठाएगी।  
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00